Saturday, October 23, 2021

स्वतंत्रता दिवस पर जम्मू-कश्मीर मेंं बढ़े आतंकी हमले, सोपोर में ग्रेनेट से हमला

कश्मीर घाटी में आतंकवादियों ने एक बार फिर सुरक्षाबलों को निशाना बनाने का प्रयास किया है। इस बार यह हमला सोपोर में किया गया। सोपोर बाजार में स्थित एसबीआई बैंक की ब्रांच के बाहर खड़े सीआरपीएफ जवानों को निशाना बनाते हुए आतंकवादियों ने ग्रेनेड दागा परंतु यह ग्रेनेड निशाने पर जा जाकर दूसरी तरफ जाकर फटा। इस हमले में किसी के भी हताहत होने की जानकारी नहीं है।अलबत्ता सीआरपीएफ का एक जवान और एक नागरिक के घायल होने की सूचना है। हालांकि अभी इसकी पुष्टि नहीं की गई है।

ग्रेनेड विस्फोट के बाद इलाके में फैली अफरातफरी के बीच मौका पाकर आतंकी घटना स्थल से फरार हो गए। हालांकि सुरक्षाबलों ने हमलावरों की तलाश में इलाके में सर्च आपरेशन शुरू किया है। आसपास के इलाके की घेराबंदी भी की जा रही है। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार यह हमला आज दोपहर को किया गया। सोपोर मुख्य बाजार में एसबीआई बैंक के बाहर सुरक्षा में तैनात बीएसएफ 179 बटालियन के जवानों के कैंप पर यह ग्रेनेड दागा गया था। गनिमत यह रही कि यह ग्रेनेड निशाने पर न लगकर दूसरी ओर गिर ओर फट गया।

यह भी पढ़ें :   IPL 2020 : विकेटकीपर के तौर पर धोनी ने लपका अपना 100वां कैच
यह भी पढ़ें :   सिटी ब्यूटीफुल में ठंड ने दी दस्तक, 1 नवंबर से दिखने लगेगा असर

ग्रेनेड के सीधे चपेट में तो कई नहीं आया, लेकिन एक सीआरपीएफ जवान सहित दो लोग जख्मी हुए हैं। अलबत्ता विस्फोट की आवाज सुनकर बाजार में अफरा-तफरी का माहौल व्याप्त हो गया। लोग अपनी जान बचाने के लिए इधर-उधर भागने लगे। इस भगदड़ में हमलावर वहां से बच निकलने में सफल रहे। हमले की सूचना मिलते ही एसओजी, सेना और सीआरपीएफ का दल मौके पर पहुंच गया। जिस ओर से आतंकियों ने हमला किया था, जवानों ने उसी तरफ सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया। फिलहाल आतंकियों की तलाश जारी है।

यह भी पढ़ें :   जम्मू-कश्मीर में फिर से होगी 4G मोबाइल इंटरनेट सेवा बहाल, अगस्त 2019 से थी बंद

स्वतंत्रता दिवस पर जम्मू-कश्मीर मेंं आतंकी हमलों की साजिश रच रहे आतंकियों ने पिछले एक सप्ताह के दौरान एक दम से हमलों में तेजी लाई है। श्रीनगर के अलावा जम्मू में भी आतंकी हमले किए जा रहे हैं। कश्मीर घाटी की बात करें तो पिछले चार दिनों से लगातार आतंकी सुरक्षाबलों को निशाना बना रहे हैं। गत वीरवार शाम को कुलगाम में आतंकियों ने सीआरपीएफ के गश्ती दल को निशाना बनाने का प्रयास किया। परंतु सतर्क जवानों ने हमले के तुरंत बाद ही आतंकियों को घेर दिया। आज सुबह मुठभेड़ में एक विदेशी आतंकी को मार गराया गया जबकि दूसरा भागने में सफल रही।

यह भी पढ़ें :   जम्मू-कश्मीर और पंजाब जाने को मिला चौथा विकल्प, टोल और जाम से छुटकारा; सेना की मूवमेंट होगी आसान

Latest news

अफगानिस्तान के मौजूदा हालात को लेकर रूस ने बुलाई अहम बैठक, अमेरिका ने आने से किया इंकार

रूस ने अफगानिस्तान के मौजूदा हालात को लेकर एक अहम बैठक बुलाई है। 20 अक्तूबर को होने वाली 'मास्को फार्मेट' वार्ता में भाग लेने के...

जम्मू-कश्मीर : पर्यटन सीजन में सिलेक्टिव कीलिंग ने रोके घाटी में सैलानियों के कदम 

कश्मीर घाटी में टारगेट किलिंग के इनपुट तीन माह पहले से मिल गए थे, लेकिन खुफिया एजेंसियों की इस सूचना पर पुलिस समेत अन्य...

आर्यन खान के मौलिक अधिकारों की रक्षा की मांग लेकर शिवसेना ने किया कोर्ट का रुख

मुंबई क्रूज ड्रग्स पार्टी में गिरफ्तार आर्यन खान के मौलिक अधिकारों की रक्षा की मांग लेकर शिवसेना ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की...

पंजाब में सत्ता परिवर्तन के साथ छलका सुनील जाखड़ का दर्द…

सुनील जाखड़ का पहले प्रधानगी पद गया और अब वे मुख्यमंत्री बनते-बनते रह गए। ऐसे में उनका दर्द छलक उठा, जिसके परिणामस्वरूप सुनील जाखड़...

Related news

यह भी पढ़ें :   जम्मू-कश्मीर और पंजाब जाने को मिला चौथा विकल्प, टोल और जाम से छुटकारा; सेना की मूवमेंट होगी आसान

अफगानिस्तान के मौजूदा हालात को लेकर रूस ने बुलाई अहम बैठक, अमेरिका ने आने से किया इंकार

रूस ने अफगानिस्तान के मौजूदा हालात को लेकर एक अहम बैठक बुलाई है। 20 अक्तूबर को होने वाली 'मास्को फार्मेट' वार्ता में भाग लेने के...

जम्मू-कश्मीर : पर्यटन सीजन में सिलेक्टिव कीलिंग ने रोके घाटी में सैलानियों के कदम 

कश्मीर घाटी में टारगेट किलिंग के इनपुट तीन माह पहले से मिल गए थे, लेकिन खुफिया एजेंसियों की इस सूचना पर पुलिस समेत अन्य...

आर्यन खान के मौलिक अधिकारों की रक्षा की मांग लेकर शिवसेना ने किया कोर्ट का रुख

मुंबई क्रूज ड्रग्स पार्टी में गिरफ्तार आर्यन खान के मौलिक अधिकारों की रक्षा की मांग लेकर शिवसेना ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की...

पंजाब में सत्ता परिवर्तन के साथ छलका सुनील जाखड़ का दर्द…

सुनील जाखड़ का पहले प्रधानगी पद गया और अब वे मुख्यमंत्री बनते-बनते रह गए। ऐसे में उनका दर्द छलक उठा, जिसके परिणामस्वरूप सुनील जाखड़...