Nobel Prize In Physics 2020 : ब्लैक होल पर स्टडी के लिए 3 वैज्ञानिकों को पुरस्कार

साल 2020 में फिजिक्स के क्षेत्र में प्रतिष्ठित नोबेल पुरस्कार विजेता का एलान हो गया है। इस साल यह पुरस्कार रोजन पेनरोज, रेनहार्ड गेंजेल और एंड्रिया घेज को दिया गया है। पुरस्कार राशि में से आधा हिस्सा पेनरोज को दिया जाएगा और बाकी आधे में से आधी-आधी राशि रेनहार्ड और एंड्रिया को मिलेगी।

इस बार यह प्रतिष्ठित पुरस्कार रोजर पेनरोज को यह पुरस्कार इस खोज के लिए दिया गया है कि ब्लैक होल का गठन सापेक्षता के सामान्य सिद्धांत का एक मजबूत पूर्वानुमान है। वहीं, रेनहर्ड गेंजेस और एंड्रिया घेज को यह पुरस्कार हमारी आकाशगंगा के केंद्र में एक सुपरमैसिव कॉम्पैक्ट ऑब्जेक्ट की खोज के लिए दिया गया है।

इस संबंध में नोबेल पुरस्कार की ओर से जारी एक विज्ञप्ति में कहा गया है कि रोजर पेनरोज ने अपने प्रमाण में सरल गणितीय तरीकों का इस्तेमाल किया कि ब्लैक होल अल्बर्ट आइंस्टीन के सापेक्षता के सामान्य सिद्धांत का प्रत्यक्ष परिणाम हैं। हालांकि आइंस्टीन ने खुद यह विश्वास नहीं किया था कि ब्लैक होल वास्तव में मौजूद हैं।

यह भी पढ़ें :   एयर इंडिया का विमान लैंडिंग के दौरान इलेक्ट्रिक पोल से टकराया, बाल-बाल बचे यात्री

जनवरी 1965 में, पेनरोज ने साबित किया कि ब्लैक होल वास्तव में बन सकते हैं और उनका विस्तार से वर्णन किया कि उनमें ऐसी विलक्षणता या सिंगुलैरिटी होती है जिसमें प्रकृति के सभी ज्ञात नियम समाप्त हो जाते हैं। उनके लेख को आइंस्टीन के बाद सापेक्षता के सामान्य सिद्धांत में सबसे महत्वपूर्ण योगदान माना जाता है।

यह भी पढ़ें :   चक्रवात 'यास' को लेकर पीएम मोदी की बैठक में शामिल नहीं हुईं ममता

रेनहर्ड गेंजेल और एंड्रिया घेज ने दुनिया की सबसे बड़ी दूरबीनों का उपयोग करते हुए हमारी आकाशगंगा मिल्की वे के केंद्र में इंटरस्टेलर गैस और धूल के विशाल बादलों के पार देखने के तरीकों का विकास किया। उनके काम ने हमें मिल्की वे के केंद्र में एक सुपरमैसिव ब्लैक होल के अभी तक के सबसे ठोस सबूत दिए हैं।

यह भी पढ़ें :   PoK में हिंसा पर जम्मू कश्मीर नेशनल अवामी पार्टी ने की पाकिस्तान के प्रधानमंत्री की आलोचना

फिजिक्स के नोबेल के लिए समिति के अध्यक्ष डेविड हैविलैंड ने कहा कि इस साल के विजेताओं की खोजों ने सुपरमैसिव और कॉम्पैक्ट वस्तुओं के अध्ययन में नई ऊंचाइयों को छुआ है। लेकिन अभी भी कई सवाल हैं, जैसे कि उनकी आंतरिक संरचना और ब्लैक होल के आस-पास हम गुरुत्वाकर्षण के सिद्धांत का परीक्षण कैसे करें।

पिछले साल यह पुरस्कार कनाडा के कॉस्मॉलजिस्ट जेम्स पीबल्स को बिग बैंग के बाद के समय पर थ्योरी के लिए दिया गया था। उनके साथ स्विस ऐस्ट्रोनॉमर मिचेल मेयर और डीडियर कुएलोज को यह पुरस्कार मिला था। इन्हें हमारे सौर मंडल के बाहर के ग्रह की खोज के लिए यह पुरस्कार दिया गया था।

यह भी पढ़ें :   T20 के आखिरी मैच में इंडिया को मिली हार, सीरीज पर 2-1 से कब्जा

इससे पहले सोमवार को चिकित्सा के क्षेत्र में नोबेल विजेता का एलान किया गया था। यह पुरस्कार हेपेटाइटिस सी वायरस की खोज करने वाले हार्वी जे ऑल्टर, माइकल ह्यूटन और चार्ल्स एम राइस को दिया जाएगा। नोबेल विश्व का सर्वोच्च पुरस्कार है जो  चिकित्सा के अलावा शांति, साहित्य, भौतिकी, रसायन और अर्थशास्त्र के क्षेत्र में दिया जाता है।

यह भी पढ़ें :   अब विपक्षी नेताओं ने राष्ट्रपति से की कृषि कानूनों को रद करने की मांग

विश्व का सर्वोच्च पुरस्कार नोबेल फिजिक्स के अलावा चिकित्सा, शांति, साहित्य, भौतिकी, रसायन और अर्थशास्त्र के क्षेत्र में हर साल दिया जाता है। इसे डायनामाइट का आविष्कार करने वाले स्वीडन के वैज्ञानिक अल्फ्रेड नोबेल की स्मृति में शुरू किया गया था। पुरस्कार के विजेता को प्रशस्ति पत्र के साथ करीब 10 लाख डॉलर की राशि प्रदान की जाती है।

 

Latest news

हिमाचल में भारी बारिश और बाढ़ से बदले हालात, CM ने रद्द किया अपना लाहौल दौरा

हिमाचल प्रदेश में बारिश का सितम जारी है. बीते तीन दिन से सूबे में लगातार बारिश हो रही है और इससे अब तक 21...

सीएम सिटी में सरकार के खिलाफ पंजाब भर से हजारों मुलाजिम का हल्ला बोल

पंजाब के कोने-कोने से विभिन्न सरकारी व अर्द्ध सरकारी विभागों के मुलाजिम, पेंशनर और कच्चे व कांट्रैक्ट वर्कर हजारों की संख्या में पटियाला पहुंचे।...

चारों ओर बरसात बन रही आफत, उफनते खड्ड में गिरे तीन भाई-बहन, स्थानीय युवक ने बचाया

पठानकोट के जीएनडीयू कॉलेज लमीनी के सामने शुक्रवार सुबह एक लड़की और उसके दो भाई बहन गहरे पानी में गिर गए। लड़की को बचाने...
यह भी पढ़ें :   ड्रग केस में विवेक ओबरॉय के घर छापेमारी करने पहुंची बेंगलुरु पुलिस

अपनी ना’पाक हरकतों से बाज नहीं आ रहा ‘पाक’, तीन जगहों पर फिर देखे गए ड्रोन

जम्मू-कश्मीर में पाकिस्तान की नापाक हरकत जारी है। जमीन से हमला करने में नाकाम पाकिस्तान अब आसमान से हमला करने की साजिशें रच रहा...

Related news

हिमाचल में भारी बारिश और बाढ़ से बदले हालात, CM ने रद्द किया अपना लाहौल दौरा

हिमाचल प्रदेश में बारिश का सितम जारी है. बीते तीन दिन से सूबे में लगातार बारिश हो रही है और इससे अब तक 21...

सीएम सिटी में सरकार के खिलाफ पंजाब भर से हजारों मुलाजिम का हल्ला बोल

पंजाब के कोने-कोने से विभिन्न सरकारी व अर्द्ध सरकारी विभागों के मुलाजिम, पेंशनर और कच्चे व कांट्रैक्ट वर्कर हजारों की संख्या में पटियाला पहुंचे।...

चारों ओर बरसात बन रही आफत, उफनते खड्ड में गिरे तीन भाई-बहन, स्थानीय युवक ने बचाया

पठानकोट के जीएनडीयू कॉलेज लमीनी के सामने शुक्रवार सुबह एक लड़की और उसके दो भाई बहन गहरे पानी में गिर गए। लड़की को बचाने...

अपनी ना’पाक हरकतों से बाज नहीं आ रहा ‘पाक’, तीन जगहों पर फिर देखे गए ड्रोन

जम्मू-कश्मीर में पाकिस्तान की नापाक हरकत जारी है। जमीन से हमला करने में नाकाम पाकिस्तान अब आसमान से हमला करने की साजिशें रच रहा...