भारत में फिर से दो जगह से घुसे पाकिस्तानी ड्रोन, पंजाब सीमा में 200 मीटर अंदर की घुसपैठ !

बीओपी सदनवाली और बीओपी चंदूवडाला में शनिवार देर रात पाकिस्तानी ड्रोन देखे गए। बीएसएफ जवानों ने ड्रोन पर फायरिंग की, जिसके बाद वे वापस पाकिस्तानी इलाके में चले गए। बीएसएफ के डीआईजी राजेश शर्मा ने पाकिस्तानी ड्रोन के दो जगह से भारतीय सीमा में दाखिल होने की पुष्टि की।

जानकारी के अनुसार शनिवार देर रात करीब 2 बजे बीएसएफ जवानों ने बीओपी चंदूवडाला पोस्ट पर पाक से आ रहे ड्रोन की आवाज सुनी। जवानों ने कुल 8 राउंड फायर किए। ड्रोन 10 से 15 सेकेंड ही रुककर वापस पाकिस्तान की तरफ मुड़ गया। यह ड्रोन भारत में करीब 200 मीटर अंदर तक आ गया था।

यह भी पढ़ें :   IPL 2020 : पहले क्वालीफायर में आज दिल्ली और मुंबई के बीच जीत की जंग

इसके बाद करीब तीन बजे बीओपी सदनवाली पर भी हवा में उड़ते ड्रोन की आवाज सुनाई दी, जो गांव हरुवाल की तरफ जा रही थी। करीब पांच मिनट बाद ही वह ड्रोन भी वापस पाकिस्तानी इलाके में चला गया। सुबह करीब सवा चार बजे उसी नाके पर जवानों ने आवाज को सुना जो पाकिस्तान से भारत की ओर आ रही थी। इस पर जवानों ने चार फायर किए जिससे वह ड्रोन भी पाकिस्तानी इलाके की तरफ मुड़ गया। यह ड्रोन भारतीय सीमा में करीब 150 मीटर तक प्रवेश कर गया था।

यह भी पढ़ें :   1 जनवरी तक पंजाब को नाईट कर्फ्यू से नहीं राहत, सीएम ने दिए सख्त आदेश

बीएसएफ के डीआईजी राजेश शर्मा ने बताया कि जवानों की ओर से तुरंत ड्रोन पर फायरिंग की गई। इसके बाद पुलिस अधिकारियों को साथ लेकर इलाके में तलाशी अभियान चलाया गया। एसएसपी गुरदासपुर राजिंदर सिंह सोहल ने बताया कि सर्च के दौरान अभी तक कुछ नहीं मिला है, लेकिन पुलिस और अन्य एजेंसियां अलर्ट हैं।

यह भी पढ़ें :   इजराइली डिफेंस ने ईरान पर हमले का शक जताया, जांच के लिए दिल्ली आ सकती है मोसाद

पिछले कुछ सप्ताह में ही पाक ड्रोन के भारतीय सीमा में देखे जाने की यह चौथी घटना है। इससे पहले 10 अक्तूबर को बीओपी मेटला में ड्रोन देखा गया था और चार अक्तूबर को डेरा बाबा नानक में बीएसएफ की आबाद पोस्ट पर पाकिस्तानी ड्रोन भारतीय सीमा में घुस आया था। तब भी बीएसएफ के जवानों ने ड्रोन पर फायरिंग की थी।

सूत्रों के अनुसार, पाक रेंजर्स को हाल ही में नए ड्रोन मिले हैं, जिसके चलते वह भारतीय इलाकों में इनसे पड़ताल करने की फिराक में हैं। तस्करों की ओर से ड्रोन का इस्तेमाल बिना रेंजर और आईएसआई की आज्ञा के करना नामुमकिन है। इससे पहले सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह भी पाकिस्तानी एजेंसी आईएसआई के मंसूबों के बारे में अपनी शंका जाहिर कर चुके हैं। यह भी सामने आ चुका है कि पाकिस्तानी एजेंसी हथियारों और नशे की तस्करी के लिए ड्रोन का इस्तेमाल करती रही है।

यह भी पढ़ें :   1 जनवरी तक पंजाब को नाईट कर्फ्यू से नहीं राहत, सीएम ने दिए सख्त आदेश

Latest news

हिमाचल में चट्टान किनारे बसे लोगों को पल-पल डरा रहा भूस्खलन

नूरपुर शहर का एक किनारा चट्टानों के साथ बसा हुआ है। चट्टानों के साथ साथ कई मकान व सरकारी दफ्तर सटे हुए हैं। लेकिन...

Coronavirus : वैक्सीन की पहली और दूसरी डोज लगाने के बाद भी संक्रमित हो रहे लोग

वैक्सीन की पहली और दूसरी डोज लगाने के बाद भी लोग कोरोना पाजिटिव हो रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग की ओर से किए गए अध्ययन...

दुनिया की तीन बेहतरीन, सुरक्षित और सबसे खूबसूरत एक्रो पैराग्लाइडिंग साइट में से एक बनने जा रहा बिलासपुर

दुनिया की तीन बेहतरीन, सुरक्षित और सबसे खूबसूरत एक्रो पैराग्लाइडिंग साइट में से एक बिलासपुर जिले की बंदला धार में बनेगी। विश्व में तुर्की...

हिमाचल प्रदेश में मानसून ने किया 502 करोड़ का नुकसान, अभी और तबाही की आशंका

हिमाचल प्रदेश में मानसून सीजन के दौरान जानमाल का भारी नुकसान हुआ है। 502 करोड़ की चल अचल संपत्ति आपदा के चलते ध्वस्त हो...

Related news

यह भी पढ़ें :   बंगाल का बेटा जम्मू-कश्मीर में हुआ शहीद, घर में छाया मातम

हिमाचल में चट्टान किनारे बसे लोगों को पल-पल डरा रहा भूस्खलन

नूरपुर शहर का एक किनारा चट्टानों के साथ बसा हुआ है। चट्टानों के साथ साथ कई मकान व सरकारी दफ्तर सटे हुए हैं। लेकिन...

Coronavirus : वैक्सीन की पहली और दूसरी डोज लगाने के बाद भी संक्रमित हो रहे लोग

वैक्सीन की पहली और दूसरी डोज लगाने के बाद भी लोग कोरोना पाजिटिव हो रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग की ओर से किए गए अध्ययन...

दुनिया की तीन बेहतरीन, सुरक्षित और सबसे खूबसूरत एक्रो पैराग्लाइडिंग साइट में से एक बनने जा रहा बिलासपुर

दुनिया की तीन बेहतरीन, सुरक्षित और सबसे खूबसूरत एक्रो पैराग्लाइडिंग साइट में से एक बिलासपुर जिले की बंदला धार में बनेगी। विश्व में तुर्की...

हिमाचल प्रदेश में मानसून ने किया 502 करोड़ का नुकसान, अभी और तबाही की आशंका

हिमाचल प्रदेश में मानसून सीजन के दौरान जानमाल का भारी नुकसान हुआ है। 502 करोड़ की चल अचल संपत्ति आपदा के चलते ध्वस्त हो...