Friday, September 17, 2021

हाथरस केस : रेप सैम्पल पर राय देने के चलते अलीगढ़ मेडिकल कॉलेज के दो डॉक्टर टर्मिनेट

हाथरस गैंगरेप और मर्डर मामले में सीबीआई की छानबीन जारी है. इस बीच, अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल में लीव वैकेंसी पर काम कर रहे दो डॉक्टरों को तत्काल प्रभाव से टर्मिनेट कर दिया गया है. एएमयू के वीसी के आदेश से इन दोनों डॉक्टरों को टर्मिनेट किया गया है.

जेएन मेडिकल कॉलेज की इमरजेंसी और ट्रॉमा में कार्यकारी सीएमओ के पद पर कार्य कर रहे डॉ अजीम और डॉ ओबैद को यूनिवर्सिटी वीसी प्रोफेसर तारिक मंसूर के आदेश से टर्मिनेट कर दिया गया है.

डॉ अजीम ने हाथरस मामले को लेकर अपनी राय रखी थी. उन्होंने बताया था कि 10 से 12 दिन में अगर सैम्पल कलेक्ट किया जाता है तो उसमें रेप की पुष्टि करना मुमकिन नहीं है. वहीं सोमवार को हाथरस मामले को लेकर सीबीआई की टीम ने भी जेएन मेडिकल कॉलेज में छानबीन की थी. सीबीआई की टीम ने सात घंटे से अधिक समय तक मेडिकल कॉलेज में डॉक्टरों से पूछताछ की थी.

यह भी पढ़ें :   मौजूदा हालात में भारत से कारोबार पर पाकिस्तान के मुख्यमंत्री की ना

वहीं दोनों डॉक्टरों का कहना है कि उन्हें किस वजह से टर्मिनेट किया गया है, इसके बारे में जानकारी नहीं दी गई है. डॉक्टरों ने कहा कि अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज में कार्यरत छह डॉक्टरों के कोरोना संक्रमित होने पर उनको ड्यूटी पर बुलाया गया था. उस भयंकर कोरोना संक्रमण के दौर में कोई भी यहां ड्यूटी करना नहीं चाहता था, तब हमने यहां ड्यूटी की.

यह भी पढ़ें :   क्या Black Fungus भी एक व्यक्ति से दूसरे को फैलता है? जानिए जवाब

डॉक्टरों ने कहा कि इसी दौरान ढाई महीने बाद हाथरस कांड हुआ जिसमें हमने मीडिया को कोई इंटरव्यू नहीं दिया. मीडियाकर्मी ने फोन करके फॉरेंसिक संबंधित कोई राय पूछी तो दे दी गई. इस तरह की राय हम डॉक्टर की हैसियत से दे सकते हैं. सोमवार को सीबीआई की टीम भी आई थी. लेकिन सीबीआई टीम की हमसे कोई डायरेक्ट बात नहीं हुई.

यह भी पढ़ें :   हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री को खालिस्तान समर्थकों की धमकी!

डॉक्टरों ने बताया कि आज हमको सीएमओ मेडिकल इंचार्ज डॉक्टर एस.ए.एच. जैदी ने लिखित रूप से अवगत कराया कि एएमयू वीसी ने उनको टेलीफोन पर निर्देशित किया है कि आज से हम दोनों डॉक्टरों की सेवाएं समाप्त की जाती हैं. हम दूसरी जगह से नौकरी छोड़ कर आए और यहां कोविड-19 काल मैं ड्यूटी ज्वॉइन कर अपनी सेवाएं दीं. उस दौरान सेवाएं दीं जब यहां कोई काम करने को तैयार नहीं था.

डॉक्टरों ने कहा कि किस कारण से हमारी सेवाएं समाप्त की गई हैं, यह हमें बताया जाए? हमारी स्वतंत्रता की आवाज दबाई जाने की कोशिश की जा रही है तो हमने भी वीसी साहब को पत्र लिखा है और वह हमारे भविष्य के हित में सोचेंगे यह हमें उनसे उम्मीद है.

यह भी पढ़ें :   क्या Black Fungus भी एक व्यक्ति से दूसरे को फैलता है? जानिए जवाब

Latest news

पंजाब विधानसभा चुनाव से पहले शिअद और बसपा के बीच 4 सीटों पर हुई अदला-बदली

शिरोमणि अकाली दल और बहुजन समाज पार्टी ने पंजाब विधानसभा 2022 के लिए चार सीटों पर हिस्‍सेदारी में बदलाव किया है। शिअद- बसपा गठबंधन...

आयकर से जुड़े मामले में कैप्टन अमरिंदर सिंह को हाईकोर्ट से बड़ी राहत

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को आयकर से जुड़े मामले में बड़ी राहत मिली है। पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट ने कैप्‍टन के...

एयर प्यूरीफिकेशन टावर की दुनिया कायल, शुद्ध करेगी चंडीगढ़ की हवा

चंडीगढ़ शहर के ट्रांसपोर्ट चौक पर तैयार किए गए एयर प्यूरीफिकेशन टावर की दुनिया कायल हो गई है। कई शहरों में अब ऐसे ही...

धर्मशाला हिमाचल प्रदेश की दूसरी राजधानी बनेगी या नहीं? महाराष्ट्र सरकार करेगी फैसला !

धर्मशाला हिमाचल प्रदेश की दूसरी राजधानी बनेगी या नहीं, इसका फैसला जयराम सरकार महाराष्ट्र सरकार से मांगी गई जानकारी आने के बाद करेगी। प्रदेश...

Related news

यह भी पढ़ें :   IPL खलेने चेन्नई पहुंचे धोनी, CSK के कैप्टन का ग्रैंड वेलकम

पंजाब विधानसभा चुनाव से पहले शिअद और बसपा के बीच 4 सीटों पर हुई अदला-बदली

शिरोमणि अकाली दल और बहुजन समाज पार्टी ने पंजाब विधानसभा 2022 के लिए चार सीटों पर हिस्‍सेदारी में बदलाव किया है। शिअद- बसपा गठबंधन...

आयकर से जुड़े मामले में कैप्टन अमरिंदर सिंह को हाईकोर्ट से बड़ी राहत

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को आयकर से जुड़े मामले में बड़ी राहत मिली है। पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट ने कैप्‍टन के...

एयर प्यूरीफिकेशन टावर की दुनिया कायल, शुद्ध करेगी चंडीगढ़ की हवा

चंडीगढ़ शहर के ट्रांसपोर्ट चौक पर तैयार किए गए एयर प्यूरीफिकेशन टावर की दुनिया कायल हो गई है। कई शहरों में अब ऐसे ही...

धर्मशाला हिमाचल प्रदेश की दूसरी राजधानी बनेगी या नहीं? महाराष्ट्र सरकार करेगी फैसला !

धर्मशाला हिमाचल प्रदेश की दूसरी राजधानी बनेगी या नहीं, इसका फैसला जयराम सरकार महाराष्ट्र सरकार से मांगी गई जानकारी आने के बाद करेगी। प्रदेश...