Friday, September 17, 2021

पंजाब सरकार ने माफ़ की किसानों का 61.49 करोड़ रुपये की ब्याज राशि

किसानों की कर्ज माफी को लेकर पंजाब सरकार ने बड़ा फैसला किया है। पंजाब राज्य सहकारी कृषि विकास बैंक (पीएडीबी) के 69000 किसानों का दंडित ब्याज 61.49 करोड़ रुपये सरकार ने माफ कर दिया गया है। कर्जदार किसानों से पीएडीबी द्वारा खरीफ 2020 की वसूली अभियान के दौरान ब्याज की यह राशि वसूली जानी थी।

अब पीएडीबी के जो कर्जदार किसान हैं, उन्हें 31 दिसंबर तक अपनी पूरी कर्ज की राशि जमा करवानी होगी या खातों को बंद करना होगा। राज्य में कुल 89 पीएडीबी के लगभग 69000 डिफॉल्टर कर्जदार हैं, जिन पर लगभग 1950 करोड़ रुपये की डिफॉल्टर राशि बैंक की बकाया है। साथ ही 61.49 करोड़ रुपये की दंडित ब्याज की अतिरिक्त राशि है।

यह भी पढ़ें :   छठे वेतन आयोग को लेकर धरने पर डॉक्टर, मरीज़ों की सुध लेने वाला नहीं कोई
यह भी पढ़ें :   जमीनी विवाद के पीछे फिर पुजारी की हत्या, गोंडा में आधी रात मारी गोली

पंजाब के सहकारिता मंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा ने इस बारे में बात करते हुए बताया कि इनमें से 70 प्रतिशत छोटे और सीमांत किसान हैं, जिनके पास पांच एकड़ या पांच एकड़ से कम जमीन है। इस फैसले से उनको बकाया रकम भरने में राहत मिलेगी। बैंक के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर द्वारा सिफारिश करने के बाद रजिस्ट्रार सहकारी सभाएं, पंजाब द्वारा मंजूरी दे दी गई है। कर्ज माफी स्कीम के अंतर्गत अब तक साढ़े पांच लाख से अधिक किसानों का 4500 करोड़ रुपये के करीब कर्ज माफ किया जा चुका है। पंजाब के किसानों के साथ हमेशा सरकार खड़ी है और आगे भी खड़ी रहेगी।

यह भी पढ़ें :   1 जून से शुरू हो रहे बोर्ड एग्‍जाम, इन नियमों के साथ देनी होगी घर से परीक्षा!

Latest news

पंजाब विधानसभा चुनाव से पहले शिअद और बसपा के बीच 4 सीटों पर हुई अदला-बदली

शिरोमणि अकाली दल और बहुजन समाज पार्टी ने पंजाब विधानसभा 2022 के लिए चार सीटों पर हिस्‍सेदारी में बदलाव किया है। शिअद- बसपा गठबंधन...
यह भी पढ़ें :   कृषि कानूनों से नाराज किसानों पर कैप्टन ने खेला बड़ा दांव

आयकर से जुड़े मामले में कैप्टन अमरिंदर सिंह को हाईकोर्ट से बड़ी राहत

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को आयकर से जुड़े मामले में बड़ी राहत मिली है। पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट ने कैप्‍टन के...

एयर प्यूरीफिकेशन टावर की दुनिया कायल, शुद्ध करेगी चंडीगढ़ की हवा

चंडीगढ़ शहर के ट्रांसपोर्ट चौक पर तैयार किए गए एयर प्यूरीफिकेशन टावर की दुनिया कायल हो गई है। कई शहरों में अब ऐसे ही...

धर्मशाला हिमाचल प्रदेश की दूसरी राजधानी बनेगी या नहीं? महाराष्ट्र सरकार करेगी फैसला !

धर्मशाला हिमाचल प्रदेश की दूसरी राजधानी बनेगी या नहीं, इसका फैसला जयराम सरकार महाराष्ट्र सरकार से मांगी गई जानकारी आने के बाद करेगी। प्रदेश...

Related news

पंजाब विधानसभा चुनाव से पहले शिअद और बसपा के बीच 4 सीटों पर हुई अदला-बदली

शिरोमणि अकाली दल और बहुजन समाज पार्टी ने पंजाब विधानसभा 2022 के लिए चार सीटों पर हिस्‍सेदारी में बदलाव किया है। शिअद- बसपा गठबंधन...
यह भी पढ़ें :   मोटेरा नहीं, अब 'नरेंद्र मोदी स्टेडियम' हुआ दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट मैदान का नाम

आयकर से जुड़े मामले में कैप्टन अमरिंदर सिंह को हाईकोर्ट से बड़ी राहत

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को आयकर से जुड़े मामले में बड़ी राहत मिली है। पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट ने कैप्‍टन के...

एयर प्यूरीफिकेशन टावर की दुनिया कायल, शुद्ध करेगी चंडीगढ़ की हवा

चंडीगढ़ शहर के ट्रांसपोर्ट चौक पर तैयार किए गए एयर प्यूरीफिकेशन टावर की दुनिया कायल हो गई है। कई शहरों में अब ऐसे ही...

धर्मशाला हिमाचल प्रदेश की दूसरी राजधानी बनेगी या नहीं? महाराष्ट्र सरकार करेगी फैसला !

धर्मशाला हिमाचल प्रदेश की दूसरी राजधानी बनेगी या नहीं, इसका फैसला जयराम सरकार महाराष्ट्र सरकार से मांगी गई जानकारी आने के बाद करेगी। प्रदेश...