Sunday, November 28, 2021

Agriculture Ordinance पर नेताओं में भी बढ़ी नाराज़गी, दिखे बगावती सुर

हरियाणा की सियासत में अब नया मोड़ आने वाला है। भाजपा के 5 और कांग्रेस का एक पूर्व विधायक मिलकर अलग ही रणनीति बना रहे हैं। उन्होंने बगावत की तैयारी कर ली है। इन पूर्व विधायकों में ज्यादा इनेलो की पृष्ठभूमि से है। सभी अंदरखाने योजना बनाने में लगे हैं। बुधवार को भाजपा समर्थित पांच पूर्व विधायकों समेत छह नेताओं ने मंथन किया है। जिसमें कहा गया है कि सभी पार्टियों में उपेक्षित पूर्व विधायकों को जोड़ा जाएगा और जल्द ही हरियाणा के मध्य में दूसरी मीटिंग बुलाई जाएगी।

यह भी पढ़ें :   चंबा, कुल्लू, मंडी और किन्नौर में केसर की खेती किसानों की बदलेगी तकदीर

बुधवार को गुपचुप की गई मीटिंग में पिछले साल ही इनेलो छोड़कर भाजपा में शामिल हुए पूर्व विधायक परमिंद्र सिंह ढुल, रामपाल माजरा, बलवान सिंह दौलतपुरिया के अलावा बूटा सिंह शामिल हैं। पिछली सरकार में संसदीय सचिव रहे श्याम सिंह राणा और कांग्रेसी नेता एवं पूर्व विधायक भाग सिंह छातर भी मीटिंग में शामिल रहे। दावा किया गया है कि दूसरी पार्टियों के दो दर्जन नेता इनके संपर्क में हैं, जिन्हें वे साथ जोड़कर एक मंच पर लाएंगे। इधर, बता दें कि जजपा में भी रामकुमार गौत्तम, देवेंद्र बबली भी खुलकर पार्टी की खिलाफत कर चुके हैं।

यह भी पढ़ें :   किसानों ने किया दिल्ली अमृतसर नेशनल हाइवे जाम
यह भी पढ़ें :   कश्मीर में सुरक्षाबलों के हाथ लगी बड़ी सफलता, लश्कर के दो मददगार गिरफ्तार

पूर्व संसदीय सचिव रामपाल माजरा का कहना है कि सभी पार्टियों में जितनी भी राजनीतिक तौर पर उपेक्षित पूर्व विधायक या नेता हैं, उन्हें जोड़ा जाएगा। सभी को जल्द ही एक मंच पर लाया जाएगा। हम जनता के मुद्दे उठाएंगे। आज प्रदेश में बेरोजगारी बढ़ी है। कारखाने नहीं लग रहें हैं। अध्यादेशों पर किसानों और विपक्ष से बातचीत होनी चाहिए थी, लेकिन ऐसा नहीं किया गया। प्रदेश में आत्महत्या के मामले इसलिए बढ़ते जा रहें हैं। माजरा ने कहा कि अध्योदशों में कहीं भी एमएसपी का जिक्र नहीं है।

यह भी पढ़ें :   कृषि कानूनों पर राहुल गांधी का बड़ा ऐलान

पूर्व विधायक परमिंद्र सिंह ढुल ने कहा कि हमने मिलकर सभी समस्याओं पर विचार किया है। सभी नेताओं को मुख्यधारा में लाया जाएगा। कृषि बिलों पर पता नहीं कि हम भ्रम में हैं या भ्रमित किया जा रहा है। हमारा प्रयास होगा कि हमारे जैसे लोगों को जोड़ा जाए। सरकार को किसान संगठनों से बातचीत की जानी चाहिए थी। अभी भी उसमें सुधार किया जा सकता है। अडियल रवैया नहीं रखना चाहिए।

यह भी पढ़ें :   कपूर खानदान की एक और बेटी जल्द नज़र आएंगी बड़े पर्दे पर, करण जौहर दे रहे मौका

Latest news

कल लगेगा 580 सालों बाद साल 2021 का अंतिम और सबसे लम्बा चंद्र ग्रहण

साल 2021 का अंतिम चंद्र ग्रहण देश के कई हिस्सों में शुक्रवार यानी 19 नवंबर को देखा जाएगा। भारत समेत दुनिया के कई देशों...

भारतीय सेना देश की हर एक इंच जमीन की रक्षा करने में सक्षम : राजनाथ सिंह

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि भारतीय सेना देश की हर एक इंच जमीन की रक्षा करने में सक्षम है। अगर किसी देश...

मंडी की जोई ठाकुर ने मिस हिमालय 2021 का खिताब किया अपने नाम

मंडी जिला से सबंध रखने वाली जोई ठाकुर ने मिस हिमालय 2021 का खिताब अपने नाम कर हिमाचल और मंडी का नाम रोशन किया...

प्रदूषण का असर : गुरुग्राम, फरीदाबाद, झज्जर व सोनीपत में अगले आदेश तक स्कूल बंद

हरियाणा के चार जिलों गुरुग्राम, फरीदाबाद, झज्जर व सोनीपत में अगले आदेश तक स्कूल बंद रहेंगे। एनसीआर में बढ़ते प्रदूषण से बचाव के लिए...

Related news

यह भी पढ़ें :   किसानी बिल को लेकर 25 को पंजाब बंद

कल लगेगा 580 सालों बाद साल 2021 का अंतिम और सबसे लम्बा चंद्र ग्रहण

साल 2021 का अंतिम चंद्र ग्रहण देश के कई हिस्सों में शुक्रवार यानी 19 नवंबर को देखा जाएगा। भारत समेत दुनिया के कई देशों...

भारतीय सेना देश की हर एक इंच जमीन की रक्षा करने में सक्षम : राजनाथ सिंह

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि भारतीय सेना देश की हर एक इंच जमीन की रक्षा करने में सक्षम है। अगर किसी देश...

मंडी की जोई ठाकुर ने मिस हिमालय 2021 का खिताब किया अपने नाम

मंडी जिला से सबंध रखने वाली जोई ठाकुर ने मिस हिमालय 2021 का खिताब अपने नाम कर हिमाचल और मंडी का नाम रोशन किया...

प्रदूषण का असर : गुरुग्राम, फरीदाबाद, झज्जर व सोनीपत में अगले आदेश तक स्कूल बंद

हरियाणा के चार जिलों गुरुग्राम, फरीदाबाद, झज्जर व सोनीपत में अगले आदेश तक स्कूल बंद रहेंगे। एनसीआर में बढ़ते प्रदूषण से बचाव के लिए...