Friday, October 22, 2021

Nobel Prize In Physics 2020 : ब्लैक होल पर स्टडी के लिए 3 वैज्ञानिकों को पुरस्कार

साल 2020 में फिजिक्स के क्षेत्र में प्रतिष्ठित नोबेल पुरस्कार विजेता का एलान हो गया है। इस साल यह पुरस्कार रोजन पेनरोज, रेनहार्ड गेंजेल और एंड्रिया घेज को दिया गया है। पुरस्कार राशि में से आधा हिस्सा पेनरोज को दिया जाएगा और बाकी आधे में से आधी-आधी राशि रेनहार्ड और एंड्रिया को मिलेगी।

इस बार यह प्रतिष्ठित पुरस्कार रोजर पेनरोज को यह पुरस्कार इस खोज के लिए दिया गया है कि ब्लैक होल का गठन सापेक्षता के सामान्य सिद्धांत का एक मजबूत पूर्वानुमान है। वहीं, रेनहर्ड गेंजेस और एंड्रिया घेज को यह पुरस्कार हमारी आकाशगंगा के केंद्र में एक सुपरमैसिव कॉम्पैक्ट ऑब्जेक्ट की खोज के लिए दिया गया है।

इस संबंध में नोबेल पुरस्कार की ओर से जारी एक विज्ञप्ति में कहा गया है कि रोजर पेनरोज ने अपने प्रमाण में सरल गणितीय तरीकों का इस्तेमाल किया कि ब्लैक होल अल्बर्ट आइंस्टीन के सापेक्षता के सामान्य सिद्धांत का प्रत्यक्ष परिणाम हैं। हालांकि आइंस्टीन ने खुद यह विश्वास नहीं किया था कि ब्लैक होल वास्तव में मौजूद हैं।

यह भी पढ़ें :   ऑक्सीजन संकट को सुप्रीम कोर्ट ने बताया राष्ट्रीय आपदा, कहा- मूकदर्शक बने नहीं रह सकते

जनवरी 1965 में, पेनरोज ने साबित किया कि ब्लैक होल वास्तव में बन सकते हैं और उनका विस्तार से वर्णन किया कि उनमें ऐसी विलक्षणता या सिंगुलैरिटी होती है जिसमें प्रकृति के सभी ज्ञात नियम समाप्त हो जाते हैं। उनके लेख को आइंस्टीन के बाद सापेक्षता के सामान्य सिद्धांत में सबसे महत्वपूर्ण योगदान माना जाता है।

यह भी पढ़ें :   वीरभद्र सिंह को पुष्पांजलि देने दिल्ली से शिमला पहुंचे राहुल गांधी हुए भावुक

रेनहर्ड गेंजेल और एंड्रिया घेज ने दुनिया की सबसे बड़ी दूरबीनों का उपयोग करते हुए हमारी आकाशगंगा मिल्की वे के केंद्र में इंटरस्टेलर गैस और धूल के विशाल बादलों के पार देखने के तरीकों का विकास किया। उनके काम ने हमें मिल्की वे के केंद्र में एक सुपरमैसिव ब्लैक होल के अभी तक के सबसे ठोस सबूत दिए हैं।

यह भी पढ़ें :   जुलाई के पहले सप्ताह में मॉनसून के सक्रिय होने की उम्मीद, बरसेंगे बादल

फिजिक्स के नोबेल के लिए समिति के अध्यक्ष डेविड हैविलैंड ने कहा कि इस साल के विजेताओं की खोजों ने सुपरमैसिव और कॉम्पैक्ट वस्तुओं के अध्ययन में नई ऊंचाइयों को छुआ है। लेकिन अभी भी कई सवाल हैं, जैसे कि उनकी आंतरिक संरचना और ब्लैक होल के आस-पास हम गुरुत्वाकर्षण के सिद्धांत का परीक्षण कैसे करें।

पिछले साल यह पुरस्कार कनाडा के कॉस्मॉलजिस्ट जेम्स पीबल्स को बिग बैंग के बाद के समय पर थ्योरी के लिए दिया गया था। उनके साथ स्विस ऐस्ट्रोनॉमर मिचेल मेयर और डीडियर कुएलोज को यह पुरस्कार मिला था। इन्हें हमारे सौर मंडल के बाहर के ग्रह की खोज के लिए यह पुरस्कार दिया गया था।

यह भी पढ़ें :   महाकुम्भ के चलते 11 से 14 अप्रैल के बीच हरिद्वार रेलवे स्टेशन पर नहीं रुकेंगी ट्रेनें

इससे पहले सोमवार को चिकित्सा के क्षेत्र में नोबेल विजेता का एलान किया गया था। यह पुरस्कार हेपेटाइटिस सी वायरस की खोज करने वाले हार्वी जे ऑल्टर, माइकल ह्यूटन और चार्ल्स एम राइस को दिया जाएगा। नोबेल विश्व का सर्वोच्च पुरस्कार है जो  चिकित्सा के अलावा शांति, साहित्य, भौतिकी, रसायन और अर्थशास्त्र के क्षेत्र में दिया जाता है।

यह भी पढ़ें :   मौसम विभाग ने दी गरज-चमक और तेज हवा के साथ बारिश की चेतावनी

विश्व का सर्वोच्च पुरस्कार नोबेल फिजिक्स के अलावा चिकित्सा, शांति, साहित्य, भौतिकी, रसायन और अर्थशास्त्र के क्षेत्र में हर साल दिया जाता है। इसे डायनामाइट का आविष्कार करने वाले स्वीडन के वैज्ञानिक अल्फ्रेड नोबेल की स्मृति में शुरू किया गया था। पुरस्कार के विजेता को प्रशस्ति पत्र के साथ करीब 10 लाख डॉलर की राशि प्रदान की जाती है।

 

Latest news

अफगानिस्तान के मौजूदा हालात को लेकर रूस ने बुलाई अहम बैठक, अमेरिका ने आने से किया इंकार

रूस ने अफगानिस्तान के मौजूदा हालात को लेकर एक अहम बैठक बुलाई है। 20 अक्तूबर को होने वाली 'मास्को फार्मेट' वार्ता में भाग लेने के...

जम्मू-कश्मीर : पर्यटन सीजन में सिलेक्टिव कीलिंग ने रोके घाटी में सैलानियों के कदम 

कश्मीर घाटी में टारगेट किलिंग के इनपुट तीन माह पहले से मिल गए थे, लेकिन खुफिया एजेंसियों की इस सूचना पर पुलिस समेत अन्य...

आर्यन खान के मौलिक अधिकारों की रक्षा की मांग लेकर शिवसेना ने किया कोर्ट का रुख

मुंबई क्रूज ड्रग्स पार्टी में गिरफ्तार आर्यन खान के मौलिक अधिकारों की रक्षा की मांग लेकर शिवसेना ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की...
यह भी पढ़ें :   जुलाई के पहले सप्ताह में मॉनसून के सक्रिय होने की उम्मीद, बरसेंगे बादल

पंजाब में सत्ता परिवर्तन के साथ छलका सुनील जाखड़ का दर्द…

सुनील जाखड़ का पहले प्रधानगी पद गया और अब वे मुख्यमंत्री बनते-बनते रह गए। ऐसे में उनका दर्द छलक उठा, जिसके परिणामस्वरूप सुनील जाखड़...

Related news

अफगानिस्तान के मौजूदा हालात को लेकर रूस ने बुलाई अहम बैठक, अमेरिका ने आने से किया इंकार

रूस ने अफगानिस्तान के मौजूदा हालात को लेकर एक अहम बैठक बुलाई है। 20 अक्तूबर को होने वाली 'मास्को फार्मेट' वार्ता में भाग लेने के...

जम्मू-कश्मीर : पर्यटन सीजन में सिलेक्टिव कीलिंग ने रोके घाटी में सैलानियों के कदम 

कश्मीर घाटी में टारगेट किलिंग के इनपुट तीन माह पहले से मिल गए थे, लेकिन खुफिया एजेंसियों की इस सूचना पर पुलिस समेत अन्य...

आर्यन खान के मौलिक अधिकारों की रक्षा की मांग लेकर शिवसेना ने किया कोर्ट का रुख

मुंबई क्रूज ड्रग्स पार्टी में गिरफ्तार आर्यन खान के मौलिक अधिकारों की रक्षा की मांग लेकर शिवसेना ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की...

पंजाब में सत्ता परिवर्तन के साथ छलका सुनील जाखड़ का दर्द…

सुनील जाखड़ का पहले प्रधानगी पद गया और अब वे मुख्यमंत्री बनते-बनते रह गए। ऐसे में उनका दर्द छलक उठा, जिसके परिणामस्वरूप सुनील जाखड़...