Friday, September 17, 2021

पेगासस जासूसी मामला : चंडीगढ़ में हरियाणा कांग्रेस ने निकाला रोष मार्च तो पहुंचे थाने

पेगासस जासूसी मामले में हरियाणा कांग्रेस ने विरोध मार्च निकाला। कांग्रेस मुख्यालय से राजभवन की तरफ जा रहे कांग्रेस नेताओं को पुलिस ने सेक्टर 9 में ही रोक दिया और कुमारी सैलजा सहित कई नेताओं को हिरासत में ले लिया। हालांकि बाद में उन्हें छोड़ दिया गया। इस दौरान पुलिस व नेताओं के बीच हल्की झड़प भी हुई। रोष मार्च का नेतृत्व कांग्रेस प्रदेश अध्यक्षा कुमारी सैलजा व पार्टी के हरियाणा प्रभारी विवेक बंसल कर रहे थे।

इजारयली कंपनी के जरिये जासूसी कराने के आरोप जड़ते हुए दो दर्जन कांग्रेस विधायकों ने केंद्र सरकार के खिलाफ जबरदस्त मोर्चा खोला। इनमें 19 विधायक पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के समर्थक थे, जबकि पांच विधायक प्रदेश अध्यक्ष कुमारी सैलजा खेमे के रहे। कांग्रेस विधायक दल की पूर्व नेता किरण चौधरी और पूर्व सीएम भूपेंद्र हुड्डा खुद प्रदर्शन में शामिल होने नहीं आ सके, लेकिन पूर्व सांसद एवं विधायक कुलदीप बिश्नोई अपने दल-बल के साथ प्रदर्शन में नजर आए।

यह भी पढ़ें :   सिटी ब्यूटीफुल में भी शुरू हुआ कोरोना के खिलाफ टीकाकरण, जानिए किसे लगा पहला टीका

हुड्डा समर्थक चार विधायकों कुलदीप वत्स, राजेंद्र जूण, मोहम्मद इलियास और मामन खान ने अपनी-अपनी मजबूरी बताते हुए कांग्रेस के प्रदर्शन से दूरी बनाए रखी। हुड्डा ने कुमारी सैलजा व विवेक बंसल से फोन पर बात की तथा डाक्टरों द्वारा अभी फील्ड में नहीं आने की उन्हें दी गई हिदायत से अवगत कराया। हुड्डा ने कहा कि मैंने अपने विधायक भेज दिए हैं। कैप्टन अजय यादव के बेटे चिरंजीव राव दोनों खेमों में गिने जाते हैं। वह प्रदर्शन में नहीं दिखे, लेकिन उनके पिता पूर्व मंत्री कैप्टन अजय यादव ने बढ़ चढ़कर भागीदारी की।

यह भी पढ़ें :   मोटेरा नहीं, अब 'नरेंद्र मोदी स्टेडियम' हुआ दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट मैदान का नाम
यह भी पढ़ें :   महामारी भी नहीं कर पाई इनके हौंसले पस्त, PGI ने अंग प्रत्यारोपण कर 37 मरीजों को दिया नया जीवन

कुलदीप बिश्नोई और किरण चौधरी का अपना अलग रुतबा है। वह किसी खेमे से जुड़ने की बजाय अलग लाइन बनाकर चलना पसंद करते हैं। मौका था जासूसी कांड के विरोध में प्रदर्शन का, जिसमें नेतृत्व करने कांग्रेस प्रभारी विवेक बंसल स्वयं चंडीगढ़ पहुंचे। प्रदर्शनकारियों का नेतृत्व प्रदेश अध्यक्ष के नाते कुमारी सैलजा ने किया। कांग्रेस ने चूंकि राष्ट्रीय स्तर पर इन प्रदर्शनों का ऐलान किया था, लिहाजा हुड्डा समर्थक विधायकों के इसमें शामिल होने की पहले से पूरी संभावना थी। वैसे भी विवेक बंसल पूर्व में एक चिट्ठी जारी कर सभी विधायकों से यह हिसाब मांग चुके हैं कि उन्होंने महंगाई के विरोध में हुए आंदोलन के दौरान क्या आयोजन किए, इसकी रिपोर्ट दी जाए।

यह भी पढ़ें :   कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए चंडीगढ़ में भी लगा Weekend Lockdown

कांग्रेस दिग्गजों की गुटबाजी और सैलजा व हुड्डा के बीच चल रही तनातनी पर विवेक बंसल कुछ नहीं बोले। उन्होंने कहा कि आज हम प्रदर्शन के लिए आए हैं और यहां पूरी कांग्रेस एकजुट होकर केंद्र सरकार द्वारा कराई गई जासूसी का विरोध कर रही है। प्रदर्शनकारियों ने राजभवन के लिए जैसे ही पैदल मार्च शुरू किया, सेक्टर नौ स्थित कांग्रेस मुख्यालय के बाहर ही चंडीगढ़ पुलिस ने उन्हें रोक लिया। काफी धक्का-मुक्की के बाद तमाम कांग्रेसियों को बस में बैठाकर हिरासत में दिखाते हुए सेक्टर तीन थाने ले जाया गया। वहां राज्यपाल के एडीसी पहुंचे। ऐसा पहली बार हुआ कि कोई एडीसी थाने पहुंचा। उन्होंने कांग्रेसियों का ज्ञापन लेकर राज्यपाल के माध्यम से राष्ट्रपति तक पहुंचाने का भरोसा दिलाया।

यह भी पढ़ें :   पंजाब के 36वें राज्यपाल के रूप में बनवारीलाल पुरोहित ने ली शपथ

Latest news

पंजाब विधानसभा चुनाव से पहले शिअद और बसपा के बीच 4 सीटों पर हुई अदला-बदली

शिरोमणि अकाली दल और बहुजन समाज पार्टी ने पंजाब विधानसभा 2022 के लिए चार सीटों पर हिस्‍सेदारी में बदलाव किया है। शिअद- बसपा गठबंधन...

आयकर से जुड़े मामले में कैप्टन अमरिंदर सिंह को हाईकोर्ट से बड़ी राहत

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को आयकर से जुड़े मामले में बड़ी राहत मिली है। पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट ने कैप्‍टन के...

एयर प्यूरीफिकेशन टावर की दुनिया कायल, शुद्ध करेगी चंडीगढ़ की हवा

चंडीगढ़ शहर के ट्रांसपोर्ट चौक पर तैयार किए गए एयर प्यूरीफिकेशन टावर की दुनिया कायल हो गई है। कई शहरों में अब ऐसे ही...
यह भी पढ़ें :   मोटेरा नहीं, अब 'नरेंद्र मोदी स्टेडियम' हुआ दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट मैदान का नाम

धर्मशाला हिमाचल प्रदेश की दूसरी राजधानी बनेगी या नहीं? महाराष्ट्र सरकार करेगी फैसला !

धर्मशाला हिमाचल प्रदेश की दूसरी राजधानी बनेगी या नहीं, इसका फैसला जयराम सरकार महाराष्ट्र सरकार से मांगी गई जानकारी आने के बाद करेगी। प्रदेश...

Related news

पंजाब विधानसभा चुनाव से पहले शिअद और बसपा के बीच 4 सीटों पर हुई अदला-बदली

शिरोमणि अकाली दल और बहुजन समाज पार्टी ने पंजाब विधानसभा 2022 के लिए चार सीटों पर हिस्‍सेदारी में बदलाव किया है। शिअद- बसपा गठबंधन...

आयकर से जुड़े मामले में कैप्टन अमरिंदर सिंह को हाईकोर्ट से बड़ी राहत

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को आयकर से जुड़े मामले में बड़ी राहत मिली है। पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट ने कैप्‍टन के...

एयर प्यूरीफिकेशन टावर की दुनिया कायल, शुद्ध करेगी चंडीगढ़ की हवा

चंडीगढ़ शहर के ट्रांसपोर्ट चौक पर तैयार किए गए एयर प्यूरीफिकेशन टावर की दुनिया कायल हो गई है। कई शहरों में अब ऐसे ही...

धर्मशाला हिमाचल प्रदेश की दूसरी राजधानी बनेगी या नहीं? महाराष्ट्र सरकार करेगी फैसला !

धर्मशाला हिमाचल प्रदेश की दूसरी राजधानी बनेगी या नहीं, इसका फैसला जयराम सरकार महाराष्ट्र सरकार से मांगी गई जानकारी आने के बाद करेगी। प्रदेश...