जंतर-मंतर नहीं बुराड़ी के निरंकारी ग्राउंड में किसानों को मिली धरने की परमिशन

कृषि कानूनों के खिलाफ पंजाब से मार्च निकाल रहे किसानों को दिल्ली में प्रवेश की इजाजत मिल गई है. शुक्रवार को बवाल के बाद पुलिस ने किसानों को दिल्ली के बुराड़ी में मौजूद निरंकारी ग्राउंड में प्रदर्शन करने की इजाजत दी गई है. हालांकि, किसान इस दौरान दिल्ली के किसी ओर इलाके में नहीं जा सकेंगे. साथ ही इस दौरान पुलिस किसानों के साथ ही रहेगी.

शुक्रवार को सिंधु बॉर्डर पर किसानों और पुलिस के बीच जमकर बवाल हुआ. किसानों ने पुलिस पर पथराव किया, जिसके बाद पुलिस ने भी वाटर कैनन, आंसू गैस के गोले का इस्तेमाल किया. अभी पुलिस की ओर से किसानों के प्रतिनिधियों से बात की जा रही है और सभी को ग्राउंड तक ले जाने की तैयारी हो रही है. पुलिस की एक टीम ने किसान नेताओं के साथ ग्राउंड तक के रास्ते को कवर किया, ताकि किसान उस रूट को फॉलो कर सकें.

यह भी पढ़ें :   FWICE ने राम गोपाल वर्मा को किया बैन, कलाकारों-टेक्नीशियन के सवा करोड़ रुपये बकाया
यह भी पढ़ें :   पंचायत का फरमान, दिल्ली नहीं पहुंचे तो लगेगा जुर्माना या बहिष्कार

किसान लगातार दिल्ली में घुसने की मांग कर रहे थे और जंतर-मंतर या रामलीला मैदान जाने की अपील कर रहे थे. किसानों का कहना था कि उनके जत्थे में 5 लाख लोग हैं, ऐसे में वो बिना दिल्ली पहुंचे वापस नहीं जाएंगे. किसानों की अपील थी कि वो नियमों का पालन करने के लिए तैयार हैं. यानी अब निरंकारी ग्राउंड में भी मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए किसान प्रदर्शन कर सकेंगे.

हालांकि, कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर का कहना है कि सरकार ने किसानों को तीन दिसंबर को चर्चा के लिए बुलाया है. केंद्रीय मंत्री ने विपक्ष पर किसानों को गुमराह करने का आरोप लगाया. पंजाब सीएम कैप्टन अमरिंदर ने मांग की थी कि केंद्र को तुरंत ही किसानों से बात करनी चाहिए. किसानों द्वारा बॉर्डर पर जारी प्रदर्शन के कारण दिल्ली-हरियाणा के रास्ते में जाम की स्थिति बनी हुई है. इसके अलावा मेट्रो के कई स्टेशनों को बंद किया गया है.

यह भी पढ़ें :   पंचायत का फरमान, दिल्ली नहीं पहुंचे तो लगेगा जुर्माना या बहिष्कार

Latest news

यह भी पढ़ें :   अपनी मांगों पर अड़े किसान नेता, जाम किया गाजीपुर बॉर्डर

हिमाचल में चट्टान किनारे बसे लोगों को पल-पल डरा रहा भूस्खलन

नूरपुर शहर का एक किनारा चट्टानों के साथ बसा हुआ है। चट्टानों के साथ साथ कई मकान व सरकारी दफ्तर सटे हुए हैं। लेकिन...

Coronavirus : वैक्सीन की पहली और दूसरी डोज लगाने के बाद भी संक्रमित हो रहे लोग

वैक्सीन की पहली और दूसरी डोज लगाने के बाद भी लोग कोरोना पाजिटिव हो रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग की ओर से किए गए अध्ययन...

दुनिया की तीन बेहतरीन, सुरक्षित और सबसे खूबसूरत एक्रो पैराग्लाइडिंग साइट में से एक बनने जा रहा बिलासपुर

दुनिया की तीन बेहतरीन, सुरक्षित और सबसे खूबसूरत एक्रो पैराग्लाइडिंग साइट में से एक बिलासपुर जिले की बंदला धार में बनेगी। विश्व में तुर्की...

हिमाचल प्रदेश में मानसून ने किया 502 करोड़ का नुकसान, अभी और तबाही की आशंका

हिमाचल प्रदेश में मानसून सीजन के दौरान जानमाल का भारी नुकसान हुआ है। 502 करोड़ की चल अचल संपत्ति आपदा के चलते ध्वस्त हो...

Related news

यह भी पढ़ें :   किसान आंदोलन को आज 7 महीने पूरे, फिर उग्र हुआ देश भर में प्रदर्शन

हिमाचल में चट्टान किनारे बसे लोगों को पल-पल डरा रहा भूस्खलन

नूरपुर शहर का एक किनारा चट्टानों के साथ बसा हुआ है। चट्टानों के साथ साथ कई मकान व सरकारी दफ्तर सटे हुए हैं। लेकिन...

Coronavirus : वैक्सीन की पहली और दूसरी डोज लगाने के बाद भी संक्रमित हो रहे लोग

वैक्सीन की पहली और दूसरी डोज लगाने के बाद भी लोग कोरोना पाजिटिव हो रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग की ओर से किए गए अध्ययन...

दुनिया की तीन बेहतरीन, सुरक्षित और सबसे खूबसूरत एक्रो पैराग्लाइडिंग साइट में से एक बनने जा रहा बिलासपुर

दुनिया की तीन बेहतरीन, सुरक्षित और सबसे खूबसूरत एक्रो पैराग्लाइडिंग साइट में से एक बिलासपुर जिले की बंदला धार में बनेगी। विश्व में तुर्की...

हिमाचल प्रदेश में मानसून ने किया 502 करोड़ का नुकसान, अभी और तबाही की आशंका

हिमाचल प्रदेश में मानसून सीजन के दौरान जानमाल का भारी नुकसान हुआ है। 502 करोड़ की चल अचल संपत्ति आपदा के चलते ध्वस्त हो...