Saturday, October 16, 2021

पद छोड़ने के बाद कृषि कानूनों को लेकर मैदान में हरसिमरत, बोलीं …

केंद्र सरकार के कृषि कानूनों के विरोध में मंगलवार को सांसद हरसिमरत कौर बादल ने गांव गिलपत्ती में अकाली नेताओं और कार्यकर्ताओं संग बैठक की। बैठक के बाद सांसद बादल ने कहा कि शिअद पंजाब के लोगों और किसानों के लिए हर कुर्बानी देने को तैयार है। कृषि कानून को लेकर अभी किसानों और शिअद को बड़ी-बड़ी ताकतों का सामना करना है। यह तभी संभव हो सकता, जब सभी राजनीतिक दल एक मंच पर आ जाएं।

यह भी पढ़ें :   जम्मू-कश्मीर पर सर्वदलीय बैठक शुरू, PM मोदी के साथ सभी नेता मौजूद

उन्होंने कहा कि अगर उक्त कानून को लेकर जुलाई 2019 में मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह केंद्रीय कमेटी को अपनी सहमति न देते तो आज यह दिन देखना न पड़ता। उन्होंने आरोप लगाया कि कैप्टन और वित्तमंत्री मनप्रीत बादल के बोए कांटों के कारण प्रदेश का किसान सड़कों पर है। कांग्रेस सरकार ने 28 अगस्त को कृषि कानून के विरोध में प्रस्ताव पास किया था, वो भी केंद्र सरकार को नहीं भेजा गया। अगर शिअद नेता राष्ट्रपति से इस कानून के विरोध में मिल सकते हैं तो कैप्टन क्यों नहीं मिलने गए।

यह भी पढ़ें :   कोरोना से बीजेपी के एक और नेता की मौत, सलोन विधानसभा सीट से विधायक की मौत
यह भी पढ़ें :   हिन्दुओं को लुभाने में जुटी शिअद-बसपा ने पंजाब में सरकार बनने पर हिन्दू उप-मुख्यमंत्री बनाने का किया वादा

यूथ कांग्रेस नेताओं की ओर से दिल्ली में ट्रैक्टर जलाने पर सांसद ने कहा कि यह लोग सिर्फ किसानों के संघर्ष का तमाशा बना रहे हैं। खुद को नेशनल मीडिया में लाने के चक्कर में ऐसे घटिया काम को अंजाम दे रहे। सांसद बादल ने कहा कि अगर कांग्रेस सच में किसानों के हक में है तो पंजाब में सरकारी मंडी का एलान करे, जिसका अधिकार राज्य सरकार के पास है।

Latest news

पंजाब में सत्ता परिवर्तन के साथ छलका सुनील जाखड़ का दर्द…

सुनील जाखड़ का पहले प्रधानगी पद गया और अब वे मुख्यमंत्री बनते-बनते रह गए। ऐसे में उनका दर्द छलक उठा, जिसके परिणामस्वरूप सुनील जाखड़...
यह भी पढ़ें :   Ease Of Living In शिमला को मिला पहला स्थान, रहने लायक शहरों में सबसे बेहतर

तख्तापलट के बाद भी पंजाब कांग्रेस में कलह बरकरार, सिद्धू और रंधावा के बीच अनबन

कैप्टन अमरिंदर सिंह के तख्तापलट के बाद भी पंजाब कांग्रेस में कलह थम नहीं रही है। अब प्रदेश प्रधान नवजोत सिद्धू और नए डिप्टी...

पंजाब में मुख्यमंत्री के बदलाव के साथ ही नौकरशाही में बदलाव शुरू

पंजाब के नए मुख्‍यमंत्री चरणजीत सिंह चन्‍नी ने नौकरशाही में बदलाव शुरू कर दिए हैं। इसके साथ ही कर्मचारियों को अब सुबह नौ बजे...

पंजाब के नए मुख्‍यमंत्री की पहली कैबिनेट मीटिंग, निचले वर्ग को मिले कई तोहफे

पंजाब के नए मुख्‍यमंत्री चरणजीत सिंह की कैबिनेट की पहली बैठक में कई मुद्दों पर चर्चा हुई। बैठक में कोई बड़ा फैसला तो नहीं...

Related news

पंजाब में सत्ता परिवर्तन के साथ छलका सुनील जाखड़ का दर्द…

सुनील जाखड़ का पहले प्रधानगी पद गया और अब वे मुख्यमंत्री बनते-बनते रह गए। ऐसे में उनका दर्द छलक उठा, जिसके परिणामस्वरूप सुनील जाखड़...
यह भी पढ़ें :   UPI ट्रांजेक्शन को लेकर केंद्र सरकार समेत इन नामी कंपनियों को SC का नोटिस

तख्तापलट के बाद भी पंजाब कांग्रेस में कलह बरकरार, सिद्धू और रंधावा के बीच अनबन

कैप्टन अमरिंदर सिंह के तख्तापलट के बाद भी पंजाब कांग्रेस में कलह थम नहीं रही है। अब प्रदेश प्रधान नवजोत सिद्धू और नए डिप्टी...

पंजाब में मुख्यमंत्री के बदलाव के साथ ही नौकरशाही में बदलाव शुरू

पंजाब के नए मुख्‍यमंत्री चरणजीत सिंह चन्‍नी ने नौकरशाही में बदलाव शुरू कर दिए हैं। इसके साथ ही कर्मचारियों को अब सुबह नौ बजे...

पंजाब के नए मुख्‍यमंत्री की पहली कैबिनेट मीटिंग, निचले वर्ग को मिले कई तोहफे

पंजाब के नए मुख्‍यमंत्री चरणजीत सिंह की कैबिनेट की पहली बैठक में कई मुद्दों पर चर्चा हुई। बैठक में कोई बड़ा फैसला तो नहीं...