Saturday, October 23, 2021

काबुल एयरपोर्ट से होकर जाने वाले अपने नागरिकों को अमेरिका, ब्रिटेन और ऑस्ट्रेलिया ने चेताया

तालिबान के कब्जे के बाद अफगानिस्तान में हर दिन के साथ अमेरिका सहित तमाम देशों की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। दूसरे देशों के नागरिकों पर खतरा बढ़ता जा रहा है। इसी के मद्देनजर अमेरिका, ब्रिटेन और ऑस्ट्रेलिया ने अपने नागरिकों के लिए अलर्ट जारी किया है। अमेरिका ने एयरपोर्ट पर अपने नागरिकों पर खतरे का अंदेशा जताया है।

अमेरिका ने काबुल में एयरपोर्ट के गेट के बाहर मौजूद अपने नागरिकों को चेताते हुए कहा है कि वे तुरंत ये जगह छोड़ दें। अमेरिका ने कहा है कि यहां खतरे का अंदेशा है। अमेरिकी नागरिकों से निर्देशों का पालन करने को कहा गया है। काबुल में अमेरिकी दूतावास ने कहा कि एबे गेट, पूर्वी गेट या उत्तरी गेट पर जो भी अमेरिकी नागरिक मौजूद हैं, वे तुरंत ये जगह खाली कर दें। दूतावास ने कहा कि काबुल एयरपोर्ट के बाहर मौजूद अमेरिकी नागरिकों को सलाह दी जाती है वे एयरपोर्ट की तरफ यात्रा करने से बचें। जब तक कि आपसे व्यक्तिगत रूप से अमेरिकी सरकार के प्रतिनिधि द्वारा ऐसा करने को न कहा जाए, एयरपोर्ट की तरफ न जाएं।

यह भी पढ़ें :   हिमाचल में कोरोना के 1 साल पूरे, अभी भी खतरा टला नहीं !
यह भी पढ़ें :   काबुल एयरपोर्ट के बाहर सीरियल ब्लास्ट, अब तक गई 13 लोगों की जान

ब्रिटेन की सरकार ने भी काबुल हवाईअड्डे पर आतंकवादी हमला होने की आशंका व्यक्त करते हुए अफगानिस्तान में अपने नागरिकों को हवाईअड्डे से दूर रहने को कहा है। विदेश मंत्रालय ने कहा कि हवाईअड्डा क्षेत्र से लोग  सुरक्षित स्थानों पर चले जाएं और अगले आदेश का इंतजार करें। अफगानिस्तान में ब्रिटेन के कितने नागरिक हैं, इसकी अभी सटीक जानकारी नहीं मिल पाई है। ब्रिटेन की सेना ने हाल में वहां से 11,000 से अधिक लोगों को निकाला है, जिसमें ब्रिटेन के हजारों नागरिक और सात हजार से अधिक अफगान शामिल हैं।

यह भी पढ़ें :   कई राज्यों में मौसम विभाग का अलर्ट, बर्फबारी और ओले गिरने की संभावना

अमेरिका और ब्रिटेन के बाद ऑस्ट्रेलिया ने भी अफगानिस्तान में अपने नागरिकों को काबुल हवाईअड्डे न जाने की सलाह दी है जहां आतंकवादी हमला होने का बहुत गंभीर खतरा है।इसने कहा कि हवाईअड्डा परिसर में मौजूद ऑस्ट्रेलियाई नागरिकों को सुरक्षित स्थान पर जाने और अगले आदेश की प्रतीक्षा करने की सलाह दी जाती है।

Latest news

अफगानिस्तान के मौजूदा हालात को लेकर रूस ने बुलाई अहम बैठक, अमेरिका ने आने से किया इंकार

रूस ने अफगानिस्तान के मौजूदा हालात को लेकर एक अहम बैठक बुलाई है। 20 अक्तूबर को होने वाली 'मास्को फार्मेट' वार्ता में भाग लेने के...

जम्मू-कश्मीर : पर्यटन सीजन में सिलेक्टिव कीलिंग ने रोके घाटी में सैलानियों के कदम 

कश्मीर घाटी में टारगेट किलिंग के इनपुट तीन माह पहले से मिल गए थे, लेकिन खुफिया एजेंसियों की इस सूचना पर पुलिस समेत अन्य...

आर्यन खान के मौलिक अधिकारों की रक्षा की मांग लेकर शिवसेना ने किया कोर्ट का रुख

मुंबई क्रूज ड्रग्स पार्टी में गिरफ्तार आर्यन खान के मौलिक अधिकारों की रक्षा की मांग लेकर शिवसेना ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की...

पंजाब में सत्ता परिवर्तन के साथ छलका सुनील जाखड़ का दर्द…

सुनील जाखड़ का पहले प्रधानगी पद गया और अब वे मुख्यमंत्री बनते-बनते रह गए। ऐसे में उनका दर्द छलक उठा, जिसके परिणामस्वरूप सुनील जाखड़...

Related news

यह भी पढ़ें :   कल से जाम होगा हाईवे, किसान नेताओं के घर के सामने करेंगे किसान प्रदर्शन

अफगानिस्तान के मौजूदा हालात को लेकर रूस ने बुलाई अहम बैठक, अमेरिका ने आने से किया इंकार

रूस ने अफगानिस्तान के मौजूदा हालात को लेकर एक अहम बैठक बुलाई है। 20 अक्तूबर को होने वाली 'मास्को फार्मेट' वार्ता में भाग लेने के...

जम्मू-कश्मीर : पर्यटन सीजन में सिलेक्टिव कीलिंग ने रोके घाटी में सैलानियों के कदम 

कश्मीर घाटी में टारगेट किलिंग के इनपुट तीन माह पहले से मिल गए थे, लेकिन खुफिया एजेंसियों की इस सूचना पर पुलिस समेत अन्य...

आर्यन खान के मौलिक अधिकारों की रक्षा की मांग लेकर शिवसेना ने किया कोर्ट का रुख

मुंबई क्रूज ड्रग्स पार्टी में गिरफ्तार आर्यन खान के मौलिक अधिकारों की रक्षा की मांग लेकर शिवसेना ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की...

पंजाब में सत्ता परिवर्तन के साथ छलका सुनील जाखड़ का दर्द…

सुनील जाखड़ का पहले प्रधानगी पद गया और अब वे मुख्यमंत्री बनते-बनते रह गए। ऐसे में उनका दर्द छलक उठा, जिसके परिणामस्वरूप सुनील जाखड़...