Friday, September 17, 2021

बेरोज़गारी के मुद्दे पर भूपेंद्र सिंह हुड्डा और मुख्यमंत्री मनोहर लाल आमने-सामने

हरियाणा में बेरोजगारी के आंकड़ों पर एक बार फिर पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा और मुख्यमंत्री मनोहर लाल आमने-सामने हैं। हुड्डा ने सेंटर फार मानीटरिंग इंडियन इकोनामी (सीएमआइर्ई) की रिपोर्ट के आधार पर कहा कि हरियाणा में राष्ट्रीय औसत से तीन गुणा ज्यादा बेरोजगारी है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने सीएमआइई की विश्वसनीयता पर सवाल उठाते हुए उसकी रिपोर्ट को संदिग्ध मानकर खारिज कर दिया है।

हुड्डा ने कहा कि यदि सरकार को इस रिपोर्ट पर भरोसा नहीं है तो वह इसे चुनौती दे, जबकि मनोहर लाल ने कहा कि यह रिपोर्ट नहीं बल्कि झूठ का पुलिंदा है। इस तरह की रिपोर्ट कर्मचारियों के रिटायरमेंट के बाद, छोटी उम्र के बच्चों और बुजुर्ग लोगों को शामिल कर तैयार की जाती है, जिसका कोई आधार नहीं है। पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र हुड्डा ने कहा कि प्रदेश में बेरोजगारी के साथ-साथ अपराध भी बढ़ रहा है।

यह भी पढ़ें :   हरियाणा के पूर्व सीएम भूपेंद्र हुड्डा और उनकी पत्नी कोरोना पॉजिटिव

हुड्डा ने कहा कि सीएमआइई के मुताबिक देश में बेरोजगारी की दर 9.17 फीसद है। हरियाणा में यह दर 27.9 फीसद तक पहुंच गई, जो राष्ट्रीय औसत से तीन गुणा ज्यादा है। वक्त-वक्त पर सीएमआइई जैसी संस्थाएं अपने सर्वे और रिपोर्ट के जरिये प्रदेश सरकार को आइना दिखाती रही हैं, लेकिन भाजपा-जजपा गठबंधन की सरकार इन संस्थाओं पर ही सवालिया निशान लगाकर सच्चाई से मुंह फेर लेती है। हुड्डा ने कहा कि अन्य किसी राज्य ने भी इस रिपोर्ट पर कोई आपत्ति नहीं जताई। अगर हरियाणा सरकार को यह आंकड़े विश्वसनीय नहीं लगते तो उसे इस रिपोर्ट को चुनौती देनी चाहिए।

यह भी पढ़ें :   हरियाणा दिवस पर लागू होगी एंटरप्राइसेज और एम्प्लॉयमेंट पॉलिसी
यह भी पढ़ें :   करनालः बवाल के बीच खट्टर को रद्द करना पड़ा दौरा, किसानों पर लाठीचार्ज

हुड्डा ने कहा कि संस्थाओं पर सवाल उठाकर सरकार अपनी जिम्मेदारी से नहीं मुंह मोड़ सकती। प्रदेश में बेरोजगारी का आलम यह है कि इसी महीने महज 5500 कांस्टेबल की भर्ती के लिए करीब साढ़े आठ लाख युवाओं ने आवेदन किया है। इस साल के आर्थिक सर्वे अनुसार करीब नौ लाख युवाओं ने रजिस्ट्रेशन करवाया था, नौकरी मिली मात्र 2800 युवाओं को ही। जब सरकार ने 18 हजार चतुर्थ श्रेणी पदों के लिए भर्ती निकाली थी तो चतुर्थ श्रेणी की उस भर्ती के लिए भी 18 से 20 लाख उच्च शिक्षित युवाओं ने आवेदन किया था। छह हजार कलर्क के पदों पर भी लगभग 25 लाख युवाओं ने आवेदन किया था। जगाधरी कोर्ट में चपरासी के महज 10 पदों के लिए लगभग सात हजार और पानीपत कोर्ट में चपरासी के 13 पदों की कच्ची भर्ती के लिए लगभग 15 हजार युवाओं ने आवेदन किया है। हुड्डा ने कहा कि बढ़ती बेरोजगारी के लिए सीधे तौर पर सरकार की नीतियां जिम्मेदार हैं।

यह भी पढ़ें :   रेवाड़ी-नारनौल ट्रैक पर पटरी से उतरी मालगाड़ी, 90 में से 50 कंटेनर पलटे

Latest news

पंजाब विधानसभा चुनाव से पहले शिअद और बसपा के बीच 4 सीटों पर हुई अदला-बदली

शिरोमणि अकाली दल और बहुजन समाज पार्टी ने पंजाब विधानसभा 2022 के लिए चार सीटों पर हिस्‍सेदारी में बदलाव किया है। शिअद- बसपा गठबंधन...

आयकर से जुड़े मामले में कैप्टन अमरिंदर सिंह को हाईकोर्ट से बड़ी राहत

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को आयकर से जुड़े मामले में बड़ी राहत मिली है। पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट ने कैप्‍टन के...

एयर प्यूरीफिकेशन टावर की दुनिया कायल, शुद्ध करेगी चंडीगढ़ की हवा

चंडीगढ़ शहर के ट्रांसपोर्ट चौक पर तैयार किए गए एयर प्यूरीफिकेशन टावर की दुनिया कायल हो गई है। कई शहरों में अब ऐसे ही...

धर्मशाला हिमाचल प्रदेश की दूसरी राजधानी बनेगी या नहीं? महाराष्ट्र सरकार करेगी फैसला !

धर्मशाला हिमाचल प्रदेश की दूसरी राजधानी बनेगी या नहीं, इसका फैसला जयराम सरकार महाराष्ट्र सरकार से मांगी गई जानकारी आने के बाद करेगी। प्रदेश...

Related news

यह भी पढ़ें :   हरियाणा सरकार ने किसानों को दी राहत और MBBS स्टूडेंट्स की बढ़ाई फीस

पंजाब विधानसभा चुनाव से पहले शिअद और बसपा के बीच 4 सीटों पर हुई अदला-बदली

शिरोमणि अकाली दल और बहुजन समाज पार्टी ने पंजाब विधानसभा 2022 के लिए चार सीटों पर हिस्‍सेदारी में बदलाव किया है। शिअद- बसपा गठबंधन...

आयकर से जुड़े मामले में कैप्टन अमरिंदर सिंह को हाईकोर्ट से बड़ी राहत

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को आयकर से जुड़े मामले में बड़ी राहत मिली है। पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट ने कैप्‍टन के...

एयर प्यूरीफिकेशन टावर की दुनिया कायल, शुद्ध करेगी चंडीगढ़ की हवा

चंडीगढ़ शहर के ट्रांसपोर्ट चौक पर तैयार किए गए एयर प्यूरीफिकेशन टावर की दुनिया कायल हो गई है। कई शहरों में अब ऐसे ही...

धर्मशाला हिमाचल प्रदेश की दूसरी राजधानी बनेगी या नहीं? महाराष्ट्र सरकार करेगी फैसला !

धर्मशाला हिमाचल प्रदेश की दूसरी राजधानी बनेगी या नहीं, इसका फैसला जयराम सरकार महाराष्ट्र सरकार से मांगी गई जानकारी आने के बाद करेगी। प्रदेश...