Saturday, October 16, 2021

हरियाणा कांग्रेस में गुटबाजी बरकरार, हुड्डा-सैलजा गुट में तकरार

हरियाणा कांग्रेस में संगठन गठन से पहले एक बार फिर नेताओं के बीच आपसी घमासान शुरू हो गया है। पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के समर्थक 19 विधायकों ने वीरवार को दिल्ली स्थित पार्टी मुख्यालय पहुंचकर प्रदेश प्रभारी विवेक बंसल को साफ कह दिया कि मौजूदा राजनीतिक परिस्थितियों में हरियाणा कांग्रेस को मजबूत नेतृत्व की जरूरत है।

विधायकों ने कहा कि मौजूदा प्रदेश अध्यक्षा कुमारी सैलजा को हटाकर पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा को कांग्रेस की कमान सौंपी जाए। इसके लिए विधायकों ने राज्य कांग्रेस के कमजोर संगठन और पूर्व सीएम ओमप्रकाश चौटाला की रिहाई को आधार बनाया है। चौटाला की शुक्रवार को 10 साल की सजा पूरी होने पर रिहाई होगी। कांग्रेस विधायक कह रहे हैं कि किसान संगठनों के आंदोलन और चौटाला की रिहाई के बाद भी यदि कांग्रेस की कमान पूर्व सीएम हुड्डा के पास नहीं रही तो यह स्थिति पार्टी के लिए मुश्किल भरी होगी।

यह भी पढ़ें :   वजीफा घोटाले की जांच पर कैप्टन सरकार को 'आप' ने घेरा, लगाए गंभीर आरोप
यह भी पढ़ें :   यूपी में स्कूलों और कॉलेजों में 20 मई से शुरू होंगी ऑनलाइन क्लासेस

हुड्डा समर्थक इन 19 विधायकों ने प्रदेश प्रभारी विवेक बंसल से यह भी कहा है कि उन्हें अब अपनी बात को लेकर आलाकमान से मिलना है। विधायकों से मिलने के बाद विवेक बंसल ने कहा कि राज्य में शहरी स्थानीय निकाय और पंचायत चुनाव होने हैं। इसलिए विधायक चाहते हैं कि इन चुनावों से पहले राज्य कांग्रेस का ब्लाक, जिला व प्रदेश स्तर पर मजबूत संगठन हो।

उन्होंने माना कि विधायकों ने प्रदेश कांग्रेस अध्यक्षा की कार्यप्रणाली को लेकर कुछ सवाल उठाए हैं मगर इन पर बैठकर बातचीत हो जाएगी। वे अब प्रदेश कांग्रेसाध्यक्ष द्वारा तैयार संगठन की टीम की सूची पर एक बार विधायकों से चर्चा करेंगे। बता दें, इस सूची पर कांग्रेस के राष्ट्रीय संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल से भी कुमारी सैलजा अंतिम रूप से चर्चा कर चुकी हैं। इसके बाद हुड्डा समर्थक विधायकों के कड़े रुख से खुद बंसल भी हैरान थे। हुड्डा समर्थकों की राजनीतिक रणनीति से दूर प्रदेश कांग्रेसाध्यक्ष कुमारी सैलजा बृहस्पतिवार को कुरुक्षेत्र अपने एक कार्यक्रम के बाद चंडीगढ़ पहुंच गई हैं।

यह भी पढ़ें :   टीम इंडिया को हराने के लिए बल्लेबाजी मजबूत करने की तैयारी में इंग्लैंड

Latest news

पंजाब में सत्ता परिवर्तन के साथ छलका सुनील जाखड़ का दर्द…

सुनील जाखड़ का पहले प्रधानगी पद गया और अब वे मुख्यमंत्री बनते-बनते रह गए। ऐसे में उनका दर्द छलक उठा, जिसके परिणामस्वरूप सुनील जाखड़...

तख्तापलट के बाद भी पंजाब कांग्रेस में कलह बरकरार, सिद्धू और रंधावा के बीच अनबन

कैप्टन अमरिंदर सिंह के तख्तापलट के बाद भी पंजाब कांग्रेस में कलह थम नहीं रही है। अब प्रदेश प्रधान नवजोत सिद्धू और नए डिप्टी...

पंजाब में मुख्यमंत्री के बदलाव के साथ ही नौकरशाही में बदलाव शुरू

पंजाब के नए मुख्‍यमंत्री चरणजीत सिंह चन्‍नी ने नौकरशाही में बदलाव शुरू कर दिए हैं। इसके साथ ही कर्मचारियों को अब सुबह नौ बजे...

पंजाब के नए मुख्‍यमंत्री की पहली कैबिनेट मीटिंग, निचले वर्ग को मिले कई तोहफे

पंजाब के नए मुख्‍यमंत्री चरणजीत सिंह की कैबिनेट की पहली बैठक में कई मुद्दों पर चर्चा हुई। बैठक में कोई बड़ा फैसला तो नहीं...

Related news

यह भी पढ़ें :   टीम इंडिया को हराने के लिए बल्लेबाजी मजबूत करने की तैयारी में इंग्लैंड

पंजाब में सत्ता परिवर्तन के साथ छलका सुनील जाखड़ का दर्द…

सुनील जाखड़ का पहले प्रधानगी पद गया और अब वे मुख्यमंत्री बनते-बनते रह गए। ऐसे में उनका दर्द छलक उठा, जिसके परिणामस्वरूप सुनील जाखड़...

तख्तापलट के बाद भी पंजाब कांग्रेस में कलह बरकरार, सिद्धू और रंधावा के बीच अनबन

कैप्टन अमरिंदर सिंह के तख्तापलट के बाद भी पंजाब कांग्रेस में कलह थम नहीं रही है। अब प्रदेश प्रधान नवजोत सिद्धू और नए डिप्टी...

पंजाब में मुख्यमंत्री के बदलाव के साथ ही नौकरशाही में बदलाव शुरू

पंजाब के नए मुख्‍यमंत्री चरणजीत सिंह चन्‍नी ने नौकरशाही में बदलाव शुरू कर दिए हैं। इसके साथ ही कर्मचारियों को अब सुबह नौ बजे...

पंजाब के नए मुख्‍यमंत्री की पहली कैबिनेट मीटिंग, निचले वर्ग को मिले कई तोहफे

पंजाब के नए मुख्‍यमंत्री चरणजीत सिंह की कैबिनेट की पहली बैठक में कई मुद्दों पर चर्चा हुई। बैठक में कोई बड़ा फैसला तो नहीं...