Thursday, December 9, 2021

हिमाचल : कोरोना के डर से अपनों की अस्थियां ले जाने में झिझक रहे लोग

हिमाचल प्रदेश में कोरोना के शुरुआती दौर में इस बीमारी का काफी खौफ था. फिर बीच में लोग इस बीमारी को हल्के में लेने लगे. एक बार फिर से अब मामले और मौतें बढ़ने के बाद कोरोना का खौफ बढ़ा है. आलम यह है कि प्रदेश की राजधानी शिमला में अब लोग कोरोना संक्रमितों की अस्थियां लेने से कतरा रहे हैं. शिमला के श्मशानघाट में कोरोना वायरस की वजह से मरने वालों के परिजन मृतक की अस्थियां और राख तक नहीं ले रहे हैं. जबकि हिंदू रीति-रिवाज में अस्थियों का नदियों में विसर्जन का महत्व है.

यह भी पढ़ें :   BCCI ने घरेलू क्रिकेट के लिए जारी किया नया कार्यक्रम, जानिए 2021-22 का शेड्यूल

शिमला में कोरोना से अब तक 171 लोगों ने जान गंवाई हैं. मृतकों में दूसरे जिलों के भी लोग शामिल हैं. लेकिन प्रोटोकोल के हिसाब से शवों का नजदीकी श्मशानघाट में ही संस्कार किया जाता है. ऐसे में शिमला के कनलोग में संस्कार किया जा रहा है. कनलोग मोक्ष धाम के लॉकर में 65 लोगों के अस्थि कलश पड़े हुए हैं. इन्हें लेने से लोग कतरा रहे हैं. यहां के कर्मी परिजनों को फोन कर रहे है, लेकिन कोई अस्थियां लेने नहीं आ रहा है. मोक्ष धाम की देख रेख सूद सभा करती है. अब सूद सभा ने अस्थियों का सामूहिक विसर्जन करने फैसला लिया है.

यह भी पढ़ें :   वायरल ऑडियो मामले में बीजेपी की 2 महिला नेताओं की गई कुर्सी
यह भी पढ़ें :   देश में थोड़ी राहत, कोरोना वायरस के वैरिएंट भी अब धीरे-धीरे होने लगे निष्क्रिय

सूद सभा के अध्यक्ष संजय सूद ने कहा कि मोक्ष धाम में हर रोज चार से पांच कोरोना संक्रमितों का दाह संस्कार किया जाता है. यहां कर्मी तैनात किए गए हैं. लोग अस्थियां लेने से डर रहे हैं. 65 लोगों की अस्थियां लॉकर में रखी हुई हैं. अब सभा इनका सामूहिक विसर्जन खुद करेगी और जिला प्रशासन को इसके बारे में पहले अवगत करवा दिया जाएगा.

Latest news

कल लगेगा 580 सालों बाद साल 2021 का अंतिम और सबसे लम्बा चंद्र ग्रहण

साल 2021 का अंतिम चंद्र ग्रहण देश के कई हिस्सों में शुक्रवार यानी 19 नवंबर को देखा जाएगा। भारत समेत दुनिया के कई देशों...
यह भी पढ़ें :   सरकार ने बताया उपाय कैसे बचेंगे कोरोना की तीसरी लहर से

भारतीय सेना देश की हर एक इंच जमीन की रक्षा करने में सक्षम : राजनाथ सिंह

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि भारतीय सेना देश की हर एक इंच जमीन की रक्षा करने में सक्षम है। अगर किसी देश...

मंडी की जोई ठाकुर ने मिस हिमालय 2021 का खिताब किया अपने नाम

मंडी जिला से सबंध रखने वाली जोई ठाकुर ने मिस हिमालय 2021 का खिताब अपने नाम कर हिमाचल और मंडी का नाम रोशन किया...

प्रदूषण का असर : गुरुग्राम, फरीदाबाद, झज्जर व सोनीपत में अगले आदेश तक स्कूल बंद

हरियाणा के चार जिलों गुरुग्राम, फरीदाबाद, झज्जर व सोनीपत में अगले आदेश तक स्कूल बंद रहेंगे। एनसीआर में बढ़ते प्रदूषण से बचाव के लिए...

Related news

कल लगेगा 580 सालों बाद साल 2021 का अंतिम और सबसे लम्बा चंद्र ग्रहण

साल 2021 का अंतिम चंद्र ग्रहण देश के कई हिस्सों में शुक्रवार यानी 19 नवंबर को देखा जाएगा। भारत समेत दुनिया के कई देशों...
यह भी पढ़ें :   मंडी लोकसभा सीट से बीजेपी सांसद की दिल्ली निवास में संदिग्ध मौत

भारतीय सेना देश की हर एक इंच जमीन की रक्षा करने में सक्षम : राजनाथ सिंह

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि भारतीय सेना देश की हर एक इंच जमीन की रक्षा करने में सक्षम है। अगर किसी देश...

मंडी की जोई ठाकुर ने मिस हिमालय 2021 का खिताब किया अपने नाम

मंडी जिला से सबंध रखने वाली जोई ठाकुर ने मिस हिमालय 2021 का खिताब अपने नाम कर हिमाचल और मंडी का नाम रोशन किया...

प्रदूषण का असर : गुरुग्राम, फरीदाबाद, झज्जर व सोनीपत में अगले आदेश तक स्कूल बंद

हरियाणा के चार जिलों गुरुग्राम, फरीदाबाद, झज्जर व सोनीपत में अगले आदेश तक स्कूल बंद रहेंगे। एनसीआर में बढ़ते प्रदूषण से बचाव के लिए...