Friday, January 28, 2022

पद छोड़ने के बाद कृषि कानूनों को लेकर मैदान में हरसिमरत, बोलीं …

केंद्र सरकार के कृषि कानूनों के विरोध में मंगलवार को सांसद हरसिमरत कौर बादल ने गांव गिलपत्ती में अकाली नेताओं और कार्यकर्ताओं संग बैठक की। बैठक के बाद सांसद बादल ने कहा कि शिअद पंजाब के लोगों और किसानों के लिए हर कुर्बानी देने को तैयार है। कृषि कानून को लेकर अभी किसानों और शिअद को बड़ी-बड़ी ताकतों का सामना करना है। यह तभी संभव हो सकता, जब सभी राजनीतिक दल एक मंच पर आ जाएं।

यह भी पढ़ें :   किन्नौर के निगुलसरी में हादसा, HRTC की बस पर गिरा पत्थर; 2 की मौत

उन्होंने कहा कि अगर उक्त कानून को लेकर जुलाई 2019 में मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह केंद्रीय कमेटी को अपनी सहमति न देते तो आज यह दिन देखना न पड़ता। उन्होंने आरोप लगाया कि कैप्टन और वित्तमंत्री मनप्रीत बादल के बोए कांटों के कारण प्रदेश का किसान सड़कों पर है। कांग्रेस सरकार ने 28 अगस्त को कृषि कानून के विरोध में प्रस्ताव पास किया था, वो भी केंद्र सरकार को नहीं भेजा गया। अगर शिअद नेता राष्ट्रपति से इस कानून के विरोध में मिल सकते हैं तो कैप्टन क्यों नहीं मिलने गए।

यह भी पढ़ें :   घाटी में पर्यटन को बढ़ावा देने की कवायद तेज़, अंतरराष्ट्रीय स्तर के बनेंगे राजमार्ग
यह भी पढ़ें :   अकाली दल को भाजपा के अंदर रह कर लड़नी थी लड़ाईः शैलजा

यूथ कांग्रेस नेताओं की ओर से दिल्ली में ट्रैक्टर जलाने पर सांसद ने कहा कि यह लोग सिर्फ किसानों के संघर्ष का तमाशा बना रहे हैं। खुद को नेशनल मीडिया में लाने के चक्कर में ऐसे घटिया काम को अंजाम दे रहे। सांसद बादल ने कहा कि अगर कांग्रेस सच में किसानों के हक में है तो पंजाब में सरकारी मंडी का एलान करे, जिसका अधिकार राज्य सरकार के पास है।

Latest news

चुनाव लडऩे वाले उम्मीदवार और संबंधित राजनीतिक पार्टी द्वारा भी उम्मीदवार की आपराधिक पृष्ठभूमि सम्बन्धी जानकारी देना अनिवार्य: मुख्य निर्वाचन अधिकारी पंजाब

चुनाव लडऩे वाले उम्मीदवार और संबंधित राजनीतिक पार्टी द्वारा इलाके में प्रचलित अखबारों में एक घोषणा पत्र जारी कर और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया पर व्यापक...
यह भी पढ़ें :   पंजाब कांग्रेस का प्रधान बदलने के बाद अब कैप्टन मंत्रिमंडल में फेरबदल की तैयारी!

पंजाब विधानसभा चुनाव 2022: आदर्श चुनाव आचार संहिता लागू होने के उपरांत राज्य में 82.62 करोड़ रुपए की संपत्ति ज़ब्त: मुख्य निर्वाचन अधिकारी पंजाब

पंजाब विधानसभा चुनाव के मद्देनजऱ राज्य में आदर्श चुनाव आचार संहिता लागू होने के उपरांत अलग-अलग एनफोर्समेंट टीमों द्वारा राज्य में 26 जनवरी, 2022...

आबकारी विभाग का अवैध शराब कारोबारियों की छापेमारी जारी – 6126 पेटी बरामद

26 जनवरी 2022 को अवकाश होने के बावजूद राज्य कर एवं आबकारी विभाग द्वारा अलग-अलग टीमों का गठन कर प्रदेश के विभिन्न जिलों में...

पंजाब विधानसभा चुनाव 2022: दूसरे दिन दाखि़ल हुए 91 नामांकन

मुख्य निर्वाचन अधिकारी पंजाब द्वारा ‘नो यूअर कैंडीडेट’ मोबाइल ऐप का अधिक से अधिक प्रयोग करने का किया । आग्रहपंजाब के मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सी.ई.ओ.)...

Related news

चुनाव लडऩे वाले उम्मीदवार और संबंधित राजनीतिक पार्टी द्वारा भी उम्मीदवार की आपराधिक पृष्ठभूमि सम्बन्धी जानकारी देना अनिवार्य: मुख्य निर्वाचन अधिकारी पंजाब

चुनाव लडऩे वाले उम्मीदवार और संबंधित राजनीतिक पार्टी द्वारा इलाके में प्रचलित अखबारों में एक घोषणा पत्र जारी कर और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया पर व्यापक...
यह भी पढ़ें :   इस्तीफा देने के बाद श्री मुक्तसर साहिब पहुंची हरसिमरत कौर बादल

पंजाब विधानसभा चुनाव 2022: आदर्श चुनाव आचार संहिता लागू होने के उपरांत राज्य में 82.62 करोड़ रुपए की संपत्ति ज़ब्त: मुख्य निर्वाचन अधिकारी पंजाब

पंजाब विधानसभा चुनाव के मद्देनजऱ राज्य में आदर्श चुनाव आचार संहिता लागू होने के उपरांत अलग-अलग एनफोर्समेंट टीमों द्वारा राज्य में 26 जनवरी, 2022...

आबकारी विभाग का अवैध शराब कारोबारियों की छापेमारी जारी – 6126 पेटी बरामद

26 जनवरी 2022 को अवकाश होने के बावजूद राज्य कर एवं आबकारी विभाग द्वारा अलग-अलग टीमों का गठन कर प्रदेश के विभिन्न जिलों में...

पंजाब विधानसभा चुनाव 2022: दूसरे दिन दाखि़ल हुए 91 नामांकन

मुख्य निर्वाचन अधिकारी पंजाब द्वारा ‘नो यूअर कैंडीडेट’ मोबाइल ऐप का अधिक से अधिक प्रयोग करने का किया । आग्रहपंजाब के मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सी.ई.ओ.)...