Friday, October 22, 2021

सिटी ब्यूटीफुल में ठंड ने दी दस्तक, 1 नवंबर से दिखने लगेगा असर

चंडीगढ़ में ठंड ने दस्तक दे दी है लेकिन तापमान में गिरावट 1 नवंबर से देखने को मिलेगी। नवंबर के पहले सप्ताह में तापमान सामान्य से चार डिग्री तक गिर सकता है। फिलहाल बारिश के आसान नहीं होने से मौसम ड्राई रह सकता है। इस बार पिछले साल से 15 दिन ज्यादा ठंड पड़ने के आसार हैं। सीजन में तेज ठंड के चार से पांच दौर रहेंगे। सबसे ज्यादा ठंड जनवरी महीने में रह सकती है। ला नीना का प्रभाव दिसंबर से दिखने लगेगा। एल निनो और ला नीना, एल नीनो-दक्षिणी ऑसीलेशन चक्र के हिस्से होते हैं। प्रशांत महासागर में वर्तमान में तापमान 0.5 डिग्री से भी नीचे है, यह भी कड़ाके की सर्दी का संकेत है। गुरुवार को चंडीगढ़ का अधिकतम तापमान 31.4 और न्यूनतम तापमान 14.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

यह भी पढ़ें :   JKCA घोटाला मामला में फिर पूछताछ के लिए ED ऑफिस बुलाये गए फारूक अबदुल्ला

इंडिया मेट्रोलॉजिकल डिपार्टमेंट चंडीगढ़ के डायरेक्टर सुरेंद्र पाल के मुताबिक नवंबर के पहले हफ्ते से पारा सामान्य से एक से चार डिग्री गिरने का अनुमान है लेकिन फिर भी बारिश नहीं होगी। इस साल ठंड अनयुजुअल नहीं है क्योंकि अभी किसी भी प्रकार की कोई डिस्टर्बेंस या डिवेलपमेंट नजर नहीं आ रही। इस बार पहले की तरह फॉग रहेगा।

यह भी पढ़ें :   अर्णब गोस्वामी को बॉम्बे हाई कोर्ट से झटका, जमानत याचिका खारिज

कड़ाके की ठंड दिसंबर,जनवरी और फरवरी में रहेगी। ठंड के चार से पांच दौर रहेंगे। सबसे ज्यादा ठंड जनवरी महीने में रह सकती है। जहां तक पाला गिरने की बात है तो ये ज्यादातर ड्राई एरियाज में रहता है। चंडीगढ़ में पाला गिरने की स्थिति इस पर निर्भर करती है कि मौसम खुलने के बाद हिमाचल प्रदेश में पहाड़ों की बर्फ पिघलनी शुरू होती है। इससे रात के तापमान में भी काफी कमी आती है।

यह भी पढ़ें :   श्मशान की छत गिरने के मामले में इंजीनियर-ठेकेदार पर लगेगा NSA

प्रशांत महासागर में पानी और हवा के सतही तापमान से ही बारिश, गर्मी और ठंड का पैटर्न तय होता है। ला-नीना प्रभाव से प्रशांत महासागर में दक्षिणी अमेरिका से इंडोनेशिया की तरफ हवाएं चलती हैं, जो सतह के गरम पानी को उड़ाने लगती हैं। इसका असर ये होता है कि सतह पर ठंडा पानी उठने लगता है। इससे सामान्य से ज्यादा ठंडक पूर्वी प्रशांत क्षेत्र के पानी में देखी जाती है। ला नीना प्रभाव के चलते ठंड में हवाएं तेज चलती हैं। इससे भूमध्य रेखा के पास सामान्य से ज़्यादा ठंड हो जाती है। इसी का असर मौसम पर पड़ता है।

यह भी पढ़ें :   IPL पर भी पड़ने लगा कोरोना का साया, वानखेड़े स्टेडियम में अब 3 स्टाफ पॉजिटिव

Latest news

अफगानिस्तान के मौजूदा हालात को लेकर रूस ने बुलाई अहम बैठक, अमेरिका ने आने से किया इंकार

रूस ने अफगानिस्तान के मौजूदा हालात को लेकर एक अहम बैठक बुलाई है। 20 अक्तूबर को होने वाली 'मास्को फार्मेट' वार्ता में भाग लेने के...

जम्मू-कश्मीर : पर्यटन सीजन में सिलेक्टिव कीलिंग ने रोके घाटी में सैलानियों के कदम 

कश्मीर घाटी में टारगेट किलिंग के इनपुट तीन माह पहले से मिल गए थे, लेकिन खुफिया एजेंसियों की इस सूचना पर पुलिस समेत अन्य...

आर्यन खान के मौलिक अधिकारों की रक्षा की मांग लेकर शिवसेना ने किया कोर्ट का रुख

मुंबई क्रूज ड्रग्स पार्टी में गिरफ्तार आर्यन खान के मौलिक अधिकारों की रक्षा की मांग लेकर शिवसेना ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की...

पंजाब में सत्ता परिवर्तन के साथ छलका सुनील जाखड़ का दर्द…

सुनील जाखड़ का पहले प्रधानगी पद गया और अब वे मुख्यमंत्री बनते-बनते रह गए। ऐसे में उनका दर्द छलक उठा, जिसके परिणामस्वरूप सुनील जाखड़...

Related news

यह भी पढ़ें :   तमाम तरह की रियायतों के साथ हरियाणा में 19 जुलाई तक बढ़ा लाकडाउन

अफगानिस्तान के मौजूदा हालात को लेकर रूस ने बुलाई अहम बैठक, अमेरिका ने आने से किया इंकार

रूस ने अफगानिस्तान के मौजूदा हालात को लेकर एक अहम बैठक बुलाई है। 20 अक्तूबर को होने वाली 'मास्को फार्मेट' वार्ता में भाग लेने के...

जम्मू-कश्मीर : पर्यटन सीजन में सिलेक्टिव कीलिंग ने रोके घाटी में सैलानियों के कदम 

कश्मीर घाटी में टारगेट किलिंग के इनपुट तीन माह पहले से मिल गए थे, लेकिन खुफिया एजेंसियों की इस सूचना पर पुलिस समेत अन्य...

आर्यन खान के मौलिक अधिकारों की रक्षा की मांग लेकर शिवसेना ने किया कोर्ट का रुख

मुंबई क्रूज ड्रग्स पार्टी में गिरफ्तार आर्यन खान के मौलिक अधिकारों की रक्षा की मांग लेकर शिवसेना ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की...

पंजाब में सत्ता परिवर्तन के साथ छलका सुनील जाखड़ का दर्द…

सुनील जाखड़ का पहले प्रधानगी पद गया और अब वे मुख्यमंत्री बनते-बनते रह गए। ऐसे में उनका दर्द छलक उठा, जिसके परिणामस्वरूप सुनील जाखड़...