51 साल बाद बिहार में स्पीकर की कुर्सी के लिए चुनाव, बीजेपी के हाथ आया सदन

बिहार विधानसभा में महागठबंधन की जमकर मोर्चेबंदी के बावजूद NDA उम्मीदवार विजय कुमार सिन्हा स्पीकर चुन लिए गए। जदयू ने आखिरी वक्त पर व्हिप जारी कर दिया। इससे तेजस्वी का खेल बिगड़ गया और राज्य में पहली बार स्पीकर की कुर्सी भाजपा को मिल गई।

राज्य में 51 साल यानी 1969 के बाद स्पीकर पद के लिए चुनाव हुआ। चुनाव से पहले जमकर उठापटक भी हुई। पटना से करीब 350 किलोमीटर दूर रांची में चारा घोटाले की सजा काट रहे लालू प्रसाद यादव ने भी भाजपा विधायकों को अपने पक्ष में करने की कोशिश की, लेकिन उनका चारा काम न आया। नए स्पीकर सिन्हा (53) लखीसराय से लगातार तीसरी बार भाजपा विधायक हैं। वे मंत्री भी रह चुके हैं।

भाजपा एक दिन पहले ही विधायकों को हाजिर रहने का व्हिप जारी कर चुकी थी, जबकि जदयू ने व्हिप जारी नहीं करने का फैसला किया था। उसने इसकी घोषणा भी की थी, लेकिन आखिरी वक्त पर उसने सेफ साइड में व्हिप जारी कर दिया। अगर जदयू के विधायक नहीं आते और भाजपा का उम्मीदवार हार जाता, तो यह कहा जाता कि नीतीश ने लोजपा-भाजपा के रिश्तों के विरोध में ऐसा किया। माना जा रहा है कि ऐसे आरोपों से बचने के लिए ही जदयू ने व्हिप जारी करने का फैसला किया।

यह भी पढ़ें :   एन.आर.आईज़. की सुविधा के लिए हर जि़ले में लगाए जाएंगे नोडल अफ़सर: कैबिनेट मंत्री कुलदीप सिंह धालीवाल
यह भी पढ़ें :   देवेंद्र फडणवीस ने की ट्रांसफर-पोस्टिंग रैकेट की सीबीआई जांच कराने की मांग

स्पीकर के चुनाव से पहले विधानसभा में जमकर हंगामा हुआ। विपक्षी विधायक वेल में आ गए और सीएम नीतीश कुमार की मौजूदगी का विरोध करने लगे। दो घंटे तक हंगामा चलता रहा। पूर्व सीएम जीतनराम मांझी को प्रोटेम स्पीकर बनाया गया था। वे वॉइस वोट से स्पीकर का चुनाव कराना चाहते थे, लेकिन विपक्ष राजी नहीं था। विपक्ष इस बात पर भी अड़ा था कि जब सीएम नीतीश कुमार और दो मंत्री अशोक चौधरी और मुकेश सहनी नई विधानसभा के सदस्य नहीं हैं तो उन्हें मतदान प्रक्रिया के दौरान सदन से बाहर किया जाए और सीक्रेट बैलेट से वोटिंग कराई जाए।

यह भी पढ़ें :   एक्ट्रेस दिव्या भटनागर की मौत, टीवी इंडस्ट्री में मातम

विपक्ष के सदस्य वेल में बैठ गए और नारेबाजी करने लगे। जब विपक्ष का बवाल नहीं थमा तो प्रोटेम स्पीकर मांझी ने विधान परिषद के सदस्य नीतीश कुमार और दोनों मंत्रियों चौधरी और सहनी को बाहर जाने को कहा। दोपहर 12 बजे करीब 5 मिनट के लिए सदन स्थगित करा दिया।

इसके बाद सदन जब दोबारा बैठा, तब भी विपक्ष ने सीक्रेट वोटिंग की मांग जारी रखी। प्रोटेम स्पीकर ने सत्तापक्ष और विपक्ष के सदस्यों को बारी-बारी से खड़ा कर वोटों की गिनती कराई। इसके बाद दोपहर करीब पौने एक बजे प्रोटेम स्पीकर ने NDA प्रत्याशी सिन्हा को स्पीकर घोषित कर दिया। सिन्हा के पक्ष में 126 वोट और विरोध में 114 वोट पड़े। हंगामे के बीच नए अध्यक्ष को तेजस्वी यादव और नीतीश कुमार ने आसन पर बैठाया। मांझी ने प्रोटेम स्पीकर होने की वजह से वोट नहीं दिया, जबकि बसपा के दो विधायक गैर-हाजिर रहे।

यह भी पढ़ें :   देवेंद्र फडणवीस ने की ट्रांसफर-पोस्टिंग रैकेट की सीबीआई जांच कराने की मांग
यह भी पढ़ें :   IND vs ENG : टेस्ट चैम्पियनशिप फाइनल के लिए भारत को अब एक जीत या ड्रॉ की जरूरत

इससे पहले विधानसभा में हंगामे की वजह से 5 मिनट के लिए हाउस स्थगित किया गया था। इसी 5 मिनट में तेजस्वी यादव ने वीडियो रिकॉर्ड कर बयान जारी किया। तेजस्वी ने कहा- देश-दुनिया के सामने लोकतंत्र और संविधान की हत्या हो रही है। विधानसभा चुनाव में जनादेश की चोरी और स्पीकर के चुनाव में भी खुलेआम चोरी हो रही है।

तेजस्वी ने कहा कि नीतीश कुमार विधानसभा नहीं, विधान परिषद के सदस्य हैं। दो मंत्री तो विधान परिषद के भी सदस्य नहीं हैं। उनके कई विधायक गैर-हाजिर हैं और नेताओं को फर्जी विधायक बनाकर बैठाया गया है। नियम कहता है कि जो सदन का सदस्य नहीं होता, उसे वोटिंग के लिए दरवाजे बंद होने से पहले बाहर जाना होता है।

Latest news

महान संगीतकार आर डी बर्मन की जयंती चंडीगढ़ में म्यूजिकल शो के साथ मनाई गई

महान संगीतकार आर डी बर्मन की जयंती आज यहां मिनी टैगोर थिएटर, चंडीगढ़ में म्यूजिकल शो के साथ मनाई गई। इस कार्यक्रम का आयोजन...

एसके म्यूजिक वर्क्स ने “छम्मो” नामक एक आइटम गीत का संगीत बम गिराया

बारिश की संगीतमय ध्वनि सभी का मनोरंजन करती है और यह मानसून;  एसके म्यूजिक वर्क्स ने "छम्मो" नामक एक आइटम गीत का संगीत बम...

मुख्यमंत्री की तरफ से भ्रष्टाचार के ख़िलाफ बड़ी कार्यवाही

भ्रष्टाचार को कतई बर्दाश्त न करने की रणनीति के अंतर्गत मुख्यमंत्री भगवंत मान के नेतृत्व वाली पंजाब सरकार ने अपने कार्यकाल के थोड़े समय...
यह भी पढ़ें :   भारत चुनाव आयोग द्वारा अपराधिक पृष्टभूमि संबंधी जानकारी देने वाले फार्म नंबर 26 के बारे जानकारी को और स्पष्ट किया गया

मुख्यमंत्री ने कैनेडा से गतिविधियाँ चला रहे गैंगस्टरों पर नकेल कसने के लिए कैनेडा सरकार से माँगी मदद

पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने कैनेडा की धरती से अपनी गतिविधियाँ चला रहे गैंगस्टरों को पकडऩे के लिए कैनेडा सरकार से सहयोग की...

Related news

महान संगीतकार आर डी बर्मन की जयंती चंडीगढ़ में म्यूजिकल शो के साथ मनाई गई

महान संगीतकार आर डी बर्मन की जयंती आज यहां मिनी टैगोर थिएटर, चंडीगढ़ में म्यूजिकल शो के साथ मनाई गई। इस कार्यक्रम का आयोजन...

एसके म्यूजिक वर्क्स ने “छम्मो” नामक एक आइटम गीत का संगीत बम गिराया

बारिश की संगीतमय ध्वनि सभी का मनोरंजन करती है और यह मानसून;  एसके म्यूजिक वर्क्स ने "छम्मो" नामक एक आइटम गीत का संगीत बम...

मुख्यमंत्री की तरफ से भ्रष्टाचार के ख़िलाफ बड़ी कार्यवाही

भ्रष्टाचार को कतई बर्दाश्त न करने की रणनीति के अंतर्गत मुख्यमंत्री भगवंत मान के नेतृत्व वाली पंजाब सरकार ने अपने कार्यकाल के थोड़े समय...

मुख्यमंत्री ने कैनेडा से गतिविधियाँ चला रहे गैंगस्टरों पर नकेल कसने के लिए कैनेडा सरकार से माँगी मदद

पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने कैनेडा की धरती से अपनी गतिविधियाँ चला रहे गैंगस्टरों को पकडऩे के लिए कैनेडा सरकार से सहयोग की...