Friday, September 17, 2021

हिमाचल प्रदेश में मानसून ने किया 502 करोड़ का नुकसान, अभी और तबाही की आशंका

हिमाचल प्रदेश में मानसून सीजन के दौरान जानमाल का भारी नुकसान हुआ है। 502 करोड़ की चल अचल संपत्ति आपदा के चलते ध्वस्त हो गई। 152 लोगों ने सड़क हादसों से लेकर भूस्खलन, बाढ़ या बादल फटने जैसी घटनाओं के चलते जान गंवाई। राज्य आपदा प्रबंधन सेल की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार अकेले पीडब्ल्यूडी विभाग को 347 करोड़ का नुकसान हुआ है। जल शक्ति विभाग को 147 करोड़, ऊर्जा विभाग को 57 लाख का नुकसान हुआ।

575 लाख का मौद्रिक नुकसान भी दर्ज किया गया। भारी बारिश, बादल फटने और बाढ़ के चलते 14.6 लाख की फसल भी बरबाद हो गई। 515 कच्चे व पक्के घरों और दुकानों, गायों के 379 शेड को भारी नुकसान हुआ है। इस दौरान 393 पशु-पक्षिओं की भी मौत हुई। भूस्खलन से सबसे ज्यादा 21 लोगों की जान गई। इनमें भी कांगड़ा और किन्नौर में दस व नौ, जबकि शिमला में दो लोगों की मौत हुई। बाढ़ व बादल फटने की घटना से लाहौल-स्पीति में सात और चंबा में दो लोगों की जान चली गई। डूबने से कांगड़ा में आठ, कुल्लू में तीन, लाहौल-स्पीति, शिमला, हमीरपुर व एक-एक, जबकि कुल्लू, मंडी में तीन-तीन और बिलासपुर में दो लोगों की मौत हो गई।

यह भी पढ़ें :   सैलानियों के लिए सीमाएँ खुलते ही हिमाचल में लगा जमावड़ा, सरकार ने फिर सख्त किये नियम
यह भी पढ़ें :   देवेंद्र फडणवीस ने की ट्रांसफर-पोस्टिंग रैकेट की सीबीआई जांच कराने की मांग

हिमाचल प्रदेश में जारी भारी बारिश के बावजूद मानसून सीजन में अभी तक सामान्य से चार फीसदी कम बारिश दर्ज हुई है। प्रदेश में 13 जून को मानसून ने प्रवेश किया था। 28 जुलाई तक हिमाचल प्रदेश में 333.9 मिलीमीटर बारिश रिकॉर्ड हुई है। इस अवधि के लिए सामान्य बारिश 346.3 मिलीमीटर को माना गया है।

हमीरपुर, कांगड़ा, मंडी और कुल्लू जिला के अलावा अन्य जिलों में सामान्य से कम बादल बरसे हैं। कुल्लू जिले में अभी तक सबसे अधिक सामान्य से 56 फीसदी, कांगड़ा में 16, हमीरपुर और मंडी में एक-एक फीसदी अधिक बारिश रिकॉर्ड हुई है। उधर, बिलासपुर में 6 फीसदी, चंबा में 36, किन्नौर में 10, लाहौल- स्पीति में 53, शिमला में एक, सिरमौर-ऊना में छह और सोलन में सात फीसदी कम बादल बरसे हैं।

यह भी पढ़ें :   ऑब्जेक्टिव क्राइटेरिया के आधार पर जारी किये जायेंगे 12वीं के रिजल्ट

Latest news

पंजाब विधानसभा चुनाव से पहले शिअद और बसपा के बीच 4 सीटों पर हुई अदला-बदली

शिरोमणि अकाली दल और बहुजन समाज पार्टी ने पंजाब विधानसभा 2022 के लिए चार सीटों पर हिस्‍सेदारी में बदलाव किया है। शिअद- बसपा गठबंधन...

आयकर से जुड़े मामले में कैप्टन अमरिंदर सिंह को हाईकोर्ट से बड़ी राहत

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को आयकर से जुड़े मामले में बड़ी राहत मिली है। पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट ने कैप्‍टन के...

एयर प्यूरीफिकेशन टावर की दुनिया कायल, शुद्ध करेगी चंडीगढ़ की हवा

चंडीगढ़ शहर के ट्रांसपोर्ट चौक पर तैयार किए गए एयर प्यूरीफिकेशन टावर की दुनिया कायल हो गई है। कई शहरों में अब ऐसे ही...

धर्मशाला हिमाचल प्रदेश की दूसरी राजधानी बनेगी या नहीं? महाराष्ट्र सरकार करेगी फैसला !

धर्मशाला हिमाचल प्रदेश की दूसरी राजधानी बनेगी या नहीं, इसका फैसला जयराम सरकार महाराष्ट्र सरकार से मांगी गई जानकारी आने के बाद करेगी। प्रदेश...

Related news

यह भी पढ़ें :   सैलानियों के लिए सीमाएँ खुलते ही हिमाचल में लगा जमावड़ा, सरकार ने फिर सख्त किये नियम

पंजाब विधानसभा चुनाव से पहले शिअद और बसपा के बीच 4 सीटों पर हुई अदला-बदली

शिरोमणि अकाली दल और बहुजन समाज पार्टी ने पंजाब विधानसभा 2022 के लिए चार सीटों पर हिस्‍सेदारी में बदलाव किया है। शिअद- बसपा गठबंधन...

आयकर से जुड़े मामले में कैप्टन अमरिंदर सिंह को हाईकोर्ट से बड़ी राहत

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को आयकर से जुड़े मामले में बड़ी राहत मिली है। पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट ने कैप्‍टन के...

एयर प्यूरीफिकेशन टावर की दुनिया कायल, शुद्ध करेगी चंडीगढ़ की हवा

चंडीगढ़ शहर के ट्रांसपोर्ट चौक पर तैयार किए गए एयर प्यूरीफिकेशन टावर की दुनिया कायल हो गई है। कई शहरों में अब ऐसे ही...

धर्मशाला हिमाचल प्रदेश की दूसरी राजधानी बनेगी या नहीं? महाराष्ट्र सरकार करेगी फैसला !

धर्मशाला हिमाचल प्रदेश की दूसरी राजधानी बनेगी या नहीं, इसका फैसला जयराम सरकार महाराष्ट्र सरकार से मांगी गई जानकारी आने के बाद करेगी। प्रदेश...