Saturday, July 24, 2021

देश की सुरक्षा के साथ सैनिकों की हिफाजत और तनाव कम करते ये कुत्ते…!

कश्मीर में तैनात 44वीं राष्ट्रीय राइफल के जवानों के लिए कुत्ते सबसे अच्छे दोस्तों हैं. क्योंकि वे खतरे और तनाव दोनों को दूर रखने का काम करते हैं. दिन भर गश्त लगाने के बाद जवान जब लौटते हैं तब लैब्राडोर प्रजाति के रॉश के साथ खेलकर उन्हें ऊर्जा मिलती है. राष्ट्रीय राइफल (आरआर) के जवानों के साथ रॉश समेत छह कुत्ते देश को सुरक्षित रखने के लिए दिन रात मेहनत करते हैं.

बल की इकाई के साथ रॉश, तापी और क्लायड नामक कुत्ते दक्षिण कश्मीर के संवेदनशील क्षेत्रों में निगरानी रखते हैं. जिनमें पुलवामा का लासीपुरा, इमाम साहब और शोपियां शामिल हैं. जवानों के साथ मिलकर ये कुत्ते, आईईडी विस्फोटकों का पता लगाने, हिंसक भीड़ का पीछा करने और फरार आतंकवादियों का पता लगाने जैसे काम को बखूबी अंजाम देते हैं.

यह भी पढ़ें :   'अगले साल जापान में होगी टोक्यो ओलिंपिक, तैयारियां पूरी'

44वीं आरआर के प्रमुख कर्नल ए के सिंह के अनुसार कुत्तों के दल ने आतंकवाद रोधी कई अभियानों में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है, और कई ऐसी घटनाओं को टालने में सफलता पाई है जिनमें सुरक्षा बलों के जवानों के लिए जान का खतरा हो सकता था. कर्नल सिंह ने कहा कि रॉश बल के लिए एक ‘सेलिब्रिटी’ की तरह है क्योंकि उसने पिछले साल हिजबुल मुजाहिदीन के एक वांछित आतंकवादी को पकड़ने में सहायता की थी.

सेना के अधिकारी भी इन कुत्तों का पूरा ख्याल रखते हैं. वर्तमान में ‘डिफेन्स इंटेलिजेंस एजेंसी’ के महानिदेशक लेफ्टिनेंट जनरल के जे एस ढिल्लों की वह तस्वीर खासी चर्चा में रही थी जिसमें वह ‘मेनका’ नामक कुतिया को सलामी दे रहे थे. अमरनाथ यात्रा के दौरान मेनका ने रास्ते को सूंघ कर संभावित विस्फोटकों के खतरे को निर्मूल किया था. कई आतंक रोधी अभियानों के लिए इन कुत्तों को बहादुरी के पुरस्कार मिल चुके हैं.

यह भी पढ़ें :   रेल रोको: लाल किला उपद्रव ना हो, सरकार और किसान दोनों बरत रहे विशेष सावधानी
यह भी पढ़ें :   सता रही गर्मी, पिछले तीन दिनों से पारा 40 डिग्री सेल्सियस के पार

सेना की इकाई में शामिल मानसी नामक चार साल की लैब्राडोर को मरणोपरांत ‘मेंशन इन डिस्पैच’ का प्रमाण पत्र दिया गया था. मरणोपरांत युद्ध पुरस्कार पाने वाली वह पहली श्वान थी. राष्ट्र के लिए सर्वोच्च बलिदान देने की खातिर मानसी का नाम भारत के राजपत्र में उल्लिखित है.

Latest news

Video Viral : हरियाणा के खेतों में अचानक 10 फीट ऊपर उठ गई जमीन!

हरियाणा में विचित्र घटनाक्रम देखने को मिला। इस घटनाक्रम की वीडियो वायरल हो रही है। दूर-दूर तक इसकी चर्चा है। अचानक जमीन उठने की...
यह भी पढ़ें :   गौतम गंभीर के घर तक पहुंचा कोरोना वायरस, अमरिंदर सिंह भी क्वारंटीन

किसानी प्रदर्शन का उद्योगों पर असर, CM के आदेश पर अब सख्ती करेगी हरियाणा पुलिस

कृषि कानूनों के विरोध में टीकरी बार्डर पर लंबे समय से चल रहे किसान संगठनों के धरनों से उद्योग और व्यापार चौपट हो गए...

हिसार में किसानों और पुलिस के बीच हुई हिंसा मामले में पुलिस ने कोर्ट में क्लोजर रिपोर्ट की पेश

16 मई को हिसार में किसानों और पुलिस के बीच हुई हिंसा मामले में पुलिस ने कोर्ट में क्लोजर रिपोर्ट पेश कर दी है।...

पेगासस जासूसी मामला : चंडीगढ़ में हरियाणा कांग्रेस ने निकाला रोष मार्च तो पहुंचे थाने

पेगासस जासूसी मामले में हरियाणा कांग्रेस ने विरोध मार्च निकाला। कांग्रेस मुख्यालय से राजभवन की तरफ जा रहे कांग्रेस नेताओं को पुलिस ने सेक्टर...

Related news

यह भी पढ़ें :   किसान आंदोलन: रिहाना के सपोर्ट में फिल्म इंडस्ट्री, दिलजीत से लेकर स्वरा तक का मिला साथ

Video Viral : हरियाणा के खेतों में अचानक 10 फीट ऊपर उठ गई जमीन!

हरियाणा में विचित्र घटनाक्रम देखने को मिला। इस घटनाक्रम की वीडियो वायरल हो रही है। दूर-दूर तक इसकी चर्चा है। अचानक जमीन उठने की...

किसानी प्रदर्शन का उद्योगों पर असर, CM के आदेश पर अब सख्ती करेगी हरियाणा पुलिस

कृषि कानूनों के विरोध में टीकरी बार्डर पर लंबे समय से चल रहे किसान संगठनों के धरनों से उद्योग और व्यापार चौपट हो गए...

हिसार में किसानों और पुलिस के बीच हुई हिंसा मामले में पुलिस ने कोर्ट में क्लोजर रिपोर्ट की पेश

16 मई को हिसार में किसानों और पुलिस के बीच हुई हिंसा मामले में पुलिस ने कोर्ट में क्लोजर रिपोर्ट पेश कर दी है।...

पेगासस जासूसी मामला : चंडीगढ़ में हरियाणा कांग्रेस ने निकाला रोष मार्च तो पहुंचे थाने

पेगासस जासूसी मामले में हरियाणा कांग्रेस ने विरोध मार्च निकाला। कांग्रेस मुख्यालय से राजभवन की तरफ जा रहे कांग्रेस नेताओं को पुलिस ने सेक्टर...