Sunday, November 28, 2021

मुश्किल दौर में युजवेंद्र चहल, कोरोना के लिए परिवार पर आई मुसीबत

टीम इंडिया के स्पिनर युजवेंद्र चहल मुश्किल दौर से गुजर रहे हैं. उनके माता-पिता कोरोना वायरस से संक्रमित हैं. चहल के पिता को अस्पताल में भर्ती कराया गया है तो मां का इलाज घर पर ही चल रहा है. चहल के माता-पिता के कोरोना संक्रमित होने की जानकारी उनकी पत्नी धनश्री वर्मा ने दी. इससे पहले चहल की सास और उनके साले को भी कोरोना हो गया था. राहत की बात है कि दोनों ठीक हो चुके हैं. इसके अलावा धनश्री की आंटी की कोरोना वायरस से मौत हो चुकी है.

धनश्री ने इंस्टग्राम स्टोरी पर लिखा, ‘अप्रैल-मई का महीना मुश्किल और चुनौती भरा रहा है. पहले मेरी मां और भाई कोरोना से संक्रमित हुए. दोनों को जब कोरोना हुआ था, तब में आईपीएल के बायो-बबल में थी और मैं कोई मदद नहीं कर पा रही थी. हालांकि समय-समय पर मैं उनके स्थिति की जानकारी ले रही थी. परिवार से दूर रहना काफी मुश्किल होता है. अच्छी बात है कि मां और भाई ठीक हो चुके हैं. लेकिन मैंने अपनी आंटी को कोरोना के कारण खो दिया.’

यह भी पढ़ें :   लॉकडाउन के साइड इफेक्ट्स!
यह भी पढ़ें :   INDvsENG : कैप्टन कोहली को मैदान में देखने को बेकरार दर्शक, कड़ा होगा मुकाबला

धनश्री ने आगे लिखा, ‘अब मेरे सास-ससुर कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं. मेरे ससुर (युजवेंद्र चहल के पिता) अस्पताल में भर्ती हैं और सास का देखभाल घर में ही किया जा रहा है. मैं अस्पताल में थी और मैंने जो देखा वो बहुत खराब था. मैं सावधानियां बरत रही हूं लेकिन…आप लोग घर पर रहेंं और अपने परिवार का ख्याल रखें.’

धनश्री वर्मा आगे लिखती हैं, ‘मैं अपील करती हूं कि लोग जरूरतमंदों की मदद करें और उनको कैसे भी मुश्किल से निकालें. साथ ही अगर आप घर में हैं और सुरक्षित हैं, तो भगवान को धन्यवाद कहें. भगवान को प्रतिदिन धन्यवाद कहें और सुरक्षित रहें और निर्देशों का पालन करें.’

यह भी पढ़ें :   इलाज के बाद भी ठीक नहीं हो रहे CORONA के मरीज, सर्वे में हुआ खुलासा

बता दें कि देश में कोरोना की दूसरी लहर ने तबाही मचा रखी है. हर रोज तीन से चार लाख नए केस सामने आ रहे हैं. जबकि चार हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो रही है. इस महामारी ने आम से लेकर खास लोगों को अपनी चपेट में ले रखा है. देश में मरीजों की बढ़ती संख्या के कारण अस्पतालों में बेड की कमी हो गई थी. इसके अलावा ऑक्सीजन सिलेंडर की भी किल्लत हो गई थी. कोरोना के कारण हाहाकर मच गया था. कोरोना से मची तबाही के बाद केंद्र और राज्य सरकारें एक्शन में आई और बेड की ऑक्सिजन सिलेंडर की कमी को दूर किया गया.

यह भी पढ़ें :   अफगानिस्तान में 3 महिला पत्रकारों पर अज्ञात हमलावर ने अंधाधुंध बरसाई गोलियां, गई जान

Latest news

कल लगेगा 580 सालों बाद साल 2021 का अंतिम और सबसे लम्बा चंद्र ग्रहण

साल 2021 का अंतिम चंद्र ग्रहण देश के कई हिस्सों में शुक्रवार यानी 19 नवंबर को देखा जाएगा। भारत समेत दुनिया के कई देशों...

भारतीय सेना देश की हर एक इंच जमीन की रक्षा करने में सक्षम : राजनाथ सिंह

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि भारतीय सेना देश की हर एक इंच जमीन की रक्षा करने में सक्षम है। अगर किसी देश...

मंडी की जोई ठाकुर ने मिस हिमालय 2021 का खिताब किया अपने नाम

मंडी जिला से सबंध रखने वाली जोई ठाकुर ने मिस हिमालय 2021 का खिताब अपने नाम कर हिमाचल और मंडी का नाम रोशन किया...

प्रदूषण का असर : गुरुग्राम, फरीदाबाद, झज्जर व सोनीपत में अगले आदेश तक स्कूल बंद

हरियाणा के चार जिलों गुरुग्राम, फरीदाबाद, झज्जर व सोनीपत में अगले आदेश तक स्कूल बंद रहेंगे। एनसीआर में बढ़ते प्रदूषण से बचाव के लिए...

Related news

यह भी पढ़ें :   मौसम की पहली बर्फबारी के बाद सफ़ेद चादर से ढके गुलमर्ग के पहाड़

कल लगेगा 580 सालों बाद साल 2021 का अंतिम और सबसे लम्बा चंद्र ग्रहण

साल 2021 का अंतिम चंद्र ग्रहण देश के कई हिस्सों में शुक्रवार यानी 19 नवंबर को देखा जाएगा। भारत समेत दुनिया के कई देशों...

भारतीय सेना देश की हर एक इंच जमीन की रक्षा करने में सक्षम : राजनाथ सिंह

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि भारतीय सेना देश की हर एक इंच जमीन की रक्षा करने में सक्षम है। अगर किसी देश...

मंडी की जोई ठाकुर ने मिस हिमालय 2021 का खिताब किया अपने नाम

मंडी जिला से सबंध रखने वाली जोई ठाकुर ने मिस हिमालय 2021 का खिताब अपने नाम कर हिमाचल और मंडी का नाम रोशन किया...

प्रदूषण का असर : गुरुग्राम, फरीदाबाद, झज्जर व सोनीपत में अगले आदेश तक स्कूल बंद

हरियाणा के चार जिलों गुरुग्राम, फरीदाबाद, झज्जर व सोनीपत में अगले आदेश तक स्कूल बंद रहेंगे। एनसीआर में बढ़ते प्रदूषण से बचाव के लिए...