सासंदों के दुर्व्यवहार के बाद अब उप सभापति हरिवंश रखेंगे 24 घंटे उपवास

सदन में सांसदों द्वारा किए गए दुर्व्यवहार से दुखी राज्यसभा के उपसभापति हरिवंश ने एक दिन के उपवास का फैसला लिया है। इसके लिए उन्होंने सदन के सभापति को तीन पन्नों का पत्र लिखा है जिसमें बताया है कि राज्यसभा में जो भी हुआ उससे वे पीड़ा और तनाव में है जिसके कारण रात भर सो भी नहीं पाए। पत्र में उन्होंने यह भी लिखा, ’22 सितंबर सुबह से कल 23 सितंबर सुबह तक, इस अवसर पर चौबीस घंटे का उपवास मैं कर रहा हूं। काम काज की गति न रुके, इसलिए उपवास के दौरान भी राज्यसभा के कामकाज में नियमित व सामान्य रूप से हिस्सा लूंगा।’ इसके साथ ही राज्यसभा के उपसभापति हरिवंश ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को भी 20 सितंबर की घटना के संबंध में पत्र लिखा है।

यह भी पढ़ें :   MLA परगट सिंह ने कहा कि बताओ कौन है करप्ट नेता अगर उस में मेरा भी नाम है तो दे दो सजा

राज्यसभा के उपसभापति हरिवंश 20 सितंबर को कृषि विधेयकों के पारित होने के दौरान विपक्षी सांसदों द्वारा किए गए अनियंत्रित व्यवहार के खिलाफ 24 घंटों के लिए उपवास रखेंगे। इसकी जानकारी उन्होंने सभापति एम. वेंकैया नायडू को दे दी है। चिट्ठी में उपसभापति हरिवंश ने लिखा कि 20 सितंबर को उच्च सदन की जो तस्वीर थी, उससे सदन, आसन की मर्यादा को अकल्पनीय क्षति पहुंची। लोकतंत्र के नाम पर हिंसक व्यवहार हुआ। आसन पर बैठे व्यक्ति को डराने की कोशिश हुई। नियम पुस्तिका फाड़ी गई।

यह भी पढ़ें :   कांग्रेस कार्यकर्ताओं को एकजुट करने में जुटे वीरभद्र सिंह, मुख्‍यमंत्री पर तंज
यह भी पढ़ें :   अगले महीने होगी बजट सत्र की शुरुआत, कोरोना काल में ऐसे चलेगा संसद

दरअसल, रविवार को सदन में कृषि विधेयक को लेकर विपक्षी सांसदों ने जमकर हंगामा किया और उपसभापति से दुव्यर्वहार भी किया जिसके बाद सोमवार को इन्हें संसद के बचे सत्र से निलंबित कर दिया गया। इसके खिलाफ निलंबित सांसदों ने विरोध प्रकट करते हुए संसद परिसर में ही चादर बिछाकर धरना दिया और सोमवार पूरी रात परिसर में ही रहे।

राज्‍यसभा से निलंबित आठों सांसद रातभर गांधी प्रतिमा के सामने धरने पर बैठे रहे। उन्‍हें सभापति वेंकैया नायडू ने रविवार को सदन में हंगामा करने और उपसभापति से बदसलूकी के लिए सस्‍पेंड किया था। सोमवार दोपहर से धरना दे रहे सांसदों से मिलने मंगलवार सुबह खुद उपसभापति हरिवंश वहां पहुंच गए।

यह भी पढ़ें :   किसानों के हक के लिए ट्रैक्टर चलाकर संसद पहुंचे राहुल गाँधी, पेगासस मामले पर विपक्ष का हंगामा

Latest news

हिमाचल में चट्टान किनारे बसे लोगों को पल-पल डरा रहा भूस्खलन

नूरपुर शहर का एक किनारा चट्टानों के साथ बसा हुआ है। चट्टानों के साथ साथ कई मकान व सरकारी दफ्तर सटे हुए हैं। लेकिन...

Coronavirus : वैक्सीन की पहली और दूसरी डोज लगाने के बाद भी संक्रमित हो रहे लोग

वैक्सीन की पहली और दूसरी डोज लगाने के बाद भी लोग कोरोना पाजिटिव हो रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग की ओर से किए गए अध्ययन...

दुनिया की तीन बेहतरीन, सुरक्षित और सबसे खूबसूरत एक्रो पैराग्लाइडिंग साइट में से एक बनने जा रहा बिलासपुर

दुनिया की तीन बेहतरीन, सुरक्षित और सबसे खूबसूरत एक्रो पैराग्लाइडिंग साइट में से एक बिलासपुर जिले की बंदला धार में बनेगी। विश्व में तुर्की...

हिमाचल प्रदेश में मानसून ने किया 502 करोड़ का नुकसान, अभी और तबाही की आशंका

हिमाचल प्रदेश में मानसून सीजन के दौरान जानमाल का भारी नुकसान हुआ है। 502 करोड़ की चल अचल संपत्ति आपदा के चलते ध्वस्त हो...

Related news

यह भी पढ़ें :   जम्मू कश्मीर में देश का हर नियम कानून होगा मान्य

हिमाचल में चट्टान किनारे बसे लोगों को पल-पल डरा रहा भूस्खलन

नूरपुर शहर का एक किनारा चट्टानों के साथ बसा हुआ है। चट्टानों के साथ साथ कई मकान व सरकारी दफ्तर सटे हुए हैं। लेकिन...

Coronavirus : वैक्सीन की पहली और दूसरी डोज लगाने के बाद भी संक्रमित हो रहे लोग

वैक्सीन की पहली और दूसरी डोज लगाने के बाद भी लोग कोरोना पाजिटिव हो रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग की ओर से किए गए अध्ययन...

दुनिया की तीन बेहतरीन, सुरक्षित और सबसे खूबसूरत एक्रो पैराग्लाइडिंग साइट में से एक बनने जा रहा बिलासपुर

दुनिया की तीन बेहतरीन, सुरक्षित और सबसे खूबसूरत एक्रो पैराग्लाइडिंग साइट में से एक बिलासपुर जिले की बंदला धार में बनेगी। विश्व में तुर्की...

हिमाचल प्रदेश में मानसून ने किया 502 करोड़ का नुकसान, अभी और तबाही की आशंका

हिमाचल प्रदेश में मानसून सीजन के दौरान जानमाल का भारी नुकसान हुआ है। 502 करोड़ की चल अचल संपत्ति आपदा के चलते ध्वस्त हो...