Saturday, October 23, 2021

Cyclone निवार आ रहा करीब, ममल्लापुरम में चलने लगी हैं तेज हवाएं

बंगाल की खाड़ी के दक्षिण-पश्चिम क्षेत्र से उठे गंभीर साइक्लोनिक तूफान निवार नजदीक आ रहा है. करइकल और ममल्लापुरम के बीच निवार के कारण भूस्खलन की आशंका के बीच ममल्लापुरम में तेज हवाएं चलने लगी हैं. मौसम विभाग ने भी आशंका जताई है कि तूफान आज मध्यरात्रि या 26 नवंबर की अल सुबह तमिलनाडु और पुडुचेरी के तटों से टकरा सकता है. हालांकि, सरकार भी तूफान से निपटने के लिए तैयारियों में जुटी हुई है. तमिलनाडु में आज एक दिन की छुट्टी का ऐलान किया गया है. जबकि, पुडुचेरी में तीन दिन तक धारा 144 लगाए जाने की घोषणा हो चुकी है.

माना जा रहा है कि निवार तूफान समय के साथ और विकराल हो रहा है. तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश और पुडुचेरी में करीब 1200 एनडीआरएफ जवानों की तैनाती की गई है. वहीं, अन्य 800 राहतकर्मियों को तैयार रहने के लिए कहा गया है. एनडीआरएफ के प्रमुख एसएन प्रधान का कहना है कि वे दक्षिणी तटीय इलाके की तरफ बढ़ रहे बंगाल की खाड़ी से उठे इस तूफान के गंभीर रूप का सामना करने के लिए तैयार हैं.

यह भी पढ़ें :   कई मायनों में अहम अटल टनल की शुरुआत, तीन रास्‍तों की जद में आई चीन की सरहद
यह भी पढ़ें :   दुबई में डायना अवार्ड 2021 से नवाज़ा गया भारतीय मूल का छात्र

प्रधान ने जानकारी दी कि तमिलनाडु से 30 हजार और पुडुचेरी से 7 हजार लोगों को निकाल लिया गया है. उन्होंने बताया कि केंद्र, राज्य और स्थानीय सरकारें मिलकर काम कर रही हैं और होने वाले नुकसान को कम से कम किए जाने का प्रयास जारी है. उन्होंने बताया कि निवार साइक्लोन बहुत ही गंभीर श्रेणी में आ गया है. इस वजह से हम बुरे से बुरे हालातों के लिए तैयार हैं. उन्होंने कहा कि हमारी टीमें बीते 2 दिनों से तैनात हैं. अब तक तमिलनाडु, पुडुचेरी और आंध्र प्रदेश में 25 टीमों को तैनात किया जा चुका है. इसके अलावा चेन्नई के तट पर भी भारतीय कोस्टगार्ड राहत सामग्री लेकर जलयान के साथ तैनात हैं.

यह भी पढ़ें :   रामविलास पासवान की मौत के बाद सरकारी दफ्तरों में झुका तिरंगा

निवार तूफान की वजह से देश के दक्षिणी राज्यों में रेल, बस और हवाई सेवा भी काफी प्रभावित हुई है. तमिलनाडु के कई जिलों में बस सेवा को रद्द कर दिया गया है. राज्य सरकार ने कहा है कि इस दौरान जरूरी सामान वाली गाड़ियां जारी रहेंगी. वहीं, कई ट्रेनें और हवाई यात्राएं भी रद्द कर दी गई हैं.

राज्य के मुख्यमंत्री एडापड्डी के पलानीस्वामी ने लोगों से घर में रहने की अपील की है. उन्होंने कहा है कि 4 हजार से ज्यादा ‘खतरे’ वाली जगहों की पहचान कर ली गई है और स्थानीय अधिकारियों से लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है. इससे पहले पुडुचेरी की लेफ्टिनेंट गवर्नर किरण बेदी ने भी लोगों से घरों में रहने की अपील की थी.

यह भी पढ़ें :   ICC Test Ranking में दिग्गजों को पीछे छोड़ केन विलियमसन फिर से शीर्ष पर

Latest news

अफगानिस्तान के मौजूदा हालात को लेकर रूस ने बुलाई अहम बैठक, अमेरिका ने आने से किया इंकार

रूस ने अफगानिस्तान के मौजूदा हालात को लेकर एक अहम बैठक बुलाई है। 20 अक्तूबर को होने वाली 'मास्को फार्मेट' वार्ता में भाग लेने के...

जम्मू-कश्मीर : पर्यटन सीजन में सिलेक्टिव कीलिंग ने रोके घाटी में सैलानियों के कदम 

कश्मीर घाटी में टारगेट किलिंग के इनपुट तीन माह पहले से मिल गए थे, लेकिन खुफिया एजेंसियों की इस सूचना पर पुलिस समेत अन्य...

आर्यन खान के मौलिक अधिकारों की रक्षा की मांग लेकर शिवसेना ने किया कोर्ट का रुख

मुंबई क्रूज ड्रग्स पार्टी में गिरफ्तार आर्यन खान के मौलिक अधिकारों की रक्षा की मांग लेकर शिवसेना ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की...

पंजाब में सत्ता परिवर्तन के साथ छलका सुनील जाखड़ का दर्द…

सुनील जाखड़ का पहले प्रधानगी पद गया और अब वे मुख्यमंत्री बनते-बनते रह गए। ऐसे में उनका दर्द छलक उठा, जिसके परिणामस्वरूप सुनील जाखड़...

Related news

यह भी पढ़ें :   बंगाल की खाड़ी में बना कम दबाव का क्षेत्र चक्रवाती तूफान 'निवार' में बदला, ये हैं ताजा हालात

अफगानिस्तान के मौजूदा हालात को लेकर रूस ने बुलाई अहम बैठक, अमेरिका ने आने से किया इंकार

रूस ने अफगानिस्तान के मौजूदा हालात को लेकर एक अहम बैठक बुलाई है। 20 अक्तूबर को होने वाली 'मास्को फार्मेट' वार्ता में भाग लेने के...

जम्मू-कश्मीर : पर्यटन सीजन में सिलेक्टिव कीलिंग ने रोके घाटी में सैलानियों के कदम 

कश्मीर घाटी में टारगेट किलिंग के इनपुट तीन माह पहले से मिल गए थे, लेकिन खुफिया एजेंसियों की इस सूचना पर पुलिस समेत अन्य...

आर्यन खान के मौलिक अधिकारों की रक्षा की मांग लेकर शिवसेना ने किया कोर्ट का रुख

मुंबई क्रूज ड्रग्स पार्टी में गिरफ्तार आर्यन खान के मौलिक अधिकारों की रक्षा की मांग लेकर शिवसेना ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की...

पंजाब में सत्ता परिवर्तन के साथ छलका सुनील जाखड़ का दर्द…

सुनील जाखड़ का पहले प्रधानगी पद गया और अब वे मुख्यमंत्री बनते-बनते रह गए। ऐसे में उनका दर्द छलक उठा, जिसके परिणामस्वरूप सुनील जाखड़...