Saturday, October 16, 2021

Bihar Election : जीत की रणनीति तैयार करने में जुटी राजनितिक पार्टियां

बिहार चुनाव का बिगुल बज चुका है, लेकिन राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन और महागठबंधन में सीटों का बंटवारा नहीं हो पाया है. सबसे अधिक रस्साकस्सी एनडीए में चल रही है. लोक जनशक्ति पार्टी ने 42 सीटों की डिमांड की है. अगर उनकी डिमांड पूरी नहीं होती है तो वह अलग मैदान में उतर सकते हैं.

सूत्रों की माने तो एलजेपी चाहती है कि उन्हें 2015 की तरह ही 42 सीटों पर चुनाव लड़ने का मौका मिले. उनकी दलील है कि 2014 में उनकी पार्टी ने 7 लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़ा था तो उन्हें एक लोकसभा सीट के अनुपात से 6 विधानसभा सीट मिली थी. 2019 लोकसभा चुनाव में उनकी पार्टी ने 6 लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़ा था और उन्हें एक राज्यसभा सीट मिली थी. इस लिहाज से  एलजेपी को इस चुनाव में भी 42 सीटें मिलनी चाहिए.

यह भी पढ़ें :   बिहार चुनावों को लेकर माहौल गरम

एलजेपी अध्यक्ष चिराग पासवान ने एनडीए गठबंधन को देखते हुए बीजेपी के सामने नया फॉर्मूला रखा है. इसके अनुसार एलजेपी को 33 विधानसभा सीटों के साथ बिहार में राज्यपाल द्वारा मनोनीत होने वाले 12 एमएलसी में से दो एमएलसी मिलने चाहिए और अक्टूबर के अंत में यूपी में होने वाले राज्यसभा चुनाव में एक राज्य सभा सीटें उनकी पार्टी को दे दी जाएं.

यह भी पढ़ें :   10वीं और 12वीं के स्टूडेंट्स के लिए CBSE ने जारी की डेटशीट, स्टूडेंट्स हो जाए तैयार

चिराग पासवान, बीजेपी नेतृत्व को एक और फॉर्मूला सूझा चुके हैं. इसके मुताबिक, अगर उन्हें राज्यसभा की सीट नहीं मिले तो बिहार चुनाव से पूर्व सीटों की घोषणा के साथ-साथ ये भी घोषणा की जाए कि बिहार में एनडीए सरकार बनने पर बीजेपी के साथ-साथ एलजेपी से चिराग पासवान भी उपमुख्यमंत्री बनाए जाएंगे. बीजेपी नेतृत्व ने कल चिराग पासवान से संपर्क किया था और जल्दी ही बिहार विधानसभा चुनाव के लिए एनडीए में सीटों के बंटवारे का भरोसा दिया था. सूत्रों की माने तो आज चिराग पासवान से बिहार बीजेपी के प्रभारी भूपेन्द्र यादव मुलाकात कर सकते हैं. अगर सीटों पर सहमति नहीं बनी तो एलजेपी अगले दो दिनो में अलग चुनाव लड़ने की घोषणा भी कर सकती है.

यह भी पढ़ें :   Facebook Dispute मामले में SC ने दिया एक हफ्ते का वक्त

चिराग पासवान ने नीतीश कुमार और जेडीयू पर सवाल उठाते हुए पीएम नरेंद्र मोदी, गृहमंत्रीअमित शाह को चिट्ठी लिखा है. चिराग ने चिट्ठी में एनडीए गठबंधन में अब तक कोई भी बातचीत शुरू ना होने का मुद्दा उठाया. एलजेपी का मानना है कि बिहार में नीतीश कुमार के खिलाफ एंटीइंकमबेंसी है और नीतीश कुमार के नेतृत्व में अगर चुनाव लड़ा गया तो एनडीए चुनाव हार भी सकता है.

यह भी पढ़ें :   Facebook Dispute मामले में SC ने दिया एक हफ्ते का वक्त

Latest news

पंजाब में सत्ता परिवर्तन के साथ छलका सुनील जाखड़ का दर्द…

सुनील जाखड़ का पहले प्रधानगी पद गया और अब वे मुख्यमंत्री बनते-बनते रह गए। ऐसे में उनका दर्द छलक उठा, जिसके परिणामस्वरूप सुनील जाखड़...

तख्तापलट के बाद भी पंजाब कांग्रेस में कलह बरकरार, सिद्धू और रंधावा के बीच अनबन

कैप्टन अमरिंदर सिंह के तख्तापलट के बाद भी पंजाब कांग्रेस में कलह थम नहीं रही है। अब प्रदेश प्रधान नवजोत सिद्धू और नए डिप्टी...

पंजाब में मुख्यमंत्री के बदलाव के साथ ही नौकरशाही में बदलाव शुरू

पंजाब के नए मुख्‍यमंत्री चरणजीत सिंह चन्‍नी ने नौकरशाही में बदलाव शुरू कर दिए हैं। इसके साथ ही कर्मचारियों को अब सुबह नौ बजे...

पंजाब के नए मुख्‍यमंत्री की पहली कैबिनेट मीटिंग, निचले वर्ग को मिले कई तोहफे

पंजाब के नए मुख्‍यमंत्री चरणजीत सिंह की कैबिनेट की पहली बैठक में कई मुद्दों पर चर्चा हुई। बैठक में कोई बड़ा फैसला तो नहीं...

Related news

यह भी पढ़ें :   बिहार चुनावों को लेकर माहौल गरम

पंजाब में सत्ता परिवर्तन के साथ छलका सुनील जाखड़ का दर्द…

सुनील जाखड़ का पहले प्रधानगी पद गया और अब वे मुख्यमंत्री बनते-बनते रह गए। ऐसे में उनका दर्द छलक उठा, जिसके परिणामस्वरूप सुनील जाखड़...

तख्तापलट के बाद भी पंजाब कांग्रेस में कलह बरकरार, सिद्धू और रंधावा के बीच अनबन

कैप्टन अमरिंदर सिंह के तख्तापलट के बाद भी पंजाब कांग्रेस में कलह थम नहीं रही है। अब प्रदेश प्रधान नवजोत सिद्धू और नए डिप्टी...

पंजाब में मुख्यमंत्री के बदलाव के साथ ही नौकरशाही में बदलाव शुरू

पंजाब के नए मुख्‍यमंत्री चरणजीत सिंह चन्‍नी ने नौकरशाही में बदलाव शुरू कर दिए हैं। इसके साथ ही कर्मचारियों को अब सुबह नौ बजे...

पंजाब के नए मुख्‍यमंत्री की पहली कैबिनेट मीटिंग, निचले वर्ग को मिले कई तोहफे

पंजाब के नए मुख्‍यमंत्री चरणजीत सिंह की कैबिनेट की पहली बैठक में कई मुद्दों पर चर्चा हुई। बैठक में कोई बड़ा फैसला तो नहीं...