Thursday, October 21, 2021

सिब्बल की बयानबाजी के बाद सामने आई सफाई, बोले- गांधी परिवार के खिलाफ नहीं

बिहार चुनावों में महागठबंधन को मिली हार और चुनावों में कांग्रेस के शर्मनाक प्रदर्शन पर तमाम राजनीतिक दलों ने टिप्पणी की. लेकिन कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने जब वही बातें कहीं और पार्टी के शीर्ष नेतृत्व पर सवाल उठाए तो देश की सबसे पुरानी राजनीतिक पार्टी की अंदरूनी कलह एक बार फिर सामने आ गई. अब एक-एक कर कांग्रेस के तमाम नेता सिब्बल पर पलटवार कर रहे हैं. कांग्रेस में चल रही इसी जुबानी जंग को लेकर मिडिया ने कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल का पक्ष जानने की कोशिश की.

कपिल सिब्बल ने पार्टी के शीर्ष नेतृत्व को लेकर अपनी बात रखते हुए कहा कि दिक्कत ये है कि राहुल गांधी डेढ़ साल पहले यह बात साफ कर चुके हैं कि वे अब कांग्रेस का अध्यक्ष नहीं बनना चाहते. उन्होंने यह भी कहा था कि मैं नहीं चाहता कि गांधी परिवार का कोई भी व्यक्ति उस पद पर काबिज हो. इस बात के डेढ़ साल बीत जाने के बाद मैं ये पूछता हूं कि कोई राष्ट्रीय पार्टी इतने लंबे समय तक अपने अध्यक्ष के बिना कैसे काम कर सकती है. मैंने पार्टी के भीतर आवाज उठाई थी. हमने अगस्त में चिट्ठी भी लिखी. लेकिन किसी ने हमसे बात नहीं की. मैं जानना चाहता हूं कि डेढ़ साल बाद भी हमारा अध्यक्ष नहीं है. कार्यकर्ता अपनी समस्या लेकर किसके पास जाएं.

यह भी पढ़ें :   पानी के बढ़े हुए दामों को लेकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने किया प्रदर्शन
यह भी पढ़ें :   Budget 2021: नहीं बदला टैक्स स्लैब, पैट्रोल और डीज़ल पर लगा कृषि सेस

वरिष्ठ पत्रकार राजदीप सरदेसाई से बातचीत करते हुए कपिल सिब्बल ने कहा कि एक राष्ट्रीय पार्टी के लिए यह कठिन स्थिति है और तब जब वह सबसे पुरानी पार्टी हो. मैं किसी की क्षमता पर उंगली नहीं उठा रहा पार्टी के संविधानों की बात कर रहा कि चुनाव होना चाहिए. अगर हम खुद अपने संगठनों में चुनाव नहीं करवाएंगे तो हम जो रिजल्ट चाहते हैं वो कैसे मिलेगा. यही बातें हमने अपनी चिट्ठी में कही थीं.

यह भी पढ़ें :   Budget 2021: नहीं बदला टैक्स स्लैब, पैट्रोल और डीज़ल पर लगा कृषि सेस

गांधी परिवार के खिलाफ जाने से जुड़े सवाल पर कपिल सिब्बल ने कहा कि मैंने यह कब कहा, मैं पार्टी फोरम में बात कैसे रखूं जब मैं कभी सीडब्ल्यूसी का हिस्सा नहीं रहा. पार्टी का कोई अध्यक्ष भी नहीं है. हमने अगस्त 2020 में जो चिट्ठी लिखी थी वो हमारी तीसरी चिट्ठी थी. गुलाम नबी जी इससे पहले दो चिट्ठियां लिख चुके थे. लेकिन फिर भी किसी ने हमसे बात नहीं की. इसलिए जब मुझे मौका मिला तो मैंने बात की.

यह भी पढ़ें :   'कृषि बिल के मुद्दे पर अपने स्वार्थ के लिए किसानों को बहला रही कांग्रेस'

Latest news

अफगानिस्तान के मौजूदा हालात को लेकर रूस ने बुलाई अहम बैठक, अमेरिका ने आने से किया इंकार

रूस ने अफगानिस्तान के मौजूदा हालात को लेकर एक अहम बैठक बुलाई है। 20 अक्तूबर को होने वाली 'मास्को फार्मेट' वार्ता में भाग लेने के...

जम्मू-कश्मीर : पर्यटन सीजन में सिलेक्टिव कीलिंग ने रोके घाटी में सैलानियों के कदम 

कश्मीर घाटी में टारगेट किलिंग के इनपुट तीन माह पहले से मिल गए थे, लेकिन खुफिया एजेंसियों की इस सूचना पर पुलिस समेत अन्य...

आर्यन खान के मौलिक अधिकारों की रक्षा की मांग लेकर शिवसेना ने किया कोर्ट का रुख

मुंबई क्रूज ड्रग्स पार्टी में गिरफ्तार आर्यन खान के मौलिक अधिकारों की रक्षा की मांग लेकर शिवसेना ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की...

पंजाब में सत्ता परिवर्तन के साथ छलका सुनील जाखड़ का दर्द…

सुनील जाखड़ का पहले प्रधानगी पद गया और अब वे मुख्यमंत्री बनते-बनते रह गए। ऐसे में उनका दर्द छलक उठा, जिसके परिणामस्वरूप सुनील जाखड़...

Related news

यह भी पढ़ें :   ट्यूबवेल कनेक्शन की बाट जोह रहे किसानों ने नहरी पानी को लेकर जारी सर्कुलर को दी चुनौती

अफगानिस्तान के मौजूदा हालात को लेकर रूस ने बुलाई अहम बैठक, अमेरिका ने आने से किया इंकार

रूस ने अफगानिस्तान के मौजूदा हालात को लेकर एक अहम बैठक बुलाई है। 20 अक्तूबर को होने वाली 'मास्को फार्मेट' वार्ता में भाग लेने के...

जम्मू-कश्मीर : पर्यटन सीजन में सिलेक्टिव कीलिंग ने रोके घाटी में सैलानियों के कदम 

कश्मीर घाटी में टारगेट किलिंग के इनपुट तीन माह पहले से मिल गए थे, लेकिन खुफिया एजेंसियों की इस सूचना पर पुलिस समेत अन्य...

आर्यन खान के मौलिक अधिकारों की रक्षा की मांग लेकर शिवसेना ने किया कोर्ट का रुख

मुंबई क्रूज ड्रग्स पार्टी में गिरफ्तार आर्यन खान के मौलिक अधिकारों की रक्षा की मांग लेकर शिवसेना ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की...

पंजाब में सत्ता परिवर्तन के साथ छलका सुनील जाखड़ का दर्द…

सुनील जाखड़ का पहले प्रधानगी पद गया और अब वे मुख्यमंत्री बनते-बनते रह गए। ऐसे में उनका दर्द छलक उठा, जिसके परिणामस्वरूप सुनील जाखड़...