Sunday, October 24, 2021

किसान आंदोलन बढ़ा रहा खट्टर सरकार की मुश्किलें, राह नहीं आसान !

नए कृषि कानूनों के विरोध में सड़क पर उतरे किसान झुकने को तैयार नहीं हैं. किसानों की नाराजगी को देखते हुए बीजेपी की अगुवाई वाले एनडीए की सहयोगी राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी (आरएलपी) और जननायक जनता पार्टी (जेजेपी) की चिंता बढ़ गई है. किसान आंदोलन की रफ्तार और बढ़ती है तो हरियाणा में जेजेपी के सहयोग से चल रही खट्टर सरकार की परेशानी बढ़ सकती है. हरियाणा में एक निर्दलीय विधायक ने तो बीजेपी सरकार से समर्थन भी वापस ले लिया है और जेजेपी ने आंखे तरेरते हुए किसानों की समस्या का जल्द समाधान करने की मांग रख दी है.

किसान आंदोलन को हरियाणा के कांग्रेस नेता हवा देने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे. हरियाणा के पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा और कांग्रेस महासचिव रणदीप सुरजेवाला सहित तमाम नेता किसान आंदोलन के पक्ष में खड़े हैं और केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार से लेकर हरियाणा की खट्टर सरकार तक पर हमला बोल रहे हैं. साथ ही हरियाणा की खाप पंचायत भी किसानों के समर्थन में खड़ी हो गई है, जिसके चलते दुष्यंत चौटाला के साथ-साथ जेजेपी के विधायक और सरकार को समर्थन करने वाले निर्दलीय विधायकों की चिंताएं बढ़ती जा रही हैं.

यह भी पढ़ें :   जहां सरकार ने गाड़ी थी कीलें, वहां किसानों ने लगा दिए पौधे

बीजेपी के लिए मुश्किल यह है कि हरियाणा में खट्टर के नेतृत्व वाली सरकार जेजेपी की बैसाखी पर टिकी है. ऐसे में हरियाणा में खट्टर सरकार के समर्थन कर रहे निर्दलीय विधायक सोमबीर सांगवान ने अपना सहयोग वापस ले लिया. साथ ही उन्होंने पशुधन विकास बोर्ड के चेयरमैन पद से इस्तीफा दिया है. निर्दलीय विधायक के इस्तीफा देने के बाद जेजेपी के लिए दबाव बढ़ता जा रहा है. यही वजह है कि मंगलवार को जेजेपी नेकिसानों की मांग का समर्थन करते हुए नए कानूनों में एमएसपी जारी रखने का लिखित आश्वासन देने की मांग उठाई है.

यह भी पढ़ें :   हरियाणा में 7 जून तक बढ़ा लॉकडाउन, ऑड इवन से खुलेंगी दुकानें
यह भी पढ़ें :   जल्द जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में बनेगी BCCI क्रिकेट अकैडमी

जेजेपी के अध्यक्ष अजय चौटाला ने कहा कि केंद्र सरकार को किसानों की समस्या का जल्द से जल्द हल निकालना चाहिए. किसानों की मांग के अनुरूप कृषि कानूनों में एमएसपी को शामिल करना चाहिए. देश के अन्नदाता सड़कों पर परेशान हो रहे हैं. ऐसे में सरकार को अपना दिल बड़ा करते हुए किसानों की मांगों को स्वीकार करना चाहिए और उन्हें एमएसपी का लिखित में आश्वासन देना चाहिए ताकि उनकी चिंताएं दूर हों.

वहीं, हरियाणा के पूर्व सीएम और कांग्रेस नेता भूपेंद्र सिंह हुड्डा किसानों के मुद्दे पर खट्टर और मोदी सरकार के खिलाफ मोर्चा खोले हुए हैं. उन्होंने कहा कि कृषि कानूनों के खिलाफ हरियाणा के किसान आंदोलन कर रहे हैं और बार-बार सरकार से इन कानूनों को वापस लेने व एमएसपी की गारंटी देने का कानून बनाने की मांग कर रहे हैं. मुख्यमंत्री को बताना चाहिए कि क्या वे इन आंदोलनकारी किसानों को हरियाणा का किसान नहीं मानते? पिपली में सरकार ने क्यों लाठीचार्ज करवाया था? साथ ही हुड्डा ने कहा, ‘मैं यह बात शुरू से कह रहा था कि चुनाव में जेजेपी ने बीजेपी के खिलाफ रहे वोटरों का वोट लिया और बाद में बीजेपी का समर्थन किया.’

यह भी पढ़ें :   कुम्भ नगरी में कोरोना का देखने को मिल रहा भयंकर रूप, हर सवा मिनट में एक संक्रमित!
यह भी पढ़ें :   चंडीगढ़ पंजाब हाईवे जाम कर किसानों ने कृषि कानूनों के खिलाफ जताया रोष

दरअसल, पिछले साल 2019 के हरियाणा विधानसभा चुनाव में कुल 90 सीटों में से बीजेपी 40 सीटें जीती थी, जिसके बाद जेजेपी के 10 और निर्दलीय के पांच विधायकों के साथ मिलकर सरकार बनाई थी. वहीं, कांग्रेस के 31 विधायक हैं और उन्हें चार निर्दलीय विधायकों का समर्थन हासिल हैं. इसके अलावा 1 इनेलो, 1 एचएलपी और दो निर्दलीय विधायक हैं. हालांकि, सरकार के बनने के बाद से जेजेपी के करीब 4 विधायक बागी रुख अपनाए हुए हैं. इस तरह से अब किसान आंदोलन की रफ्तार और तेजी होती है तो जेजेपी के विधायकों में बेचैनी बढ़ना स्वाभाविक है.

Latest news

अफगानिस्तान के मौजूदा हालात को लेकर रूस ने बुलाई अहम बैठक, अमेरिका ने आने से किया इंकार

रूस ने अफगानिस्तान के मौजूदा हालात को लेकर एक अहम बैठक बुलाई है। 20 अक्तूबर को होने वाली 'मास्को फार्मेट' वार्ता में भाग लेने के...

जम्मू-कश्मीर : पर्यटन सीजन में सिलेक्टिव कीलिंग ने रोके घाटी में सैलानियों के कदम 

कश्मीर घाटी में टारगेट किलिंग के इनपुट तीन माह पहले से मिल गए थे, लेकिन खुफिया एजेंसियों की इस सूचना पर पुलिस समेत अन्य...

आर्यन खान के मौलिक अधिकारों की रक्षा की मांग लेकर शिवसेना ने किया कोर्ट का रुख

मुंबई क्रूज ड्रग्स पार्टी में गिरफ्तार आर्यन खान के मौलिक अधिकारों की रक्षा की मांग लेकर शिवसेना ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की...
यह भी पढ़ें :   पति की मौत के बाद टूटी मंदिरा, नम आँखों से दिया पति की अर्थी को कंधा

पंजाब में सत्ता परिवर्तन के साथ छलका सुनील जाखड़ का दर्द…

सुनील जाखड़ का पहले प्रधानगी पद गया और अब वे मुख्यमंत्री बनते-बनते रह गए। ऐसे में उनका दर्द छलक उठा, जिसके परिणामस्वरूप सुनील जाखड़...

Related news

अफगानिस्तान के मौजूदा हालात को लेकर रूस ने बुलाई अहम बैठक, अमेरिका ने आने से किया इंकार

रूस ने अफगानिस्तान के मौजूदा हालात को लेकर एक अहम बैठक बुलाई है। 20 अक्तूबर को होने वाली 'मास्को फार्मेट' वार्ता में भाग लेने के...

जम्मू-कश्मीर : पर्यटन सीजन में सिलेक्टिव कीलिंग ने रोके घाटी में सैलानियों के कदम 

कश्मीर घाटी में टारगेट किलिंग के इनपुट तीन माह पहले से मिल गए थे, लेकिन खुफिया एजेंसियों की इस सूचना पर पुलिस समेत अन्य...

आर्यन खान के मौलिक अधिकारों की रक्षा की मांग लेकर शिवसेना ने किया कोर्ट का रुख

मुंबई क्रूज ड्रग्स पार्टी में गिरफ्तार आर्यन खान के मौलिक अधिकारों की रक्षा की मांग लेकर शिवसेना ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की...

पंजाब में सत्ता परिवर्तन के साथ छलका सुनील जाखड़ का दर्द…

सुनील जाखड़ का पहले प्रधानगी पद गया और अब वे मुख्यमंत्री बनते-बनते रह गए। ऐसे में उनका दर्द छलक उठा, जिसके परिणामस्वरूप सुनील जाखड़...