Tuesday, December 7, 2021

आखिरकार किसान बिल के खिलाफ सिद्धू आये सड़क पर

केंद्र सरकार के द्वारा पारित किए गए कृषि बिलों के खिलाफ देश के अलग-अलग हिस्सों में प्रदर्शन हो रहा है. बुधवार को पंजाब के अमृतसर में कांग्रेस पार्टी की ओर से प्रदर्शन किया गया. इस दौरान पूर्व क्रिकेटर और कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने भी सड़कों पर उतरकर किसान बिल के विरोध में हुंकार भरी.

पंजाब और हरियाणा में इस बिल के खिलाफ सबसे आक्रामक तौर पर प्रदर्शन किया जा रहा है. जहां सभी राजनीतिक दलों की ओर से एकजुटता दिखाई गई है, साथ ही अन्य किसान संगठन भी इस बिल के विरोध में नवजोत सिंह सिद्धू पिछले काफी लंबे वक्त के बाद किसी बड़े सार्वजनिक कार्यक्रम में दिखे हैं. उनका पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर के साथ रिश्ता सही नहीं रहा है, ऐसे में यही वजह है कि पंजाब की पॉलिटिक्स में कम एक्टिव हैं. हालांकि, कोरोना संकट के दौरान भी वो लगातार सोशल मीडिया पर अपने वीडियो डाल मुद्दों पर बात रखते रहे.

यह भी पढ़ें :   Unlock 5 की Guidelines का सबको बेसब्री से इंतज़ार, बढ़ी लोगों की उम्मीदें

लोकसभा चुनाव के दौरान नवजोत सिंह सिद्धू और अमरिंदर सिंह में दरार सामने आई थी. पंजाब में खराब चुनावी नतीजों का ठीकरा भी अमरिंदर ने सिद्धू पर भी फोड़ दिया था. लंबे विवाद के बाद जुलाई 2019 में सिद्धू ने कैबिनेट मंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया था. उसी के बाद से वो लगातार शांत ही रहे थे.

यह भी पढ़ें :   सरकार के प्रस्ताव को किसान यूनियनों ने खारिज, अब और तेज़ होगा आंदोलन

कृषि बिल के मसले पर ही पंजाब के अकाली दल ने केंद्र सरकार के खिलाफ मोर्चा खोला. साथ ही अकाली दल नेता हरसिमरत कौर बादल ने केंद्रीय मंत्री पद से इस्तीफा दिया और इस बिल को किसान विरोधी करार दिया. सुखबीर बादल ने राष्ट्रपति से मुलाकात कर बिल पर हस्ताक्षर ना करने की अपील की.

यह भी पढ़ें :   फाइजर, मॉडर्ना वैक्सीन भेजने को तैयार अमेरिका, लेकिन भारत से अभी मंजूरी नहीं

पंजाब में कांग्रेस की ओर से अकाली दल को एनडीए छोड़ने और मंत्री पद छोड़ने की चुनौती दी गई थी. हालांकि, केंद्र सरकार की ओर से लगातार इस बिल को लेकर विपक्ष पर झूठ फैलाने का आरोप लगाया जा रहा है. और किसानों को विपक्ष की बातों में ना आने की सलाह दी जा रही है. आने वाली 25 सितंबर को भी देश भर के कई किसान संगठन, राजनीतिक दलों ने इस बिल के खिलाफ प्रदर्शन की बात कही है. पंजाब में भी इसको लेकर व्यापक तैयारी है.

यह भी पढ़ें :   कांग्रेस में 'नई पारी' के लिए नवजोत सिद्धू को माननी होगी कैप्‍टन की शर्त !

Latest news

कल लगेगा 580 सालों बाद साल 2021 का अंतिम और सबसे लम्बा चंद्र ग्रहण

साल 2021 का अंतिम चंद्र ग्रहण देश के कई हिस्सों में शुक्रवार यानी 19 नवंबर को देखा जाएगा। भारत समेत दुनिया के कई देशों...

भारतीय सेना देश की हर एक इंच जमीन की रक्षा करने में सक्षम : राजनाथ सिंह

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि भारतीय सेना देश की हर एक इंच जमीन की रक्षा करने में सक्षम है। अगर किसी देश...

मंडी की जोई ठाकुर ने मिस हिमालय 2021 का खिताब किया अपने नाम

मंडी जिला से सबंध रखने वाली जोई ठाकुर ने मिस हिमालय 2021 का खिताब अपने नाम कर हिमाचल और मंडी का नाम रोशन किया...

प्रदूषण का असर : गुरुग्राम, फरीदाबाद, झज्जर व सोनीपत में अगले आदेश तक स्कूल बंद

हरियाणा के चार जिलों गुरुग्राम, फरीदाबाद, झज्जर व सोनीपत में अगले आदेश तक स्कूल बंद रहेंगे। एनसीआर में बढ़ते प्रदूषण से बचाव के लिए...

Related news

यह भी पढ़ें :   हरियाणा में नंबरदारों के लिए खुशखबरी, अब नहीं खत्म होंगे पद

कल लगेगा 580 सालों बाद साल 2021 का अंतिम और सबसे लम्बा चंद्र ग्रहण

साल 2021 का अंतिम चंद्र ग्रहण देश के कई हिस्सों में शुक्रवार यानी 19 नवंबर को देखा जाएगा। भारत समेत दुनिया के कई देशों...

भारतीय सेना देश की हर एक इंच जमीन की रक्षा करने में सक्षम : राजनाथ सिंह

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि भारतीय सेना देश की हर एक इंच जमीन की रक्षा करने में सक्षम है। अगर किसी देश...

मंडी की जोई ठाकुर ने मिस हिमालय 2021 का खिताब किया अपने नाम

मंडी जिला से सबंध रखने वाली जोई ठाकुर ने मिस हिमालय 2021 का खिताब अपने नाम कर हिमाचल और मंडी का नाम रोशन किया...

प्रदूषण का असर : गुरुग्राम, फरीदाबाद, झज्जर व सोनीपत में अगले आदेश तक स्कूल बंद

हरियाणा के चार जिलों गुरुग्राम, फरीदाबाद, झज्जर व सोनीपत में अगले आदेश तक स्कूल बंद रहेंगे। एनसीआर में बढ़ते प्रदूषण से बचाव के लिए...