Friday, September 17, 2021

यूपी, पंजाब और उत्तराखंड सहित कई चुनावी राज्यों में शुरू हो सकता है किसान आंदोलन

पिछले करीब 1 साल से दिल्ली की बॉर्डर पर जारी किसान आंदोलन जल्द ही यूपी, पंजाब और उत्तराखंड सहित कई चुनावी राज्यों में भी शुरू हो सकता है। भारतीय किसान यूनियन (BKU) के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने सोमवार को इन राज्यों में आंदोलन शुरु करने की बात कही। उन्होंने कहा कि दिल्ली की तरह लखनऊ का भी घेराव किया जाएगा। जिस तरह दिल्ली में चारों तरफ के रास्ते सील हैं, ऐसे ही लखनऊ के भी सील होंगे।

टिकैत ने कहा कि संयुक्त मोर्चा ने फैसला किया है कि देशभर में जाकर किसानों के सामने अपनी बात रखी जाएगी। इसकी तैयारी के लिए 5 सितंबर को मुजफ्फरनगर में बड़ी पंचायत की जाएगी।

यह भी पढ़ें :   IPL 2020 : पंजाब और बेंगलुरु आज मुकाबले के लिए होंगे आमने-सामने

राकेश टिकैत ने हरियाणा में जींद के किसानों की तरफ से 15 अगस्त को ट्रैक्टर रैली निकालने की घोषणा का समर्थन किया है। टिकैत ने रविवार को कहा कि ट्रैक्टर रैली निकालना कोई बुरी बात नहीं है। जींद के लोग क्रांतिकारी हैं। उन्होंने 15 अगस्त को ट्रैक्टर परेड करने का सही फैसला लिया है। देखते हैं कि संयुक्त किसान मोर्चा आगे क्या फैसला करता है।

यह भी पढ़ें :   कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसान आज मनाएंगे सद्भावना दिवस, दिनभर रखेंगे उपवास

उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद, हापुड़ और अमरोहा से किसानों के जत्थे दिल्ली आएंगे और 15 अगस्त को सड़कों पर ट्रैक्टर परेड करेंगे। उन्होंने कहा कि ट्रैक्टर परेड को राष्ट्रीय ध्वज के साथ देखना गर्व का क्षण होगा। इसे देशभक्ति की भावना और मजबूत होगी।

यह भी पढ़ें :   फ़ास्ट ट्रैक में होगी निकिता हत्याकांड की सुनवाई, विज ने किया एलान

टिकैत का यह बयान ऐसे समय सामने आया है, जब कुछ ही महीने पहले 26 जनवरी को ट्रैक्टर रैली की वजह से ही दिल्ली की सड़कों पर किसानों और पुलिसकर्मियों के बीच झड़प हुई थी। इस दौरान कुछ उपद्रवी ऐतिहासिक लाल किले में पहुंच गए थे और तिरंगे का अपमान किया था। इसके बाद टकराव और बढ़ गया था।

टिकैत ने हरियाणा सरकार से स्वतंत्रता दिवस पर जींद में किसानों को झंडा फहराने की अनुमति देने की मांग की। उन्होंने कहा, ‘अगर जींद के क्रांतिकारी लोगों ने ठान लिया है कि वे मंत्रियों को अपने गांवों में तिरंगा नहीं फहराने देंगे, तो वे ऐसा ही करेंगे। ऐसे में मंत्री झंडा फहराकर क्या करेंगे? यह किसानों को करने दिया जाए।

यह भी पढ़ें :   भारत में कोरोना वैक्सीन के स्टोरेज और टीकाकरण की प्रक्रिया को लेकर तैयारियां तेज़

टिकैत इन दिनों जंतर मंतर पर किसान संसद लगा रहे किसानों के साथ बैठे हैं। हर दिन 200 किसान साइट पर आते हैं और सुबह 11 बजे से शाम 5 बजे तक धरना देते हैं। इसके जरिए पिछले साल सितंबर में संसद में पारित 3 कृषि कानूनों के खिलाफ लगभग आठ महीने से चल रहे उनके विरोध में जान फूंकने की कोशिश कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें :   किसानों के तेवर देख दिल्ली में हाई अलर्ट

Latest news

पंजाब विधानसभा चुनाव से पहले शिअद और बसपा के बीच 4 सीटों पर हुई अदला-बदली

शिरोमणि अकाली दल और बहुजन समाज पार्टी ने पंजाब विधानसभा 2022 के लिए चार सीटों पर हिस्‍सेदारी में बदलाव किया है। शिअद- बसपा गठबंधन...

आयकर से जुड़े मामले में कैप्टन अमरिंदर सिंह को हाईकोर्ट से बड़ी राहत

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को आयकर से जुड़े मामले में बड़ी राहत मिली है। पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट ने कैप्‍टन के...

एयर प्यूरीफिकेशन टावर की दुनिया कायल, शुद्ध करेगी चंडीगढ़ की हवा

चंडीगढ़ शहर के ट्रांसपोर्ट चौक पर तैयार किए गए एयर प्यूरीफिकेशन टावर की दुनिया कायल हो गई है। कई शहरों में अब ऐसे ही...

धर्मशाला हिमाचल प्रदेश की दूसरी राजधानी बनेगी या नहीं? महाराष्ट्र सरकार करेगी फैसला !

धर्मशाला हिमाचल प्रदेश की दूसरी राजधानी बनेगी या नहीं, इसका फैसला जयराम सरकार महाराष्ट्र सरकार से मांगी गई जानकारी आने के बाद करेगी। प्रदेश...

Related news

यह भी पढ़ें :   भारत में कोरोना वायरस संक्रमण की दर स्थिर, लेकिन खतरा अभी टला नहीं !

पंजाब विधानसभा चुनाव से पहले शिअद और बसपा के बीच 4 सीटों पर हुई अदला-बदली

शिरोमणि अकाली दल और बहुजन समाज पार्टी ने पंजाब विधानसभा 2022 के लिए चार सीटों पर हिस्‍सेदारी में बदलाव किया है। शिअद- बसपा गठबंधन...

आयकर से जुड़े मामले में कैप्टन अमरिंदर सिंह को हाईकोर्ट से बड़ी राहत

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को आयकर से जुड़े मामले में बड़ी राहत मिली है। पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट ने कैप्‍टन के...

एयर प्यूरीफिकेशन टावर की दुनिया कायल, शुद्ध करेगी चंडीगढ़ की हवा

चंडीगढ़ शहर के ट्रांसपोर्ट चौक पर तैयार किए गए एयर प्यूरीफिकेशन टावर की दुनिया कायल हो गई है। कई शहरों में अब ऐसे ही...

धर्मशाला हिमाचल प्रदेश की दूसरी राजधानी बनेगी या नहीं? महाराष्ट्र सरकार करेगी फैसला !

धर्मशाला हिमाचल प्रदेश की दूसरी राजधानी बनेगी या नहीं, इसका फैसला जयराम सरकार महाराष्ट्र सरकार से मांगी गई जानकारी आने के बाद करेगी। प्रदेश...