Friday, January 28, 2022

कल से जाम होगा हाईवे, किसान नेताओं के घर के सामने करेंगे किसान प्रदर्शन

सरकार और किसानों के बीच अब तक पांच दौर की वार्ता हो चुकी है। सभी बातचीत बेनतीजा रही है। ऐसे में किसानों ने आंदोलन और तेज करने की धमकी दी है। इससे कल यानी 12 दिसंबर से लोगों की दिक्कत और बढ़ सकती है। वार्ता के लिए फिलहाल कोई अगली तारीख तय नहीं की गई है। सरकार को अपने प्रस्तावों पर किसान संगठनों के जवाब का इंतजार है। सरकार जहां कृषि कानूनों को वापस नहीं लेने की बात कही है, वहीं किसान कृषि कानून को रद्द किए जाने की मांग पर अडिग हैं। ऐसे में किसानों ने आंदोलन को और तेज करने की रूपरेखा भी तय कर ली है। इसके तहत किसानों ने कल से हाईवे बंद करने की घोषणा की है। साथ ही रेलवे ट्रैक बाधित करने की भी घोषणा की गई है, कुछ कंपनियों की फैक्ट्री बाधित करने की भी बात कही गई है। किसान संगठनों और संस्थाओं ने दिल्ली से सटे तमाम बॉर्डर को सील करने की चेतावनी जारी की है।

यह भी पढ़ें :   जंतर-मंतर नहीं बुराड़ी के निरंकारी ग्राउंड में किसानों को मिली धरने की परमिशन
यह भी पढ़ें :   French Open 2021: दुनिया के 2 मौजूदा महान खिलाड़ी होंगे आमने-सामने

सरकार पर और दबाव बनाने के लिए किसान अब दिल्ली-जयपुर हाईवे और दिल्ली-आगरा बॉर्डर को रोकने की कोशिश करेंगे। किसानों ने घोषणा की है कि 12 दिसंबर से दिल्ली जयपुर हाईवे और दिल्ली आगरा हाईवे को भी जाम किया जाएगा। किसानों ने 12 दिसंबर को देशभर के सभी टोल नाकों को भी टोल फ्री करने का एलान किया है। किसान संगठन हाईवे को जाम कर सरकार पर दबाव बनाना चाहते हैं। यदि देशभर के सभी टोल प्लाजा एक दिन के लिए भी मुक्‍त रहता है या उन पर आवाजाही बंद रहती है तो इससे सरकार को करोड़ों रुपए का नुकसान हो सकता है।

यह भी पढ़ें :   मौजूदा हालात में भारत से कारोबार पर पाकिस्तान के मुख्यमंत्री की ना

आगे की रणनीति के तहत किसानों ने 14 दिसंबर से जिला मुख्यालय पर जिलाधिकारी और सरकारी कार्यालयों को घेरने का भी प्लान बनाया है। किसानों की रणनीति का मकसद है कि केंद्र किसानों की तीनों कृषि कानून रद्द करने की मांगों को जल्द मानें।

Latest news

यह भी पढ़ें :   सिंधु बॉर्डर से हिलने को तैयार नहीं किसान, यहीं तैयार होगी रणनीति

चुनाव लडऩे वाले उम्मीदवार और संबंधित राजनीतिक पार्टी द्वारा भी उम्मीदवार की आपराधिक पृष्ठभूमि सम्बन्धी जानकारी देना अनिवार्य: मुख्य निर्वाचन अधिकारी पंजाब

चुनाव लडऩे वाले उम्मीदवार और संबंधित राजनीतिक पार्टी द्वारा इलाके में प्रचलित अखबारों में एक घोषणा पत्र जारी कर और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया पर व्यापक...

पंजाब विधानसभा चुनाव 2022: आदर्श चुनाव आचार संहिता लागू होने के उपरांत राज्य में 82.62 करोड़ रुपए की संपत्ति ज़ब्त: मुख्य निर्वाचन अधिकारी पंजाब

पंजाब विधानसभा चुनाव के मद्देनजऱ राज्य में आदर्श चुनाव आचार संहिता लागू होने के उपरांत अलग-अलग एनफोर्समेंट टीमों द्वारा राज्य में 26 जनवरी, 2022...

आबकारी विभाग का अवैध शराब कारोबारियों की छापेमारी जारी – 6126 पेटी बरामद

26 जनवरी 2022 को अवकाश होने के बावजूद राज्य कर एवं आबकारी विभाग द्वारा अलग-अलग टीमों का गठन कर प्रदेश के विभिन्न जिलों में...

पंजाब विधानसभा चुनाव 2022: दूसरे दिन दाखि़ल हुए 91 नामांकन

मुख्य निर्वाचन अधिकारी पंजाब द्वारा ‘नो यूअर कैंडीडेट’ मोबाइल ऐप का अधिक से अधिक प्रयोग करने का किया । आग्रहपंजाब के मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सी.ई.ओ.)...

Related news

यह भी पढ़ें :   किसान आंदोलन को आज 7 महीने पूरे, फिर उग्र हुआ देश भर में प्रदर्शन

चुनाव लडऩे वाले उम्मीदवार और संबंधित राजनीतिक पार्टी द्वारा भी उम्मीदवार की आपराधिक पृष्ठभूमि सम्बन्धी जानकारी देना अनिवार्य: मुख्य निर्वाचन अधिकारी पंजाब

चुनाव लडऩे वाले उम्मीदवार और संबंधित राजनीतिक पार्टी द्वारा इलाके में प्रचलित अखबारों में एक घोषणा पत्र जारी कर और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया पर व्यापक...

पंजाब विधानसभा चुनाव 2022: आदर्श चुनाव आचार संहिता लागू होने के उपरांत राज्य में 82.62 करोड़ रुपए की संपत्ति ज़ब्त: मुख्य निर्वाचन अधिकारी पंजाब

पंजाब विधानसभा चुनाव के मद्देनजऱ राज्य में आदर्श चुनाव आचार संहिता लागू होने के उपरांत अलग-अलग एनफोर्समेंट टीमों द्वारा राज्य में 26 जनवरी, 2022...

आबकारी विभाग का अवैध शराब कारोबारियों की छापेमारी जारी – 6126 पेटी बरामद

26 जनवरी 2022 को अवकाश होने के बावजूद राज्य कर एवं आबकारी विभाग द्वारा अलग-अलग टीमों का गठन कर प्रदेश के विभिन्न जिलों में...

पंजाब विधानसभा चुनाव 2022: दूसरे दिन दाखि़ल हुए 91 नामांकन

मुख्य निर्वाचन अधिकारी पंजाब द्वारा ‘नो यूअर कैंडीडेट’ मोबाइल ऐप का अधिक से अधिक प्रयोग करने का किया । आग्रहपंजाब के मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सी.ई.ओ.)...