Tuesday, August 16, 2022

इन 6 प्रमुख मांगों के साथ सरकार के सामने किसान, अंतिम फैसले पर टिकी निगाहें

कृषि कानून को वापस लेने की डिमांड पर किसान अड़े हुए हैं. गुरुवार को केंद्र सरकार और किसानों की बातचीत का एक और दौर जारी है. ऐसे में किसानों की ओर से लिखित में सरकार के सामने अपनी मांगों को रखा गया है, जिनपर वो किसी भी तरह लिखित में गारंटी चाहते हैं. पिछले एक हफ्ते से दिल्ली की सड़कों पर जारी आंदोलन को खत्म करने को लेकर सरकार लगातार किसानों को मनाने में जुटी है.

किसान संगठनों की ये हैं मांगें…

• तीनों कृषि कानूनों को तुरंत वापस लिया जाए.
• किसानों के लिए MSP को कानूनी बनाया जाए.
• MSP को फिक्स करने के लिए स्वामीनाथन फॉर्मूले को लागू किया जाए.
• NCR रीजन में वायु प्रदूषण एक्ट में बदलाव को वापस लिया जाए.
• खेती के लिए डीजल के दामों में 50 फीसदी की कटौती हो.
• देशभर में किसान नेता, कवियों, वकीलों और अन्य एक्टिविस्ट पर जो केस हैं, वो वापस लिए जाएं.

यह भी पढ़ें :   मुख्यमंत्री ने नई दिल्ली में प्रदेश मीडिया केन्द्र का लोकार्पण किया

गौरतलब है कि किसानों और सरकार के बीच अबतक तीन दौर की बात हो चुकी है. एक दिसंबर को आखिरी बार किसान और सरकार एक ही टेबल पर थे, लेकिन चर्चा पूरी नहीं हुई थी. ऐसे में अब किसानों ने अपनी मांगों को लिखित में दिया है और पूरी गारंटी चाहते हैं. किसानों की ओर से कहा गया है कि अगर आज की बैठक में कोई हल नहीं निकलता है, तो किसानों का आंदोलन आक्रामक होगा और उसका अंत क्या होगा, कोई नहीं जानता है.

यह भी पढ़ें :   महाराष्ट्र में बढ़ रहा कोरोना का असर, दिल्ली और केरल को थोड़ी राहत
यह भी पढ़ें :   मुख्यमंत्री ने नई दिल्ली में प्रदेश मीडिया केन्द्र का लोकार्पण किया

किसानों के साथ बातचीत से पहले कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर का कहना है कि आज किसानों से चौथे दौर की चर्चा हो रही है, उन्हें उम्मीद है कि सकारात्मक नतीजा निकलेगा. आज चर्चा में क्या रास्ता निकलता है, वो कुछ देर में साफ हो जाएगा.

किसानों के साथ चर्चा से पहले कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर, पीयूष गोयल ने गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की और किसानों की मांग के बारे में अवगत कराया. माना जा रहा है कि सरकार MSP पर किसानों को कोई ठोस भरोसा दे सकती है. दूसरी ओर आज अमित शाह ने पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर से मुलाकात की, जिसमें किसानों के आंदोलन पर कोई निर्णय हो सकता है.

यह भी पढ़ें :   पंजाब में राज्यपाल द्वारा नये मंत्रियों को विभागों का विभाजन

Latest news

प्रदेश सरकार ने सुनिश्चित किया महिलाओं का सशक्तिकरण: जय राम ठाकुर

प्रदेश सरकार महिला सशक्तिकरण के लिए प्रतिबद्ध है और उनके सामाजिक-आर्थिक उत्थान के लिए कई योजनाएं आरम्भ की गई हैं। रक्षा बन्धन पर्व की...

स्कूल शिक्षा मंत्री हरजोत सिंह बैंस द्वारा सरकारी मिडल स्कूल गोचर का दौरा

मुख्यमंत्री स. भगवंत सिंह मान के नेतृत्व वाली पंजाब सरकार द्वारा राज्य के सरकारी शिक्षा संस्थाओं को बेहतर बनाने के लिए लगातार कार्य किए...

भगवंत मान सरकार राज्य के लोगों को पीने वाला साफ़-सुथरा पानी और साफ़-सफ़ाई की सुविधा देने के लिए प्रतिबद्ध

पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान के नेतृत्व वाली राज्य सरकार लोगों को साफ़-सुथरा पीने वाला पानी और सेनिटेशन की सुविधाएं देने के लिए प्रतिबद्ध...

गरम ख्यालियों द्वारा 15 अगस्त को केसरी झंडे लगाने के आह्वान पर वड़िंग ने पंजाब में शांतिपूर्ण माहौल बिगड़ने को लेकर दी चेतावनी

पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष अमरिंदर सिंह राजा वड़िंग ने कट्टरपंथी नेतृत्व के एक वर्ग द्वारा राज्य में शांतिपूर्ण माहौल बिगाड़े जाने की कोशिश को लेकर...

Related news

यह भी पढ़ें :   ट्यूबवेल कनेक्शन की बाट जोह रहे किसानों ने नहरी पानी को लेकर जारी सर्कुलर को दी चुनौती

प्रदेश सरकार ने सुनिश्चित किया महिलाओं का सशक्तिकरण: जय राम ठाकुर

प्रदेश सरकार महिला सशक्तिकरण के लिए प्रतिबद्ध है और उनके सामाजिक-आर्थिक उत्थान के लिए कई योजनाएं आरम्भ की गई हैं। रक्षा बन्धन पर्व की...

स्कूल शिक्षा मंत्री हरजोत सिंह बैंस द्वारा सरकारी मिडल स्कूल गोचर का दौरा

मुख्यमंत्री स. भगवंत सिंह मान के नेतृत्व वाली पंजाब सरकार द्वारा राज्य के सरकारी शिक्षा संस्थाओं को बेहतर बनाने के लिए लगातार कार्य किए...

भगवंत मान सरकार राज्य के लोगों को पीने वाला साफ़-सुथरा पानी और साफ़-सफ़ाई की सुविधा देने के लिए प्रतिबद्ध

पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान के नेतृत्व वाली राज्य सरकार लोगों को साफ़-सुथरा पीने वाला पानी और सेनिटेशन की सुविधाएं देने के लिए प्रतिबद्ध...

गरम ख्यालियों द्वारा 15 अगस्त को केसरी झंडे लगाने के आह्वान पर वड़िंग ने पंजाब में शांतिपूर्ण माहौल बिगड़ने को लेकर दी चेतावनी

पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष अमरिंदर सिंह राजा वड़िंग ने कट्टरपंथी नेतृत्व के एक वर्ग द्वारा राज्य में शांतिपूर्ण माहौल बिगाड़े जाने की कोशिश को लेकर...