Thursday, December 9, 2021

हिमाचल में सोलर एनर्जी प्लांट को मिल रहा समर्थन, कम होगी बिजली बिल की मार

पहाड़ी राज्य हिमाचल में अब सूरज बिजली के बिल ठंडे कर रहा है। यहां घर की छत पर सोलर एनर्जी प्लांट लगाने की योजना लोकप्रिय हो रही है, जिससे लोगों की भारी भरकम बिजली बिल चुकाने की चिंता खत्म हो रही है। अधिक विद्युत उत्पादन कर रहे लोगों को राज्य विद्युत बोर्ड भुगतान भी कर रहा है। प्रदेश में ग्रिड कनेक्टिड मीटर व्यवस्था के साथ 2105 सोलर एनर्जी प्लांट लगे हैं। इनमें 225 संस्थागत और अन्य निजी क्षेत्र के हैं। एक प्लांट में रोजाना 32 से 40 यूनिट बिजली उत्पादन होता है। घरेलू खपत के बाद बिजली ग्रिड को चली जाती है। शिमला शहर में ही सरकारी भवनों से 2.5 मेगावाट विद्युत उत्पादन हो रहा है। घर में प्लांट लगाने के लिए राज्य विद्युत बोर्ड का ग्रिड कनेक्टिड मीटर लगा होना जरूरी है, तभी बिजली की सप्लाई हो सकेगी।

यह भी पढ़ें :   3 बड़े संशोधनों पर राजी सरकार, नहीं वापिस लेगी कृषि कानून !

केंद्र सरकार की ओर से 2019 में एक किलोवाट प्लांट लगाने के लिए 53 हजार रुपये उपदान दिया जाता था। 2020 में इसे घटाकर 42 हजार किया गया और बाद में उपदान खत्म कर दिया। अब केवल घरेलू प्लांट पर उपदान दिया जाता है। तीन किलोवाट प्लांट पर 40 फीसद और तीन से 10 किलोवाट पर 20 फीसद उपदान दिया जा रहा है। इससे अधिक की क्षमता के प्लांट पर उपदान नहीं है। राज्य सरकार की ओर से एक किलोवाट पर चार हजार व दो से दस किलोवाट तक चार हजार रुपये देने का प्रविधान है।

यह भी पढ़ें :   INDvsENG : पहले दो टेस्ट के लिए टीम का एलान, इंग्लैंड में दो धुरंधरों की वापसी
यह भी पढ़ें :   बिहार के बेटे ने अमेरिका में कमाया नाम, मिली 2.5 करोड़ रुपये की स्कॉलरशिप

विद्युत बोर्ड 15 नवंबर, 2018 से पहले स्वीकृत मीटर पर उत्पादित विद्युत के लिए 2.50 रुपये प्रति यूनिट व नवंबर, 2018 के बाद उत्पादित विद्युत पर 1.39 रुपये प्रति यूनिट के हिसाब से वित्त वर्ष के अंत में घर के मालिक को खपत और उत्पादन के आधार पर भुगतान करता है। हिम ऊर्जा विभाग ने ऊना जिला की 226 पंचायतों में 423 किलोवाट व मंडी जिला में 223 पंचायतों में 810 किलोवाट ग्रिड कनेक्टिड व्यवस्था की है।

यह भी पढ़ें :   ओलंपिक्स में नीरज चोपड़ा ने हासिल किया गोल्ड, ख़ुशी में जमकर नाचे गृह मंत्री

Latest news

कल लगेगा 580 सालों बाद साल 2021 का अंतिम और सबसे लम्बा चंद्र ग्रहण

साल 2021 का अंतिम चंद्र ग्रहण देश के कई हिस्सों में शुक्रवार यानी 19 नवंबर को देखा जाएगा। भारत समेत दुनिया के कई देशों...

भारतीय सेना देश की हर एक इंच जमीन की रक्षा करने में सक्षम : राजनाथ सिंह

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि भारतीय सेना देश की हर एक इंच जमीन की रक्षा करने में सक्षम है। अगर किसी देश...

मंडी की जोई ठाकुर ने मिस हिमालय 2021 का खिताब किया अपने नाम

मंडी जिला से सबंध रखने वाली जोई ठाकुर ने मिस हिमालय 2021 का खिताब अपने नाम कर हिमाचल और मंडी का नाम रोशन किया...

प्रदूषण का असर : गुरुग्राम, फरीदाबाद, झज्जर व सोनीपत में अगले आदेश तक स्कूल बंद

हरियाणा के चार जिलों गुरुग्राम, फरीदाबाद, झज्जर व सोनीपत में अगले आदेश तक स्कूल बंद रहेंगे। एनसीआर में बढ़ते प्रदूषण से बचाव के लिए...

Related news

यह भी पढ़ें :   ओलंपिक्स में नीरज चोपड़ा ने हासिल किया गोल्ड, ख़ुशी में जमकर नाचे गृह मंत्री

कल लगेगा 580 सालों बाद साल 2021 का अंतिम और सबसे लम्बा चंद्र ग्रहण

साल 2021 का अंतिम चंद्र ग्रहण देश के कई हिस्सों में शुक्रवार यानी 19 नवंबर को देखा जाएगा। भारत समेत दुनिया के कई देशों...

भारतीय सेना देश की हर एक इंच जमीन की रक्षा करने में सक्षम : राजनाथ सिंह

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि भारतीय सेना देश की हर एक इंच जमीन की रक्षा करने में सक्षम है। अगर किसी देश...

मंडी की जोई ठाकुर ने मिस हिमालय 2021 का खिताब किया अपने नाम

मंडी जिला से सबंध रखने वाली जोई ठाकुर ने मिस हिमालय 2021 का खिताब अपने नाम कर हिमाचल और मंडी का नाम रोशन किया...

प्रदूषण का असर : गुरुग्राम, फरीदाबाद, झज्जर व सोनीपत में अगले आदेश तक स्कूल बंद

हरियाणा के चार जिलों गुरुग्राम, फरीदाबाद, झज्जर व सोनीपत में अगले आदेश तक स्कूल बंद रहेंगे। एनसीआर में बढ़ते प्रदूषण से बचाव के लिए...