Tuesday, July 27, 2021

हाथरस केस में पुलिससिया कार्रवाई से खफा हाईकोर्ट, दिखाई तल्खी

हाथरस गैंगरेप कांड को लेकर सोमवार को इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच में सुनवाई हुई. दो जजों की बेंच के सामने पीड़िता के परिवार ने अपना पक्ष रखा. साथ ही उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से भी कई अधिकारी अदालत में मौजूद रहे. हाईकोर्ट में आज की सुनवाई खत्म हो गई है.

हाईकोर्ट ने पुलिस की कार्रवाई पर नाराजगी जताई है. इस मामले की सुनवाई 2 नवंबर को होगी. पीड़िता के परिजनों ने कोर्ट में भी कहा कि अंतिम संस्कार उनकी सहमति के बिना रात के समय कर दिया गया. परिजनों ने यह भी कहा कि अंतिम संस्कार में हमें शामिल तक नहीं किया गया. परिजनों ने आगे जांच में फंसाए जाने की आशंका जताई और साथ ही सुरक्षा को लेकर भी चिंता जताई.

यह भी पढ़ें :   हाथरस मामले में अगली सुनवाई 12 को, सवालों के घेरे में यूपी सरकार

पीड़ित परिवार की ओर से अंतिम संस्कार को लेकर लगाए गए आरोप पर जिलाधिकारी (डीएम) कहा कि वहां काफी लोग जमा थे. कानून-व्यवस्था बिगड़ने की वजह से अंतिम संस्कार का फैसला लिया. डीएम के बयान के दौरान पीड़िता के परिजनों ने टोकते हुए सवाल किया कि वहां भारी तादाद में पुलिस बल मौजूद था तो कानून व्यवस्था कैसे खराब होती?

यह भी पढ़ें :   गैंगस्टर कुलबीर नरुआना की हत्या मामले में आरोपी का फेसबुक के जरिए कबूलनामा

अगली सुनवाई के दिन पीड़िता के परिजनों के आरोप पर बहस होगी. अदालत की ओर से इस मामले का स्वत: संज्ञान लिया गया था, जिसमें परिवार और सरकार का पक्ष पूछा गया था. गौरतलब है कि इस मसले को लेकर परशुराम सेना ने भी सुप्रीम कोर्ट में जनहित याचिका दायर किया है, जिसपर अगली सुनवाई 15 अक्टूबर को होनी है.

यह भी पढ़ें :   प्रवासी मजदूरों के लिए 32 राज्यों व क्रेंद्र शासित प्रदेशों ने लागू की सरकारी योजना

पिछली सुनवाई के दौरान सर्वोच्च न्यायालय ने यूपी सरकार से तीन सवाल पूछे थे. कोर्ट ने यूपी सरकार से पूछा था कि पीड़ित परिवार और गवाहों की सुरक्षा के क्या इंतजाम किए गए हैं? क्या पीड़ित परिवार के पास पैरवी के लिए कोई वकील है? इलाहाबाद हाईकोर्ट में मुकदमे की क्या स्थिति है? यूपी सरकार की ओर से पैरवी करते हुए सॉलिसीटर जनरल तुषार मेहता ने कोर्ट में कहा था कि वे इन सवालों के जवाब 8 अक्टूबर तक दे देंगे. 8 अक्टूबर की तिथि को गुजरे चार दिन हो गए, लेकिन यपी सरकार कोर्ट के सवालों के जवाब अब तक नहीं दे पाई है.

यह भी पढ़ें :   जानबूझकर रिपब्लिकन सीनेटर ने कमला हैरिस के नाम का उड़ाया मजाक !

Latest news

बेरोज़गारी के मुद्दे पर भूपेंद्र सिंह हुड्डा और मुख्यमंत्री मनोहर लाल आमने-सामने

हरियाणा में बेरोजगारी के आंकड़ों पर एक बार फिर पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा और मुख्यमंत्री मनोहर लाल आमने-सामने हैं। हुड्डा ने सेंटर फार...

यूपी, पंजाब और उत्तराखंड सहित कई चुनावी राज्यों में शुरू हो सकता है किसान आंदोलन

पिछले करीब 1 साल से दिल्ली की बॉर्डर पर जारी किसान आंदोलन जल्द ही यूपी, पंजाब और उत्तराखंड सहित कई चुनावी राज्यों में भी...

करगिल विजय के 22 साल पर जानिए क्या बोले पूर्व सेना प्रमुख जनरल वीपी मलिक

करगिल युद्ध के समय भारतीय सेना के प्रमुख रहे जनरल वीपी मलिक ने 22 साल पहले लड़े गए इस युद्ध को याद करते हुए...

पोर्न मूवीज मामले में राज कुंद्रा की गिरफ्तारी के बाद हुआ हैरान कर देने वाला खुलासा, जानिए !

पोर्न मूवीज मामले में राज कुंद्रा की गिरफ्तारी के बाद कुछ संदिग्ध जानकारियां सामने आ रही हैं। मुंबई क्राइम ब्रांच का दावा है कि...

Related news

यह भी पढ़ें :   अयोध्या के बाद अब मथुरा मंदिर का मामला कोर्ट में, मस्जिद हटाने की मांग

बेरोज़गारी के मुद्दे पर भूपेंद्र सिंह हुड्डा और मुख्यमंत्री मनोहर लाल आमने-सामने

हरियाणा में बेरोजगारी के आंकड़ों पर एक बार फिर पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा और मुख्यमंत्री मनोहर लाल आमने-सामने हैं। हुड्डा ने सेंटर फार...

यूपी, पंजाब और उत्तराखंड सहित कई चुनावी राज्यों में शुरू हो सकता है किसान आंदोलन

पिछले करीब 1 साल से दिल्ली की बॉर्डर पर जारी किसान आंदोलन जल्द ही यूपी, पंजाब और उत्तराखंड सहित कई चुनावी राज्यों में भी...

करगिल विजय के 22 साल पर जानिए क्या बोले पूर्व सेना प्रमुख जनरल वीपी मलिक

करगिल युद्ध के समय भारतीय सेना के प्रमुख रहे जनरल वीपी मलिक ने 22 साल पहले लड़े गए इस युद्ध को याद करते हुए...

पोर्न मूवीज मामले में राज कुंद्रा की गिरफ्तारी के बाद हुआ हैरान कर देने वाला खुलासा, जानिए !

पोर्न मूवीज मामले में राज कुंद्रा की गिरफ्तारी के बाद कुछ संदिग्ध जानकारियां सामने आ रही हैं। मुंबई क्राइम ब्रांच का दावा है कि...