Sunday, November 28, 2021

देश में थोड़ी राहत, कोरोना वायरस के वैरिएंट भी अब धीरे-धीरे होने लगे निष्क्रिय

देश की राजधानी में जहां कोरोना संक्रमण के नए मामले तेजी से कम हुए हैं वहीं, वायरस के वैरिएंट भी अब धीरे धीरे निष्क्रिय होने लगे हैं लेकिन खतरा अभी टला नहीं है। वजह यह कि निष्क्रिय होने के साथ ही वायरस में बदलाव से इनकार नहीं किया जा सकता। दिल्ली में अप्रैल और मई माह में वायरस के तीन वैरिएंट ने मिलकर हाहाकार मचाया था जिनमें से दो दक्षिण अफ्रीका और यूके का वैरिएंट अब कम दिखाई देने लगा है। नए सैंपल की जीनोम सिक्वेसिंग में यह वैरिएंट दिखाई नहीं दे रहा है।

हालांकि, दिल्ली में ही जीनोम सिक्वेसिंग करने वाली लैब होने के बाद भी सैंपल के आंकड़ें बेहद कम हैं। अब तक करीब डेढ़ हजार सैंपल की जीनोम सिक्वेसिंग हो पाई है। वहीं, हैदराबाद स्थित सीसीएमबी लैब में इसी साल जनवरी-फरवरी माह के बाद कोई नया सैंपल नहीं भेजा गया है।

यह भी पढ़ें :   लगभग 8 महीने के बाद खुला रॉक गार्डन

नई दिल्ली स्थित नेशनल सेंटर फॉर डिजीट कंट्रोल (एनसीडीसी) के सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार मई माह तक दिल्ली में यूके और दक्षिण अफ्रीका से आए वैरिएंट के अलावा एल452आर व ई484क्यू से मिलकर बना नया बी.1.617 वैरिएंट ही सबसे तेज फैला था। ज्यादातर मरीजों में बी.1.617 और यूके वैरिएंट बी.1.1.7 ही मिल रहा था जिसकी वजह से जो लोग पहले कभी संक्रमित हुए थे उनमें दोबारा संक्रमण भी दिखाई दिय। इतना ही नहीं इन्हीं दोनों वैरिएंट के वजह से लोगों में कोरोना के खिलाफ बनीं एंटीबॉडी भी 50 फीसदी तक कम हुई थीं। जबकि दक्षिण अफ्रीका से आया बी.1.351 वैरिएंट 10 मई के बाद ही गायब हो गया।

यह भी पढ़ें :   मनिका बत्रा द्वारा TTFI पर लगाए आरोपों के लिए हाईकोर्ट ने बनाई कमेटी
यह भी पढ़ें :   भारतीय टीम की कप्तान मिताली राज ने अपने ही विश्व रिकॉर्ड को किया और मजबूत

एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि वायरस का भविष्य क्या होगा? इसके बारे में कोई नहीं जानता है लेकिन वर्तमान स्थिति यह है कि दिल्ली में बी.1.1.7 यूके वैरिएंट न के बराबर दिखाई दे रहा है। जबकि बी.1.617 वैरिएंट की मौजूदगी अभी भी दिल्ली में है जोकि आगे क्या बदलाव ला सकती है? यह फिलहाल नहीं बताया जा सकता। हालांकि इसके बारे में जानने के लिए जीनोम सिक्वेसिंग बहुत जरूरी है जिसे लेकर राज्य से उतने सैंपल नहीं आ पा रहे हैं। अभी तक डेढ़ हजार सैंपल की सिक्वेसिंग में 612 गंभीर वैरिएंट मिल चुके हैं।

तीन वैरिएंट की ऐसी थी ताकत
1. बी.1.1.7 – यह वैरिएंट दिल्ली में सबसे पहले यूके से लौटे एक यात्री के सैंपल में मिला था जिसकी एयरपोर्ट पर कोरोना संक्रमित रिपोर्ट आई थी। यह मरीज आइसोलेटे हुआ लेकिन फिर भी वैरिएंट बाहर आया और एक मरीज ने औसतन पांच लोगों को संक्रमित किया।
2. बी.1.351 – यह वैरिएंट दक्षिण अफ्रीका से आए यात्री के जरिए आया और यह भी मरीज के आइसोलेट होने के बाद भी शहर में फैला लेकिन यह एक से दो या तीन लोगों में ही फैला, जोकि काफी नजदीक (परिजन) संपर्क वाले थे।
3. बी.1.617-  दिल्ली में पहले से मौजूद दो स्ट्रेन के लिंक होने से यह दिखाई दिया। इसने अब तक के सभी वैरिएंट का रिकॉर्ड तोड़ते हुए दिल्ली को संक्रमित कर दिया। आशंका है कि इसके एक-एक मरीज ने 30-30 लोगों को संक्रमित किया है।

यह भी पढ़ें :   फरमानः कोरोना की चेन को तोड़ने के लिए घर के अंदर भी पहनें मास्क

Latest news

कल लगेगा 580 सालों बाद साल 2021 का अंतिम और सबसे लम्बा चंद्र ग्रहण

साल 2021 का अंतिम चंद्र ग्रहण देश के कई हिस्सों में शुक्रवार यानी 19 नवंबर को देखा जाएगा। भारत समेत दुनिया के कई देशों...

भारतीय सेना देश की हर एक इंच जमीन की रक्षा करने में सक्षम : राजनाथ सिंह

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि भारतीय सेना देश की हर एक इंच जमीन की रक्षा करने में सक्षम है। अगर किसी देश...

मंडी की जोई ठाकुर ने मिस हिमालय 2021 का खिताब किया अपने नाम

मंडी जिला से सबंध रखने वाली जोई ठाकुर ने मिस हिमालय 2021 का खिताब अपने नाम कर हिमाचल और मंडी का नाम रोशन किया...
यह भी पढ़ें :   कोरोना मरीज को गुरुग्राम से लुधियाना तक ले जाने के एंबुलेंस चालक ने वसूले लाखों

प्रदूषण का असर : गुरुग्राम, फरीदाबाद, झज्जर व सोनीपत में अगले आदेश तक स्कूल बंद

हरियाणा के चार जिलों गुरुग्राम, फरीदाबाद, झज्जर व सोनीपत में अगले आदेश तक स्कूल बंद रहेंगे। एनसीआर में बढ़ते प्रदूषण से बचाव के लिए...

Related news

कल लगेगा 580 सालों बाद साल 2021 का अंतिम और सबसे लम्बा चंद्र ग्रहण

साल 2021 का अंतिम चंद्र ग्रहण देश के कई हिस्सों में शुक्रवार यानी 19 नवंबर को देखा जाएगा। भारत समेत दुनिया के कई देशों...

भारतीय सेना देश की हर एक इंच जमीन की रक्षा करने में सक्षम : राजनाथ सिंह

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि भारतीय सेना देश की हर एक इंच जमीन की रक्षा करने में सक्षम है। अगर किसी देश...

मंडी की जोई ठाकुर ने मिस हिमालय 2021 का खिताब किया अपने नाम

मंडी जिला से सबंध रखने वाली जोई ठाकुर ने मिस हिमालय 2021 का खिताब अपने नाम कर हिमाचल और मंडी का नाम रोशन किया...

प्रदूषण का असर : गुरुग्राम, फरीदाबाद, झज्जर व सोनीपत में अगले आदेश तक स्कूल बंद

हरियाणा के चार जिलों गुरुग्राम, फरीदाबाद, झज्जर व सोनीपत में अगले आदेश तक स्कूल बंद रहेंगे। एनसीआर में बढ़ते प्रदूषण से बचाव के लिए...