Tuesday, July 27, 2021

बिहार विधानसभा चुनाव के नतीजों से पहले कैबिनेट में बड़ा फेरबदल, दो मंत्रियों की छुट्टी

बिहार विधानसभा चुनाव के तीसरे चरण की 78 सीटों पर शनिवार को वोटिंग होगी और नतीजे 10 नवंबर को आएंगे. इस बीच नीतीश सरकार के दो मंत्रियों की कैबिनेट से छुट्टी हो गई है, जिनमें जेडीयू के कार्यकारी अध्यक्ष अशोक चौधरी और नीरज कुमार शामिल हैं. ये दोनों मंत्री विधान परिषद सदस्य थे, जिनका कार्यकाल 6 मई को ही पूरा हो गया था. छह महीने गुजर जाने के बाद दोनों नेता किसी भी सदन के सदस्य नहीं चुने जा सके हैं, जिसके चलते अब उन्हें मंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा.

नीतीश सरकार के भवन निर्माण मंत्री डॉ. अशोक चौधरी और सूचना व जनसंपर्क मंत्री नीरज कुमार 2014 में विधान परिषद सदस्य चुने गए थे. नीरज कुमार स्नातक कोटे से सदस्य थे जबकि अशोक चौधरी विधायक कोटे से चुने गए थे. नीरज कुमार एक बार फिर से पटना क्षेत्र से स्नातक सीट से एनडीए प्रत्याशी के तौर चुनावी मैदान में उतरे हैं, जिसका नतीजा 12 नंवबर को आएगा. वहीं, अशोक चौधरी के एमएलसी मनोनीत होने की संभावना थी, जो आचार संहित लागू हो जाने के चलते नहीं हो सकी. यही वजह है कि अब इन दोनों नेताओं का कार्यकाल खत्म हुए 6 महीने पूरे हो गए हैं, जिसके चलते उन्हें कैबिनेट से हटना पड़ा है.

यह भी पढ़ें :   एनडीए की बैठक में नेता चुने गए नीतीश
यह भी पढ़ें :   बीजेपी अध्यक्ष के काफिले पर बंगाल में हमला, गृह मंत्री ने दिए जांच के आदेश

दरअसल, बिना किसी की सदन के सदस्य रहते हुए मंत्री पद रखने के लिए संविधान की धारा 164 (4) के अनुसार 6 माह में राज्य के किसी सदन विधानसभा या फिर विधान परिषद का सदस्य होना अनिवार्य है. ऐसे में अशोक चौधरी और नीरज कुमार कार्यकाल पूरा होने के बाद छह माह बाद भी किसी सदन के सदस्य चुने नहीं जा सके. बिहार की स्नातक कोटे की सीट पर कोरोना संक्रमण के चलते समय से चुनाव नहीं सके, जिसके चलते नीरज कुमार को कुर्सी छोड़नी.

यह भी पढ़ें :   केरल में मेट्रो मैन के पास होगी बीजेपी की कमान, CM उम्मीदवार के रूप में आये सामने

वहीं, अशोक चौधरी को मनोनीत होना था, लेकिन एनडीए के सहयोगी दलों के बीच सहमति नहीं बन सकी. एमएलसी की 12 मनोनीत सीटों पर का फैसला होता है, उससे पहले चुनाव की घोषणा हो गई. इसकी वजह से अब इन पर चुनाव के बाद ही फैसला होना है. ऐसे में अशोक चौधरी को मंत्री पद छोड़ना पड़ा है. कांग्रेस एमएलसी प्रेमचंद मिश्र ने एक ट्वीट कर दोनों मंत्रियों के कैबिनेट में बने रहने को असंवैधानिक बताया और राज्‍यपाल से दोनों को हटाने की मांग उठायी थी. ऐसे में राज्य सरकार के मंत्रिमंडल समन्वय विभाग ने गुरुवार को नोटिफिकेशन जारी कर साफ कर दिया कि दोनों मंत्री अब कैबिनेट का हिस्सा नहीं हैं.

यह भी पढ़ें :   हिमाचल : मंडी में नदी में गिरी पिकअप, बिहार के सात मजदूरों की मौत

बता दें कि नीतीश सरकार के 31 मंत्रियों में 26 विधानसभा के सदस्य हैं, जिनमें से 24 मंत्री चुनाव लड़ रहे हैं. वहीं, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय एमएलसी हैं जबकि सूचना मंत्री नीरज कुमार मंत्री अशोक चौधरी के एमएलसी का कार्यकाल पूरा हो चुका है. बिहार चुनाव के पहले चरण में आठ और दूसरे चरण में चार मंत्री चुनाव मैदान में थे, जहां वोटिंग हो चुकी है. वहीं, तीसरे चरण में एक दर्जन मंत्री चुनाव लड़ रहे हैं, जिनमें 8 जेडीयू और चार बीजेपी कोटे के मंत्री हैं.

यह भी पढ़ें :   किसानों के लिए नितीश सरकार का अहम फैसला, दिया नए साल का तोहफा

Latest news

बेरोज़गारी के मुद्दे पर भूपेंद्र सिंह हुड्डा और मुख्यमंत्री मनोहर लाल आमने-सामने

हरियाणा में बेरोजगारी के आंकड़ों पर एक बार फिर पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा और मुख्यमंत्री मनोहर लाल आमने-सामने हैं। हुड्डा ने सेंटर फार...

यूपी, पंजाब और उत्तराखंड सहित कई चुनावी राज्यों में शुरू हो सकता है किसान आंदोलन

पिछले करीब 1 साल से दिल्ली की बॉर्डर पर जारी किसान आंदोलन जल्द ही यूपी, पंजाब और उत्तराखंड सहित कई चुनावी राज्यों में भी...

करगिल विजय के 22 साल पर जानिए क्या बोले पूर्व सेना प्रमुख जनरल वीपी मलिक

करगिल युद्ध के समय भारतीय सेना के प्रमुख रहे जनरल वीपी मलिक ने 22 साल पहले लड़े गए इस युद्ध को याद करते हुए...
यह भी पढ़ें :   केरल में मेट्रो मैन के पास होगी बीजेपी की कमान, CM उम्मीदवार के रूप में आये सामने

पोर्न मूवीज मामले में राज कुंद्रा की गिरफ्तारी के बाद हुआ हैरान कर देने वाला खुलासा, जानिए !

पोर्न मूवीज मामले में राज कुंद्रा की गिरफ्तारी के बाद कुछ संदिग्ध जानकारियां सामने आ रही हैं। मुंबई क्राइम ब्रांच का दावा है कि...

Related news

बेरोज़गारी के मुद्दे पर भूपेंद्र सिंह हुड्डा और मुख्यमंत्री मनोहर लाल आमने-सामने

हरियाणा में बेरोजगारी के आंकड़ों पर एक बार फिर पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा और मुख्यमंत्री मनोहर लाल आमने-सामने हैं। हुड्डा ने सेंटर फार...

यूपी, पंजाब और उत्तराखंड सहित कई चुनावी राज्यों में शुरू हो सकता है किसान आंदोलन

पिछले करीब 1 साल से दिल्ली की बॉर्डर पर जारी किसान आंदोलन जल्द ही यूपी, पंजाब और उत्तराखंड सहित कई चुनावी राज्यों में भी...

करगिल विजय के 22 साल पर जानिए क्या बोले पूर्व सेना प्रमुख जनरल वीपी मलिक

करगिल युद्ध के समय भारतीय सेना के प्रमुख रहे जनरल वीपी मलिक ने 22 साल पहले लड़े गए इस युद्ध को याद करते हुए...

पोर्न मूवीज मामले में राज कुंद्रा की गिरफ्तारी के बाद हुआ हैरान कर देने वाला खुलासा, जानिए !

पोर्न मूवीज मामले में राज कुंद्रा की गिरफ्तारी के बाद कुछ संदिग्ध जानकारियां सामने आ रही हैं। मुंबई क्राइम ब्रांच का दावा है कि...