Friday, September 17, 2021

‘हमारा इरादा पक्का है, अहंकारी सरकार की लाठियां हमें रोक नहीं सकती’

हाथरस पीड़िता की मौत के बाद से पूरे देश में उबाल है और इस मामले पर राजनीति भी शुरू हो गई है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा को पुलिस ने गुरुवार को सामूहिक दुष्कर्म की पीड़िता के परिवार से मुलाकात के लिए हाथरस जाने से रोक दिया। बाद में दोनों को उत्तर प्रदेश पुलिस ने हिरासत में ले लिया। हिरासत में लिए जाने से पहले दोनों ने राज्य में जंगलराज होने और पुलिस द्वारा लाठियां चलाने का आरोप लगाया।

प्रियंका गांधी ने ट्वीट किया, ‘हाथरस जाने से हमें रोका। राहुल जी के साथ हम सब पैदल निकले तो बार-बार हमें रोका गया, बर्बर ढंग से लाठियां चलाई गईं। कई कार्यकर्ता घायल हैं। मगर हमारा इरादा पक्का है। एक अहंकारी सरकार की लाठियां हमें रोक नहीं सकती हैं। काश यही लाठियां, यही पुलिस हाथरस की दलित बेटी की रक्षा में खड़ी होती।’

यह भी पढ़ें :   कृषि बिल के समर्थन में आये दिलजीत ने ट्रोलर्स की कुछ यूँ की बोलती बंद...!

वहीं, राहुल गांधी ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को न डरने की नसीहत दी। राहुल ने ट्वीट किया, ‘दुख की घड़ी में अपनों को अकेला नहीं छोड़ा जाता है। यूपी में जंगलराज का यह आलम है कि शोक में डूबे एक परिवार से मिलना भी सरकार को डरा देता है। इतना मत डरो, मुख्यमंत्री महोदय।’ एक अन्य ट्वीट में उन्होंने कहा कि भाजपा का नारा ‘बेटी बचाओ’ नहीं बल्कि ‘तथ्य छिपाओ, सत्ता बचाओ’ है।

यह भी पढ़ें :   आखिरकार हुई सिद्धू की प्रियंका और राहुल गाँधी से मुलाकात, तमाम अटकलों पर लगी ब्रेक
यह भी पढ़ें :   हाथरस के बाद अब बलरामपुर में दरिंदगी की हद पार, युवती की मौत

इससे पहले प्रियंका गांधी ने ट्विटर पर हाथरस कांड की पीड़िता के पिता का एक वीडियो साझा किया था। इस वीडियो के साथ उन्होंने लिखा, ‘हाथरस की बेटी के पिता का बयान सुनिए। उन्हें जबरदस्ती ले जाया गया। सीएम से वीसी के नाम पर बस दबाव डाला गया। वो जांच की कार्रवाई से संतुष्ट नहीं हैं। अभी पूरे परिवार को नजरबंद रखा है। बात करने पर मना है। क्या सरकार उन्हें धमकाकर उन्हें चुप कराना चाहती है?’

यह भी पढ़ें :   सिद्दू की ताजपोशी में जाने को माने कैप्टन अमरिंदर सिंह, लेकिन पहले पिलायेंगे सबको चाय !

बता दें कि कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा और राहुल गांधी हाथरस जाने के लिए दिल्ली से रवाना हुए थे। उनके साथ हजारों की संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता भी थे। उन्हें यमुना एक्सप्रेसवे पर उत्तर प्रदेश पुलिस ने रोक दिया था। इसके बाद दोनों नेता पैदल ही हाथरस के लिए चल पड़े थे। हालांकि थोड़ी दूरी पर राहुल की पुलिस के साथ धक्का-मुक्की हो गई। इसके बाद पुलिस राहुल और प्रियंका को जीप में बैठाकर एफ-1 गेस्टहाउस ले गई।

यह भी पढ़ें :   रोती रही माँ, बिलखते रहे परिजन, फिर भी गूंगी-बहरी पुलिस ने कर दिया अंतिम संस्कार...!

Latest news

पंजाब विधानसभा चुनाव से पहले शिअद और बसपा के बीच 4 सीटों पर हुई अदला-बदली

शिरोमणि अकाली दल और बहुजन समाज पार्टी ने पंजाब विधानसभा 2022 के लिए चार सीटों पर हिस्‍सेदारी में बदलाव किया है। शिअद- बसपा गठबंधन...

आयकर से जुड़े मामले में कैप्टन अमरिंदर सिंह को हाईकोर्ट से बड़ी राहत

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को आयकर से जुड़े मामले में बड़ी राहत मिली है। पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट ने कैप्‍टन के...

एयर प्यूरीफिकेशन टावर की दुनिया कायल, शुद्ध करेगी चंडीगढ़ की हवा

चंडीगढ़ शहर के ट्रांसपोर्ट चौक पर तैयार किए गए एयर प्यूरीफिकेशन टावर की दुनिया कायल हो गई है। कई शहरों में अब ऐसे ही...

धर्मशाला हिमाचल प्रदेश की दूसरी राजधानी बनेगी या नहीं? महाराष्ट्र सरकार करेगी फैसला !

धर्मशाला हिमाचल प्रदेश की दूसरी राजधानी बनेगी या नहीं, इसका फैसला जयराम सरकार महाराष्ट्र सरकार से मांगी गई जानकारी आने के बाद करेगी। प्रदेश...

Related news

यह भी पढ़ें :   आखिरकार हुई सिद्धू की प्रियंका और राहुल गाँधी से मुलाकात, तमाम अटकलों पर लगी ब्रेक

पंजाब विधानसभा चुनाव से पहले शिअद और बसपा के बीच 4 सीटों पर हुई अदला-बदली

शिरोमणि अकाली दल और बहुजन समाज पार्टी ने पंजाब विधानसभा 2022 के लिए चार सीटों पर हिस्‍सेदारी में बदलाव किया है। शिअद- बसपा गठबंधन...

आयकर से जुड़े मामले में कैप्टन अमरिंदर सिंह को हाईकोर्ट से बड़ी राहत

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को आयकर से जुड़े मामले में बड़ी राहत मिली है। पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट ने कैप्‍टन के...

एयर प्यूरीफिकेशन टावर की दुनिया कायल, शुद्ध करेगी चंडीगढ़ की हवा

चंडीगढ़ शहर के ट्रांसपोर्ट चौक पर तैयार किए गए एयर प्यूरीफिकेशन टावर की दुनिया कायल हो गई है। कई शहरों में अब ऐसे ही...

धर्मशाला हिमाचल प्रदेश की दूसरी राजधानी बनेगी या नहीं? महाराष्ट्र सरकार करेगी फैसला !

धर्मशाला हिमाचल प्रदेश की दूसरी राजधानी बनेगी या नहीं, इसका फैसला जयराम सरकार महाराष्ट्र सरकार से मांगी गई जानकारी आने के बाद करेगी। प्रदेश...