Tuesday, November 29, 2022

अंतरराष्ट्रीय दबाव के आगे झुका पाकिस्तान, कुलभूषण जाधव को मिली बड़ी राहत

पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय दबाव के आगे झुक गया है। पाक जेल में बंद भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव जल्द ही सजा-ए-मौत के फैसले के खिलाफ अपील कर सकेंगे। चार साल पहले जासूसी के आरोप में उन्हें सैन्‍य अदालत ने यह सजा सुनाई थी। पाक के उच्च सदन ने बुधवार को ‘इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस (रिव्यू एंड री-कन्सीडरेशन) ऑर्डिनेंस 2020’ को मंजूरी दे दी है। यह बिल करीब पांच महीने पहले पाकिस्तान के निचले सदन (नेशनल असेंबली) से पास हुआ था। अंतरराष्ट्रीय न्यायालय (समीक्षा और पुनर्विचार) विधेयक, 2020 को कानून मंत्री फारोघ नसीम ने पेश किया। इसे पाक संसद बहुमत से पारित किया गया।

यह भी पढ़ें :   पंजाब विधानसभा चुनाव में जीत के सभी पार्टियां दिखा रही दम, टटोल रही जनता का मन

पाकि‍स्‍तान के अखबार द डान के अनुसार, बिल के मुताबिक, पाकिस्तान की जेलों में सजायाफ्ता विदेशी कैदी (जिन्हें सैन्‍य कोर्ट ने सजा सुनाई है) ऊपरी कोर्ट में अपील कर सकेंगे। अब पाक राष्ट्रपति के दस्तखत के बाद यह कानून बन जाएगा।

यह भी पढ़ें :   पंजाब विधानसभा चुनाव में जीत के सभी पार्टियां दिखा रही दम, टटोल रही जनता का मन

51 वर्षीय कुलभूषण जाधव इस समय पाकिस्तान की जेल में जासूसी के एक कथित मामले में मौत की सजा काट रहे हैं। भारतीय नौसेना के सेवानिवृत्त अधिकारी कुलभूषण जाधव को 2017 में पाकिस्तान में एक सैन्य अदालत द्वारा मौत की सजा सुनाई गई थी। भारत ने अंतरराष्ट्रीय न्यायालय (आईसीजे) में इस कदम के खिलाफ अपील की थी और जाधव को कांसुलर एक्सेस से इन्‍कार करने के पाकिस्तान के फैसले को अंतरराष्ट्रीय न्यायालय (ICJ) में चुनौती दी थी। दोनों पक्षों की दलील सुनने के बाद ICJ ने जुलाई 2019 में एक फैसला दिया।

यह भी पढ़ें :   अब DNA टेस्ट बनेगा पत्नी की वफ़ा का सबूत, इलाहबाद हाईकोर्ट ने सुनाया फैसला

जुलाई 2019 में हेग स्थित अंतरराष्ट्रीय अदालत (ICJ)ने फैसला सुनाया था कि पाकिस्तान को कुलभूषण जाधव को दी गई मौत की सजा की ‘समीक्षा और पुनर्विचार’ करना चाहिए। इसके साथ ही अदालत ने भारत को बिना देरी जाधव तक राजनयिक पहुंच देने का आदेश दिया।

Latest news

यह भी पढ़ें :   भारत के साथ बातचीत की आड़ में फिर कश्मीर बना पाकिस्तान का मुद्दा

बच्चों व महिलाओं के सर्वांगीण विकास के लिए नहीं छोड़ी जाएगी कोई कमी: डा. बलजीत कौर

सामाजिक सुरक्षा और महिला व बाल विकास मंत्री पंजाब डा. बलजीत कौर ने कहा कि विभाग की ओर से बच्चों व महिलाओं के सर्वांगीण...

मुख्यमंत्री द्वारा राज्य में गन कल्चर पर सख़्ती से नकेल कसने के निर्देश

गन कल्चर पर रोक लगाने और राज्य में कानून-व्यवस्था की स्थिति को कायम रखने के उद्देश्य से मुख्यमंत्री भगवंत मान के नेतृत्व वाली पंजाब...

जी-20 नेताओं के शिखर सम्मेलन के लिए बाली की यात्रा से पहले प्रधानमंत्री का प्रस्थान वक्तव्य

इंडोनेशिया की अध्यक्षता में होने वाले 17वें जी20 नेताओं के शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिए मैं 14-16 नवंबर 2022 को बाली, इंडोनेशिया...

ईंटों के भठ्ठों के लिए ईंधन के रूप में पराली को 20 प्रतिशत इस्तेमाल करने को किया अनिवार्य

धान की पराली के प्रबंधन में निरंतर प्रयास कर रही राज्य सरकार द्वारा इस दिशा में अहम कदम उठाते हुए राज्य भर में ईंटों...

Related news

यह भी पढ़ें :   24 अक्टूबर को आमने-सामने होंगे भारत-पाकिस्तान, 5 साल बाद वर्ल्ड कप के लिए मुकाबला!

बच्चों व महिलाओं के सर्वांगीण विकास के लिए नहीं छोड़ी जाएगी कोई कमी: डा. बलजीत कौर

सामाजिक सुरक्षा और महिला व बाल विकास मंत्री पंजाब डा. बलजीत कौर ने कहा कि विभाग की ओर से बच्चों व महिलाओं के सर्वांगीण...

मुख्यमंत्री द्वारा राज्य में गन कल्चर पर सख़्ती से नकेल कसने के निर्देश

गन कल्चर पर रोक लगाने और राज्य में कानून-व्यवस्था की स्थिति को कायम रखने के उद्देश्य से मुख्यमंत्री भगवंत मान के नेतृत्व वाली पंजाब...

जी-20 नेताओं के शिखर सम्मेलन के लिए बाली की यात्रा से पहले प्रधानमंत्री का प्रस्थान वक्तव्य

इंडोनेशिया की अध्यक्षता में होने वाले 17वें जी20 नेताओं के शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिए मैं 14-16 नवंबर 2022 को बाली, इंडोनेशिया...

ईंटों के भठ्ठों के लिए ईंधन के रूप में पराली को 20 प्रतिशत इस्तेमाल करने को किया अनिवार्य

धान की पराली के प्रबंधन में निरंतर प्रयास कर रही राज्य सरकार द्वारा इस दिशा में अहम कदम उठाते हुए राज्य भर में ईंटों...