Friday, September 17, 2021

हाथरस केस में अब पीड़ित परिवार ने की दिल्ली में ट्रायल की मांग !

सुप्रीम कोर्ट में गुरुवार को हाथरस गैंगरेप कांड को लेकर सुनवाई हुई. इस दौरान उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से पीड़ित परिवार को दी गई सुरक्षा के बारे में जानकारी सौंपी गई. पीड़ित परिवार की ओर से सुप्रीम कोर्ट में वकील सीमा कुशवाहा पेश हुईं. उन्होंने अदालत से अपील की है कि इस केस का ट्रायल दिल्ली में ही होना चाहिए. जिसपर फैसला सुरक्षित रख लिया गया है.

गुरुवार को सुनवाई शुरू होने पर सीमा कुशवाहा की ओर से मांग की गई कि सीबीआई की अपनी जांच की रिपोर्ट सीधे सुप्रीम कोर्ट को सौंपनी चाहिए, साथ ही स्टेटस रिपोर्ट भी देनी चाहिए. इसके अलावा उन्होंने कहा कि पीड़ित परिवार और गवाहों की सुरक्षा को सुनिश्चित किया जाना चाहिए. मामले की जांच पूरी होने के बाद केस का ट्रायल दिल्ली में ही होना चाहिए.

यह भी पढ़ें :   IPL 2020 : आज होगा महामुकाबला, जीत के लिए आपस में टकराएंगे दिल्ली और मुंबई

सुप्रीम कोर्ट ने अभी इस मामले पर अपना फैसला सुरक्षित रख लिया है. सर्वोच्च अदालत ये बताएगी कि केस से जुड़ी सभी याचिकाएं सुप्रीम कोर्ट सुनेगी या फिर हाईकोर्ट. इसके अलावा ट्रायल दिल्ली में होगा या यूपी में ही होगा. इसके अलावा परिवार की सुरक्षा राज्य सरकार की एजेंसी करेगी या फिर केंद्रीय एजेंसी.

यह भी पढ़ें :   कोरोना के चलते अब अब राजस्थान में भी पाबंदी, जोधपुर में धारा 144 लागू

आपको बता दें कि हाथरस केस को लेकर एक सुनवाई इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच में भी हो रही है. लेकिन यहां पर परिवार की सुरक्षा को लेकर याचिका दायर की गई थी. जिसपर पिछली सुनवाई में सुप्रीम कोर्ट में यूपी सरकार से जवाब मांगा था, अब सरकार ने अपना हलफनामा सौंप दिया है.

यह भी पढ़ें :   बिहार विधानसभा चुनाव के नतीजों से पहले कैबिनेट में बड़ा फेरबदल, दो मंत्रियों की छुट्टी

अदालत में यूपी पुलिस की ओर से पेश वकील ने कोर्ट को भरोसा दिलाया है कि सुरक्षा को लेकर अदालत जो भी आदेश देगी, उसका पालन किया जाएगा. आरोपी और पीड़ित पक्ष के अलावा सुप्रीम कोर्ट में कुछ एनजीओ ने भी अपनी बात कहनी चाही लेकिन अदालत ने सभी को हाईकोर्ट जाने के लिए कह दिया.

गौरतलब है कि इस मामले में अभी सीबीआई की जांच चल रही है. सीबीआई की टीम पिछले तीन दिनों से हाथरस में ही है और पीड़िता के परिवार से लेकर आरोपी के परिवार से सवाल कर रही है.

यह भी पढ़ें :   हाथरस मामला : पीड़ित परिवार से मिले अवनीश अवस्थी और एडीजी प्रशांत कुमार

Latest news

पंजाब विधानसभा चुनाव से पहले शिअद और बसपा के बीच 4 सीटों पर हुई अदला-बदली

शिरोमणि अकाली दल और बहुजन समाज पार्टी ने पंजाब विधानसभा 2022 के लिए चार सीटों पर हिस्‍सेदारी में बदलाव किया है। शिअद- बसपा गठबंधन...

आयकर से जुड़े मामले में कैप्टन अमरिंदर सिंह को हाईकोर्ट से बड़ी राहत

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को आयकर से जुड़े मामले में बड़ी राहत मिली है। पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट ने कैप्‍टन के...

एयर प्यूरीफिकेशन टावर की दुनिया कायल, शुद्ध करेगी चंडीगढ़ की हवा

चंडीगढ़ शहर के ट्रांसपोर्ट चौक पर तैयार किए गए एयर प्यूरीफिकेशन टावर की दुनिया कायल हो गई है। कई शहरों में अब ऐसे ही...

धर्मशाला हिमाचल प्रदेश की दूसरी राजधानी बनेगी या नहीं? महाराष्ट्र सरकार करेगी फैसला !

धर्मशाला हिमाचल प्रदेश की दूसरी राजधानी बनेगी या नहीं, इसका फैसला जयराम सरकार महाराष्ट्र सरकार से मांगी गई जानकारी आने के बाद करेगी। प्रदेश...

Related news

यह भी पढ़ें :   अब UP में भी कोरोना को लेकर सख्त हुए नियम, 10 जिलों में नाईट कर्फ्यू

पंजाब विधानसभा चुनाव से पहले शिअद और बसपा के बीच 4 सीटों पर हुई अदला-बदली

शिरोमणि अकाली दल और बहुजन समाज पार्टी ने पंजाब विधानसभा 2022 के लिए चार सीटों पर हिस्‍सेदारी में बदलाव किया है। शिअद- बसपा गठबंधन...

आयकर से जुड़े मामले में कैप्टन अमरिंदर सिंह को हाईकोर्ट से बड़ी राहत

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को आयकर से जुड़े मामले में बड़ी राहत मिली है। पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट ने कैप्‍टन के...

एयर प्यूरीफिकेशन टावर की दुनिया कायल, शुद्ध करेगी चंडीगढ़ की हवा

चंडीगढ़ शहर के ट्रांसपोर्ट चौक पर तैयार किए गए एयर प्यूरीफिकेशन टावर की दुनिया कायल हो गई है। कई शहरों में अब ऐसे ही...

धर्मशाला हिमाचल प्रदेश की दूसरी राजधानी बनेगी या नहीं? महाराष्ट्र सरकार करेगी फैसला !

धर्मशाला हिमाचल प्रदेश की दूसरी राजधानी बनेगी या नहीं, इसका फैसला जयराम सरकार महाराष्ट्र सरकार से मांगी गई जानकारी आने के बाद करेगी। प्रदेश...