Saturday, September 18, 2021

शरद पवार ने कृषि कानून पर सरकार को दी पुनर्विचार की सलाह

कृषि कानूनों के खिलाफ किसान अड़े हुए हैं, वहीं सरकार भी पीछे हटने के मूड में नहीं है. दिल्ली में गतिरोध जारी है. इस बीच विपक्ष भी मोदी सरकार पर हमला बोलने के साथ ही नसीहत दे रही है. राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) प्रमुख और पूर्व कृषि मंत्री शरद पवार ने सरकार से कृषि कानूनों पर पुनर्विचार करने की मांग की है.

पूर्व कृषि मंत्री शरद पवार ने कहा कि सरकार को कृषि कानूनों के बारे में पुनर्विचार करना चाहिए, इन कानूनों को बिना चर्चा के पारित किया गया था, सभी ने सरकार से कहा था कि वे इस पर चर्चा करें, लेकिन विपक्ष की बात को दरकिनार करते हुए सरकार ने कृषि कानूनों को संसद से जल्दबाजी में पारित किया.

यह भी पढ़ें :   किसानों ने सिंघु बॉर्डर से किया 5 दिसंबर को पुतला दहन का आह्वान

पूर्व कृषि मंत्री शरद पवार ने कहा कि ऐसा मत सोचो कि अब केंद्र सरकार किसानों की मांग को सुनने के मूड में नहीं है, इसलिए यह आंदोलन आगे भी जारी रहेगा. अभी यह आंदोलन दिल्ली सीमाओं तक सीमित है. यदि सही समय पर निर्णय नहीं लिया गया तो यह आंदोलन अन्य जगहों पर फैल गया. मैं अनुरोध करता हूं कि किसानों के धैर्य की परीक्षा न लें.

यह भी पढ़ें :   IND vs England : शर्मनाक हार के साथ इंग्लैंड ने गंवाई टेस्ट सीरीज, भारत को मिली जीत

आपको बता दें कि किसान आंदोलन का आज सोलहवां दिन है और दिल्ली के बॉर्डर पर किसान डटे हुए हैं. सरकार की सारी कोशिशें अब तक विफल साबित हुई हैं. आज इस मुद्दे पर मीडिया से मुखातिब हुए कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर ने एक बार फिर किसानों से धरना तोड़ने की अपील की. साथ उन्होंने एक नया सवाल भी खड़ा किया.

यह भी पढ़ें :   7 साल की मासूम के साथ हैवानियत की सारी हदें पार, निकालनी पड़ी बच्चेदानी

टिकरी बॉर्डर पर किसानों के धरना स्थल पर देशद्रोह के आरोपी शरजील इमाम के पोस्टर लगे थे और उनकी रिहाई के नारे लगे थे. केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिं तोमर ने पूछा कि इसका किसानों के आदोलन से क्या लेना-देना. उन्होंने कहा कि ये खतरनाक है और किसान संगठनों को इससे खुद को दूर रखना चाहिए.

Latest news

पंजाब विधानसभा चुनाव से पहले शिअद और बसपा के बीच 4 सीटों पर हुई अदला-बदली

शिरोमणि अकाली दल और बहुजन समाज पार्टी ने पंजाब विधानसभा 2022 के लिए चार सीटों पर हिस्‍सेदारी में बदलाव किया है। शिअद- बसपा गठबंधन...

आयकर से जुड़े मामले में कैप्टन अमरिंदर सिंह को हाईकोर्ट से बड़ी राहत

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को आयकर से जुड़े मामले में बड़ी राहत मिली है। पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट ने कैप्‍टन के...

एयर प्यूरीफिकेशन टावर की दुनिया कायल, शुद्ध करेगी चंडीगढ़ की हवा

चंडीगढ़ शहर के ट्रांसपोर्ट चौक पर तैयार किए गए एयर प्यूरीफिकेशन टावर की दुनिया कायल हो गई है। कई शहरों में अब ऐसे ही...

धर्मशाला हिमाचल प्रदेश की दूसरी राजधानी बनेगी या नहीं? महाराष्ट्र सरकार करेगी फैसला !

धर्मशाला हिमाचल प्रदेश की दूसरी राजधानी बनेगी या नहीं, इसका फैसला जयराम सरकार महाराष्ट्र सरकार से मांगी गई जानकारी आने के बाद करेगी। प्रदेश...

Related news

यह भी पढ़ें :   7 साल की मासूम के साथ हैवानियत की सारी हदें पार, निकालनी पड़ी बच्चेदानी

पंजाब विधानसभा चुनाव से पहले शिअद और बसपा के बीच 4 सीटों पर हुई अदला-बदली

शिरोमणि अकाली दल और बहुजन समाज पार्टी ने पंजाब विधानसभा 2022 के लिए चार सीटों पर हिस्‍सेदारी में बदलाव किया है। शिअद- बसपा गठबंधन...

आयकर से जुड़े मामले में कैप्टन अमरिंदर सिंह को हाईकोर्ट से बड़ी राहत

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को आयकर से जुड़े मामले में बड़ी राहत मिली है। पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट ने कैप्‍टन के...

एयर प्यूरीफिकेशन टावर की दुनिया कायल, शुद्ध करेगी चंडीगढ़ की हवा

चंडीगढ़ शहर के ट्रांसपोर्ट चौक पर तैयार किए गए एयर प्यूरीफिकेशन टावर की दुनिया कायल हो गई है। कई शहरों में अब ऐसे ही...

धर्मशाला हिमाचल प्रदेश की दूसरी राजधानी बनेगी या नहीं? महाराष्ट्र सरकार करेगी फैसला !

धर्मशाला हिमाचल प्रदेश की दूसरी राजधानी बनेगी या नहीं, इसका फैसला जयराम सरकार महाराष्ट्र सरकार से मांगी गई जानकारी आने के बाद करेगी। प्रदेश...