Monday, November 28, 2022

मनिका बत्रा द्वारा TTFI पर लगाए आरोपों के लिए हाईकोर्ट ने बनाई कमेटी

टेबल टेनिस खिलाड़ी मनिका बत्रा द्वारा लगाए गए मैच-फिक्सिंग के आरोपों को गंभीरता से लेते हुए दिल्ली हाई कोर्ट ने मामले की जांच के लिए तीन सदस्यीय कमेटी का गठन कर चार सप्ताह के अंदर अंतरिम रिपोर्ट पेश करने का निर्देश दिया है। न्यायमूर्ति रेखा पल्ली की पीठ ने कहा कि कमेटी की रिपोर्ट के आधार पर राष्ट्रीय खेल निकाय को चलाने के लिए प्रशासक नियुक्त करने पर अदालत विचार करेगी।

मनिका बत्रा ने याचिका दायर कर आरोप लगाया है कि टेबल टेनिस फेडरेशन आफ इंडिया (टीटीएफआइ) अपनी चयन प्रक्रियाओं को गैर-पारदर्शी तरीके से चला रहा है और अपने जैसे कुछ लोगों को फायदा पहुंचा रहा है। पीठ ने कहा कि समिति में दो न्यायाधीश और एक खिलाड़ी शामिल होंगे।

यह भी पढ़ें :   TRP फर्जीवाड़े में रिपब्लिक भारत के नाम पर आया नया मोड़ !

इससे पहले अदालत ने खेल मंत्रालय को जांच का निर्देश दिया था। पीठ ने कहा कि केंद्र ने खेल निकाय के कुछ पहलुओं पर टिप्पणी तो की है, लेकिन वह अपनी जांच में बत्रा की शिकायत पर विचार करने में विफल रही है। पीठ ने स्पष्ट किया कि फिलहाल बत्रा के खिलाफ सभी कार्रवाई वापस लेने के बारे में अंतर्राष्ट्रीय टेबल टेनिस महासंघ (आइटीटीएफ) को सूचित करने के अलावा टीटीएफआइ बत्रा के संबंध में आइटीटीएफ को कुछ नहीं लिखेगा। अगर आइटीटीएफ को किसी जानकारी की जरूरत है तो टीटीएफआइ उसके अनुरोध को तीन सदस्यीय समिति को स्थानांतरित करेगा।

यह भी पढ़ें :   1 जून से शुरू हो रहे बोर्ड एग्‍जाम, इन नियमों के साथ देनी होगी घर से परीक्षा!

एशियाई टेबल टेनिस चैंपियनशिप से बाहर की गई बत्रा ने आरोप लगाया है कि राष्ट्रीय कोच सौम्यदीप राय ने उन पर अपने एक प्रशिक्षु के पक्ष में एक ओलंपिक क्वालीफायर मैच छोड़ने का दबाव बनाया था। वहीं, टीटीएफआइ की तरफ से पेश हुए वरिष्ठ अधिवक्ता संदीप सेठी ने सूचित किया कि खेल निकाय के कार्यकारी बोर्ड ने पैडलर के खिलाफ कारण बताओ और सभी परिणामी कार्रवाइयों को वापस लेने का फैसला किया है।

यह भी पढ़ें :   भारत के साथ सीमा पर तनाव के बीच चीनी राष्ट्रपति ने कही युद्ध की बात

वहीं, बत्रा की तरफ से पेश हुए वरिष्ठ अधिवक्ता सचिन दत्ता ने टीटीएफआइ के कामकाज को संभालने के लिए एक प्रशासक नियुक्त करने का अनुरोध किया। हालांकि, पीठ ने हाल में शुरू हो रही विश्व चैम्पियनशिप को ध्यान में रखते महासंघ को चलाने के लिए एक प्रशासक नियुक्त करने के अनुरोध को ठुकरा दिया। हालांकि, कहा इस पर कमेटी की रिपोर्ट के बाद विचार किया जाएगा।

अतिरिक्त सालिसिटर जनरल चेतन शर्मा ने भी अदालत के रुख पर सहमति जताते हुए कहा कि यह एक सड़ांध है जिसे रोकने की जरूरत है। 15 नवंबर को पीठ ने कहा था कि अदालत नहीं चाहती कि किसी खिलाड़ी को बेवजह परेशान किया जाए। साथ ही टीटीएफआइ को बत्रा को क्लीन चिट देने को कहा था। अदालत ने 23 सितंबर को अदालत द्वारा अंतरिम रोक लगाने के बाद बत्रा के संबंध में आइटीटीएफ को पत्राचार भेजने के लिए टीटीएफआइ की खिंचाई भी की थी। अदालत ने 23 सितंबर को अंतरराष्ट्रीय आयोजनों के लिए खिलाड़ियों के चयन के लिए एक राष्ट्रीय शिविर में भाग लेना अनिवार्य करने के नियम पर अंतरिम रोक लगा दी थी।

यह भी पढ़ें :   देवेंद्र बबली और किसानों के बीच चल रहा विवाद आखिरकार सात दिन के बाद निपटा

Latest news

बच्चों व महिलाओं के सर्वांगीण विकास के लिए नहीं छोड़ी जाएगी कोई कमी: डा. बलजीत कौर

सामाजिक सुरक्षा और महिला व बाल विकास मंत्री पंजाब डा. बलजीत कौर ने कहा कि विभाग की ओर से बच्चों व महिलाओं के सर्वांगीण...

मुख्यमंत्री द्वारा राज्य में गन कल्चर पर सख़्ती से नकेल कसने के निर्देश

गन कल्चर पर रोक लगाने और राज्य में कानून-व्यवस्था की स्थिति को कायम रखने के उद्देश्य से मुख्यमंत्री भगवंत मान के नेतृत्व वाली पंजाब...

जी-20 नेताओं के शिखर सम्मेलन के लिए बाली की यात्रा से पहले प्रधानमंत्री का प्रस्थान वक्तव्य

इंडोनेशिया की अध्यक्षता में होने वाले 17वें जी20 नेताओं के शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिए मैं 14-16 नवंबर 2022 को बाली, इंडोनेशिया...
यह भी पढ़ें :   बारामूला में CRPF टीम पर ग्रेनेड अटैक, दो जवान और एक नागरिक घायल

ईंटों के भठ्ठों के लिए ईंधन के रूप में पराली को 20 प्रतिशत इस्तेमाल करने को किया अनिवार्य

धान की पराली के प्रबंधन में निरंतर प्रयास कर रही राज्य सरकार द्वारा इस दिशा में अहम कदम उठाते हुए राज्य भर में ईंटों...

Related news

बच्चों व महिलाओं के सर्वांगीण विकास के लिए नहीं छोड़ी जाएगी कोई कमी: डा. बलजीत कौर

सामाजिक सुरक्षा और महिला व बाल विकास मंत्री पंजाब डा. बलजीत कौर ने कहा कि विभाग की ओर से बच्चों व महिलाओं के सर्वांगीण...

मुख्यमंत्री द्वारा राज्य में गन कल्चर पर सख़्ती से नकेल कसने के निर्देश

गन कल्चर पर रोक लगाने और राज्य में कानून-व्यवस्था की स्थिति को कायम रखने के उद्देश्य से मुख्यमंत्री भगवंत मान के नेतृत्व वाली पंजाब...

जी-20 नेताओं के शिखर सम्मेलन के लिए बाली की यात्रा से पहले प्रधानमंत्री का प्रस्थान वक्तव्य

इंडोनेशिया की अध्यक्षता में होने वाले 17वें जी20 नेताओं के शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिए मैं 14-16 नवंबर 2022 को बाली, इंडोनेशिया...

ईंटों के भठ्ठों के लिए ईंधन के रूप में पराली को 20 प्रतिशत इस्तेमाल करने को किया अनिवार्य

धान की पराली के प्रबंधन में निरंतर प्रयास कर रही राज्य सरकार द्वारा इस दिशा में अहम कदम उठाते हुए राज्य भर में ईंटों...